Homeहरियाणायमुनानगरडिप्टी सीएमओ पर थप्पड़ मारने का लगा आरोप, हंगामा

डिप्टी सीएमओ पर थप्पड़ मारने का लगा आरोप, हंगामा

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
सिविल अस्पताल में अधिकारी और कर्मचारी के बीच विवाद इतना बढ़ा कि एनएचएम कर्मचारी काम छोड सीएमओ दफ्तर के बाहर बैठ गए, अस्पताल के कर्मचारी ने डिप्टी सीएमओ पर थप्पड मारने और गालीगलौच के गंभीर आरोप लगाए। हंगामा होता देख मौके पर पुलिस पहुंची। सिविल सर्जन डा मंजीत ने आकर यूनियन से बातचीत की और डाक्टर ने अपनी गलती का एहसास किया। उसके बाद मामला शांत हो गया। कर्मचारी काफी देर तक नारेबाजी करते रहे।

नौकरी से निकालने की दी धमकी

सिविल सर्जन के कार्यालय के बाहर सभी कर्मचारी एकत्रित हुए और जमकर डिप्टी सीएमओ के खीलाफ नारे बाज़ी की। मामले की जानकारी देते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवम प्रदेश संगठन मंत्री विजय कंबोज व सूरजभान ने बताया कि डिप्टी सीएमओ के कार्यालय में आरबीएसके में काउन्सलर के पद पर कार्यरत कर्मचारी संदीप को डिप्टी सीएमओ ने अपने ऑफिस में बुलाया और उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। उस पर हाथ उठाया और किसी को बताने पर नौकरी से निकालने की धमकी दी। कर्मचारी ने डर के कारण किसी को कुछ नही बताया किंतु जब यह निरंतर होता रहा तो कर्मचारी संजय ने यह बात साथी कर्मचारियों को बताई और मामला तब संगठन के संज्ञान में आया। विजय कंबोज ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मचारी संघ हरियाणा संबंधित भारतीय मज़दूर संघ इस व्यवाहर को कभी बर्दास्त नही कर सकता और आज सभी कर्मचारी सीएमओ के कार्यालय के बाहर एकत्रित हो गये और जम कर नारे बाज़ी की और रोष व्यक्त किया।

तब सिविल सर्जन डॉ मंजीत सिंह ने कर्मचारियो को बुलाया और डिप्टी सीएमओ ने कर्मचारीयों के सामने कर्मचारी से किए व्यवहार के लिए क्षमा माँगी। कर्मचारी संजय ने बताया कि वह इस बात से काफ़ी मानसिक तनाव महसूस कर रहा था। विजय कम्बोज ने पुन: कहा कि किसी भी अधिकारी को अभद्र व्यवहार करने का अधिकार नही है तथा कर्मचारियों और अधिकारियों का कर्तव्य है कि वह जनता की सेवा में इंसानियत के सर्व प्रथम रखते हुए कार्य करें।

माफी नहीं मांगी तो नारेबाजी –

जब तक डिप्टी सीएमओ ने माफी नहीं मांगी तब तक कर्मचारी धरने से नहीं हटे और जमकर नारेबाजी करते रहे। सीएमओ मनजीत सिंह ने डिप्टी सीएमओ को पहले तो खरी खोटी सुनाई और फिर गलती का एहसास होने पर कर्मचारियों के बीच जाने की सलाह दी। पीडि़त कर्मचारी ने डिप्टी सीएमओ पर पहले भी प्रताडि़त करने के आरोप लगाए और घटनाक्रम के बारे में भी बताया। हांलाकि मामला तो शांत हो गया है लेकिन कर्मचारी और डिप्टी सीएमओ के बीच विवाद ने कर्मचारी और अधिकारियों के बीच खाई पैदा कर दी।

ये भी पढ़ें : कुपोषण मुक्त भारत के सपने को साकार करने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह अभियान को बनाएं जन आंदोलन

ये भी पढ़ें : पुलिस अधीक्षक ने दिया आमजन के लिए संदेश

ये भी पढ़ें : यूडी लैंड पर एफ आई आर दर्ज करवाने की आड़ में डीटीपी विभाग अपने भ्रष्ट अधिकारियों और अंसल मालिकों को बचाने मैं लगा –स्वामी

ये भी पढ़ें : मुख्यमंत्री राहत कोष से अब ऑनलाइन मिल सकेगी मदद : डीसी राहुल हुड्डा

 Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular