Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : कर्मचारियों ने गेट मीटिंग कर अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के लगाए...

यमुनानगर : कर्मचारियों ने गेट मीटिंग कर अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के लगाए नारे

प्रभजीत सिंह लक्की , यमुनानगर :
स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों ने बीते शुक्रवार को सिविल अस्पताल के ट्रामा सेंटर के सामने कर्मचारियों की नौकरी बहाली को लेकर पहले दिन की गेट मीटिंग की शुरूआत की मीटिंग में कर्मचारियों ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर मुर्दाबाद के नारे लगाए गेट मीटिंग की अध्यक्षता जिला प्रधान सुमित ऋषि ने की संचालन जिला सचिव नरेश कुमार द्वारा किया गया कार्यक्रम को सम्बोधित करने आये सर्व कर्मचारी संघ के जिला सचिव गुलशन भारद्वाज ने सिविल अस्पताल के सिविल सर्जन के ऊपर वायदाखिलाफी का आरोप लगाते हुई बताया कि बीते 22 जुलाई को एसकेएस के प्रतिनिधि मंडल को सिविल सर्जन द्वारा झूठा आश्वासन दिया गया था जिसमे छछरौली सीएचसी से 8 प्रताप नगर से 7 कोट से 3 व खारवन से 1 स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों की नौकरी की बहाली की बात हुई थी लेकिन अभी तक सिविल सर्जन के द्वारा 19 कर्मचारियों में से 1भी कर्मचारी की नौकरी बहाल नही हुई जिस कारण ठेका कर्मचारियों ने अपना आंदोलन दोबारा शुरू कर दिया है और ये आंदोलन तब तक चलेगा जबतक सभी कर्मचारियों की नौकरी बहाल नही हो जाती उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों की मांगों व समस्याओं के चलते स्वास्थ्य ठेका कर्मचारी यूनियन ने बीती 5 अगस्त को विरोध प्रदर्शन के बाद डिप्टी सीएमओ श्रीमती दीपिका गुप्ता को ज्ञापन भी दिया था
जिसमे आउटसोर्सिंग कर्मचारियों का वेतन प्रत्येक महीने की 7 तारीख तक बैंक एकाउंट में आ जाना चाहिए कर्मचारी और उसके परिवार का ईएसआई कार्ड बना होना चाहिए व ईपीएफ की राशि हर महीने खाते में जमा होनी चाहिए आदि सहित अन्य मांगों को लेकर कर्मचारियों ने सिविल सर्जन कार्यालय पर लगातार 2 घण्टे प्रदर्शन भी किया थाइसके इलावा कर्मचारियों ने हॉस्पिटल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए बताया कि प्रशासन की नाक तले ठेकेदार कर्मचारियों से पद के हिसाब से काम ना लेकर वार्ड सर्वेंट से सफाई कर्मचारियों का काम लिया जा रहा है जिस कारण से ये डिप्लोमा व डिग्रीधारी कर्मचारी भारी मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं इसके इलावा जिला के स्वास्थ्य ठेका कर्मचारियों को ठेकेदार द्वारा पूरी हाजरी के बावजूद पूरा वेतन नही दिया जा रहा है कर्मचारी नेताओं ने अस्पताल प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द सभी ठेका कर्मचारियों की नौकरी बहाल नही होती तो अगली रणनीति के तहत आंदोलन को बड़ा करने पर मजबूर होंगे जिसकी जिम्मेदारी सिविल सर्जन की होगी मौके पर ब्लॉक प्रधान विशाल बाजीगर परमजीत शबनम सुषमा मलकीत प्रदीप शशि गुरमीत विकास आदि
Attachments area
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments