Homeराज्यहरियाणाकरनाल : करनाल-मेरठ रोड को चौड़ा करने का काम जोरों पर, फरवरी...

करनाल : करनाल-मेरठ रोड को चौड़ा करने का काम जोरों पर, फरवरी 2022 तक होगा पूरा : निशांत यादव

प्रवीण वालिया, करनाल :
महत्वाकांक्षी करनाल-मेरठ रोड को चौड़ा करने का काम जोरों पर है। यह प्रोजेक्ट फरवरी 2022 तक पूरा होगा। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने साईट का दौरा कर इसका निरीक्षण किया। इसका निर्माण प्रोविंशियल डिवीजन-2 एन.एच. जींद की ओर से किया जा रहा है। करीब 15 किलोमीटर लम्बी सड़क को ताऊ देवी लाल चौक से शुगरमिल तक 6 मार्गी और इससे आगे मंगलौरा पुल तक चौमार्गी किया जाएगा। इस कार्य पर 105 करोड़ रूपए की राशि खर्च होगी और अब तक करीब 45 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। साईट के निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने बताया कि सड़क को दोनों ओर से 15-15 मीटर चौड़ा किया जा रहा है। बीच में डेढ मीटर डिवाईडर और 6 मीटर के फुटपाथ बनाए जाएंगे। सड़क चौड़ी होने पर वाहनो का ट्रैफिक लोड कम होगा। उन्होंने बताया कि अब तक ताऊ देवी लाल चौक से शुगर मिल तक एक साईड सड़क लगभग मुकम्मल हो गई है। दूसरी साईड पर अमरूत के तहत बरसाती पानी निकासी की बड़ी लाईन डाली जा रही है। चालू माह अगस्त में इसके भी कम्पलीट होने की पूरी उम्मीद है। शुगरमिल के मुख्य गेट के साथ आवर्धन नहर पर पुल बनाए जाने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। पुल के नीचे शुगरमिल के सामने स्माल व्हीकल अंडरपास रहेंगे। दोनो ओर सर्विस लेन भी बनाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि इसी तरह का एक अन्य अंडरपास मंगलौरा के पास भी बनाया जा रहा है।
एक बड़ा, 6 छोटे पुल और शेष पुलिया सहित बनेंगे 27 स्ट्रक्चर  
निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने बताया कि आर्वधन नहर पर एक बड़े पुल के अतिरिक्त सड़क पर 6 माईनर ब्रिज और करीब 20 पुलिया बनाई जाएंगी। उन्होंने ताऊ देवी लाल चौक से लेकर मंगलौरा पुल तक सड़क के प्रोजेक्ट का निरीक्षण कर इसकी चौड़ाई को लेकर अलाईनमेंट को चैक की और जहां-जहां छोटी-मोटी रूकावटें थी, उनसे जुड़े अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ डिस्कस कर उनका मौके पर ही समाधान निकाला, ताकि काम में किसी तरह का अवरोध न रहे।
करनाल-मेरठ रोड को चौड़ा करना मुख्यमंत्री की घोषणाओं में है शामिल
उपायुक्त ने बताया कि करनाल-मेरठ दो राज्यों को आपस में जोड़ती है। व्यापारिक दृष्टि से यह सड़क बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है, लेकिन इसकी चौड़ाई कम होने से इस पर जाम और दुर्घटनाएं होती रही हैं। यह समस्या लम्बे समय से चलती रही। इसके समाधान के लिए मुख्यमंत्री हरियाणा ने इसके चौड़ीकरण का प्रोजेक्ट बनवाया। इससे जहां एक ओर यातायात अति सुगम रहेगा, वहीं दूसरी ओर इस पर व्यापारिक गतिविधियोंं में भी इजाफा होगा। उपायुक्त के निरीक्षण दौरे में लोक निर्माण विभाग (बी. एंड आर.) के कार्यकारी अभियंता अनिल रोहिला, यूएचबीवीएन के सब अर्बन कार्यकारी अभियंता सोमवीर भलोटिया, नगर निगम के कार्यकारी अभियंता सतीश शर्मा तथा प्रोजेक्ट मैनेजर सौरभ शर्मा भी मौजूद रहे।  

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments