Homeराज्यहरियाणायमुनानगर:  निगमायुक्त ने किया नालों व डिचड्रेन का निरीक्षण

यमुनानगर:  निगमायुक्त ने किया नालों व डिचड्रेन का निरीक्षण

प्रभजीत सिंह (लक्की), यमुनानगर: 
बारिश से शहर में जलभराव की स्थिति उत्पन्न न हो इसको लेकर नगर निगम आयुक्त अजय सिंह तोमर ने रविवार को सीएसआई हरजीत सिंह व अन्य सेनेटरी इंस्पेक्टरों के साथ टिवनसिटी के नालों व डिचड्रेन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने नालों व डिचड्रेन की गहनता से जांच कर वास्तविक स्थिति देखी। अधिकतर नालों में सफाई का काम पूरा मिला व नाला टीमें सफाई करती नजर आई। आयुक्त तोमर ने सभी सेनेटरी इंस्पेक्टरों को बारिश होने से पहले अपना कार्य सौ फीसदी पूरा करने के निर्देश दिए। साथ ही जिन स्थानों पर नाले ब्लॉक होने की स्थिति होती है, वहां पर पंपसेट लगाने के निर्देश दिए।

निगमायुक्त अजय सिंह तोमर रविवार सुबह करीब 7 बजे सबसे पहले जगाधरी के गोरी शंकर मंदिर के पास निकल रहे नाले पर पहुंचे। उनके साथ सीएसआई हरजीत सिंह, सेनेटरी इंस्पेक्टर अमित कांबोज, सेनेटरी इंस्पेक्टर बिट्टू व एएसआई सचिन कांबोज साथ थे। यहां उन्होंने नाले की सफाई की गहनता से जांच की और सफाई कर रहे नाला टीम के इंचार्ज अमर सिंह व अन्य सदस्यों से बातचीत की। उन्हें गहराई तक पूरी गाद नाले से निकालने के निर्देश दिए। इसके बाद आयुक्त तोमर प्रकाश चौक पर पहुंचे और कॉलोनियों से नाले में गिर रहे पानी की जांच की। इसके बाद अंबाला रोड पर एचडीएफसी बैंक के पास नाले पर पहुंचे।

यहां पर नाले से अवैध कब्जा हटाकर ऊंचा किया गया था। इसके बाद निगम अधिकारियों का काफिला जगाधरी बस स्टैंड के नजदीक निकल रहे नाले पर पहुंचा। यहां सफाई व्यवस्था की जांच की। निगमायुक्त ने इसके बाद स्वामी विवेकानंद स्कूल पास नाले के चैंबर की जांच की और अधिकारियों से वहां की स्थिति के बारे में पूछा। इसके बाद निगमायुक्त तोमर ने मॉडल टाउन में कैप्शन मॉल के सामने व जब्बी वाला गुरुद्वारा के नजदीक नालों की सफाई की वास्तविक स्थिति जांची और सफाई कर रही नाला टीम का हाजिरी निरीक्षण किया। आयुक्त ने इसके बाद लाजपत नगर, विश्वकर्मा चौक के पास नाले का निरीक्षण किया। अंत में निगमायुक्त तोमर डिचड्रेन पर पहुंचे। यहां सेनेटरी इंस्पेक्टर गोविंद शर्मा द्वारा पोकलाइन से की जा रही सफाई का जायजा लिया।
122 कर्मचारियों व पोकलाइन से करवाई जा रही नालों की सफाई
निगमायुक्त अजय सिंह तोमर ने कहा कि यमुनानगर व जगाधरी के नालों का निरीक्षण किया गया। नालों की सफाई को लेकर 122 सफाई कर्मचारी लगाए हुए है। वहीं बड़े नालों व डिचड्रेन की सफाई के लिए पोकलाइन भी लगाई हुई है। सफाई अधिकारियों को बारिश शुरू होने से पहले अपना काम पूरी तरह कंपलीट करने के निर्देश दिए गए है। जलभराव होने पर जल निकालने के लिए नौ पंप सेट लगाकर टीम का गठन किया गया। जलभराव में कही भी कोई दिक्कत है तो इसके लिए 2 कंट्रोल रूम बनाए हुए है। यह सेवा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी।
2 दिन के भीतर करें सौ फीसदी सफाई
निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त तोमर ने सीएसआई हरजीत सिंह को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि एक दो दिन में बारिश होने की संभावना है। कोई दिक्कत न हो इसलिए नालों की गंभीरता से सफाई करें। दो दिन के भीतर नालों की सफाई सौ फीसदी पूरा करें।  इसके अलावा जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी एसटीपी व सीवरेज की व्यवस्था को ठीक करने के निर्देश जारी किए गए है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular