Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : अन्नदाताओ पर लाठीचार्ज दुर्भाग्यपूर्ण, फिर आया सामने सरकार का क्रूर...

यमुनानगर : अन्नदाताओ पर लाठीचार्ज दुर्भाग्यपूर्ण, फिर आया सामने सरकार का क्रूर चेहरा : सुढैल

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
इनैलो के प्रदेश प्रवक्ता अर्जुन सुढैल ने करनाल के बसताड़ा टोल पर किसानों पर किए लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं, जो हमारा पेट भरने का काम करते है। उन पर लाठीचार्ज करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है किसान शांतिपूर्वक ढंग से अपनी मांगों को लेकर टोल पर प्रदर्शन कर रहे थे। ऐसे में उन पर भाजपा की सरकार द्वारा लाठीचार्ज करना बेहद निंदनीय और कायरता पूर्ण भरा कार्य है। सत्ता के नशे में चूर बीजेपी जेजेपी सरकार को इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा। अर्जुन सुढैल ने कहा कि किसान परिवार और हरियाणा की जनता बीजेपी गठबंधन सरकार के इस कुकृत्य को कभी भूलेगी नही। इनेलो प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि इस प्रकार का लाठीचार्ज तो बेहद विकट परिस्थितियों में भी नही किया जाता।

जबकि शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वाले निर्दोष किसानों के सीधे सिर पर लाठियां मारना, उनको बुरी तरह से जख्मी करना, हाथ पैर तोड़ना सरकार के तानाशाही रवैये को प्रदर्शित कर रहा हैं। आज एक बार फिर बीजेपी जेजेपी सरकार ने पुलिस व किसानों को आमने सामने करवाकर बेटे के हाथ से बाप दादाओं को पिटवाने का काम करके काम किया। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यो से सरकार का किसान विरोधी चेहरा बार बार उजागर हो रहा हैं। अगर सरकार हकीकत में किसानों के लिए कुछ करना चाहती और इस आंदोलन को खत्म करना चाहती तो इस मुद्दे को लाठीचार्ज से नहीं, बल्कि वार्ता से हल किया जा सकता था, लेकिन सरकार किसानों के आंदोलन को तानाशाही रवैया से दबाना चाहती है। किसानों कृषि कानूनों को रद्द कराने की जो मांग है, वह बिल्कुल जायज है। उन्होंने कहा कि तीनो कृषि कानून रद्द होने चाहिए, ताकि किसान व किसानी को बचाया जा सके।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular