Homeराज्यहरियाणायमुनानगर: महापुरुषों के नाम से बनेंगे स्वागत द्वार

यमुनानगर: महापुरुषों के नाम से बनेंगे स्वागत द्वार

प्रभजीत सिंह (लक्की), यमुनानगर:
नगर निगम की सीमाओं पर स्वागत द्वार बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सबसे पहले सहारनपुर रोड पर पांसरा के नजदीक स्वागत द्वार बनाया जाएगा। लगभग 49 लाख रुपये की लागत से बनने वाले इस स्वागत द्वार का मंगलवार को विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, मेयर मदन चौहान व ओबीसी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री कर्णदेव कांबोज ने उद्घाटन किया।  करीब छह माह के भीतर यह स्वागत द्वार बनकर तैयार हो जाएगा। स्वागत द्वार बनाने के लिए नगर निगम ने पीडब्ल्यूडी से एनओसी ले ली है। करीब सौ फुट चौड़ाई में बनने वाले स्वागत द्वार बनाने के लिए टू लेन सड़क को फॉर लेन किया जाएगा।

विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने कहा कि नगर निगम की सीमाओं पर महापुरुषों के नाम से चार स्वागत द्वार बनाए जाने है। इसमें सहारनपुर रोड पर पांसरा, सहारनपुर कुरुक्षेत्र रोड पर दामला, अंबाला रोड पर कैल व जगाधरी पावंटा रोड पर मानकपुर के नजदीक स्वागत द्वार बनाए जाने है। नगर निगम मेयर मदन चौहान का महापुरुषों के नाम से स्वागत द्वार बनाने का फैसला एतिहासिक है। महापुरुषों के नाम से स्वागत द्वार बनने से यमुनानगर की अलग पहचान होगी। मेयर मदन चौहान ने बताया कि सहारनपुर रोड पर पांसरा व कुरुक्षेत्र रोड पर दामला के पास बनाए जाने वाले स्वागत द्वार करीब 99.84 लाख रुपये की लागत से तैयार किए जाएंगें।

स्वागत द्वार लगभग सौ फुट चौड़े होंगे। दो तरफ पिलर होंगे। जिनमें पैदल निकलने के लिए अलग से साढ़े तीन फुट चौड़ा स्पेस होगा। गेट की सेंटर लाइन पिलर रोड के बीच में कनेक्ट करेगा। जिससे आने और जाने वाला ट्रैफिक डिवाइड होगा। द्वार के आगे व पीछे रोड का 300 फुट टुकड़ा 100 फुट चौड़ा करने के साथ द्वार की सेंटर लाइन पिलर से रोड के बीच डिवाइडर बनाया है। द्वार के हेडर यानि सबसे ऊपर अंग्रेजी में वेल्कम टू म्यूनिसिपल कॉर्पोशन यमुनानगर-जगाधरी लिखा जाना है। द्वार पर रिफ्लेक्टर भी लगे होंगे व रात के समय लाइटिंग भी होगी। गेट के बीच में नगर निगम का स्लोगन ?बनाया जाएगा। साथ ही नगर निगम की योजनाओं व सफाई के प्रति जागरूकता संदेश लिखें होंगे। पूर्व मंत्री कर्णदेव कांबोज ने कहा कि सरकार की ओर से करोड़ों रुपये के विकास कार्य करवाए जा रहे है।

तीन के हो चुके हैं टेंडर
बता दें कि नगर निगम हाउस मीटिंग में निगम की चारों सीमाओं की एंट्री पर महापुरुषों के नाम से स्वागत द्वार बनाने का प्रस्ताव पास हुआ था। ये द्वार महर्षि वाल्मीकि, संत गुरु रविदास, यमुना मईया व गुरु गोबिंद सिंह के नाम पर होंगे। तीन नवंबर की हाउस मीटिंग में चारों स्वागत द्वारों के लिए तय अनुमानित खर्च को हाउस ने अनुमोदित किया। तब 26 नवंबर को स्टेट हाईवे कुरुक्षेत्र-सहारनपुर पर दामला व पांसरा में 99.84 लाख खर्च पर एंट्री गेट के टेंडर लगे। इसके बाद तीसरे स्वागत द्वार के लिए 11 जनवरी को अंबाला रोड पर कैल में 40.41 लाख रुपये का टेंडर कॉल हुआ। जगाधरी पावंटा नेशनल हाईवे 73ए पर मानकपुर के पास बनाए जाने वाले स्वागत द्वार का टेंडर अभी होना बाकी है।

फोरलेन की जाएगी सड़कें
नगर निगम की सीमाओं पर स्वागत द्वारों के लिए तय चारों साइट पर रोड टू लेन हैं। स्वागत द्वार बनाने के लिए नगर निगम ने पीडब्ल्यूडी से एनओसी भी ले ली है। टू लेन को फॉर लेन करने के बाद स्वागत द्वार बनाए जाएंगे। इसलिए स्वागत द्वार बनाने से पहले नगर निगम इनके लिए तय चारों साइट पर गेट की जगह सड़क का हिस्सा लगभग सौ फुट चौड़ा किया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular