Wednesday, December 1, 2021
Homeराज्यहरियाणारोहतक : नेत्रदान पखवाड़ा लगाकर लोगों को देंगे उजाला

रोहतक : नेत्रदान पखवाड़ा लगाकर लोगों को देंगे उजाला

संजीव कौशिक, रोहतक:
पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय नेत्र विज्ञान संस्थान द्वारा 25 अगस्त से 8 सितंबर तक नेत्रदान पखवाड़े के रूप मे विभागाध्यक्ष डॉ. आर.एस. चौहान के दिशा निर्देशन में मनाया जाएगा। इसके तहत विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक लोगों को नेत्रदान के प्रति जागरूक किया जा सके। इसी कड़ी में सोमवार को पीजीआईएमएस के लैक्चर थियेटर पांच में नर्सिंग कालेज की छात्राओं के लिए एक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया ताकि वें समाज में जाकर अधिक से अधिक लोगों को अंगदान के महत्व को समझा सकें। इस अवसर पर मुख्यअतिथि के तौर पर निदेशक डॉ. रोहताश यादव व विशिष्ठ अतिथि के तौर पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पुष्पा दहिया उपस्थित हुए। मंच का संचालन रोहतक ओपथैलमोलॉजिकल सोसाइटी की आगेर्नाइजिंग सेक्रेट्री व आरआईओ की प्रो डॉ. मनीषा नाडा ने किया।
       इस अवसर पर उपस्थित चिकित्सकों एवं छात्राओं को संबोधित करते हुए निदेशक डॉ. रोहताश यादव ने कहा कि इस नेत्रदान पखवाडे के लिए वें नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डॉ. आर.एस.चौहान व उनकी टीम को बधाई देते हैं, जिन्होंने पिछले एक सप्ताह में करीब 10 कोर्निया ट्रांसप्लांट किए। डॉ. रोहताश यादव ने कहा कि उनके संस्थान में चिकित्सा अधीक्षक कार्यालय में सोटो का कार्यालय स्थापित है, जहां जाकर कोई भी इच्छुक व्यक्ति अंगदान के लिए फार्म भर सकता है। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि हमें अंगदान के लिए जागरूक होना होगा क्योंकि एक व्यक्ति मरणोपरांत आठ लोगों का जीवन अंगदान के माध्यम से बचा सकता है। डॉ. यादव ने कहा कि जल्द ही संस्थान में ट्रांसप्लांट भी शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हम नेत्रदान के माध्यम से किसी के जीवन में अंधकार दूर कर उजाला कर सकते हैं। ऐसे में आज हम सभी को यहां से यह प्रण लेकर जाना चाहिए कि हम समाज में जाकर लोगों को अधिक से अधिक अंगदान के प्रति जागरूक करेंगे। डॉ. आर.एस. चौहान ने बताया कि पिछले वर्ष कोरोना महामारी की वजह से बहुत की कम कोर्निया ट्रांसप्लांट हुए, लेकिन अब लोग नेत्रदान करने के प्रति काफी जागरूक नजर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस नेत्रदान पखवाड़े के अंर्तगत लोगों में जागरूकता आने से इसी सप्ताह में उनकी टीम ने 10 कोर्निया ट्रांसप्लांट कर दिए हैं। डॉ. आर.एस. चौहान ने बताया कि इस सप्ताह में उनकी टीम व्याख्यानों, पोस्टर प्रतियोगिता, रेडियो टॉक, जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों का मार्गदर्शन कर रही है। डॉ. मनीषा नाडा ने बताया कि हर साल उनका विभाग लोगों को नेत्रदान के प्रति जागरूक करता है ताकि अधिक से अधिक लोग नेत्रदान के लिए आगे आएं और सभी इस खुबसूरत दुनिया को देख सकें। उन्होंने कहा कि विश्व मे कुल अंधता 45 मिलियन हैं। जिसमें करीब 12 लाख कॉरनिया ब्लाइंड भारत मे हैं। डॉ. मनीषा नाडा ने कहा कि सारे प्रयासों के करते केवल करीब 65 हजार कोर्निया ही प्रतिवर्ष मिल पाते हैं,जबकि जरूरत दो लाख प्रतिवर्ष की है। डॉ मनीषा ने बताया कि हरियाणा ओपथैलमोलॉजिकल सोसाइटी के तत्वावधान में यह जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। डॉ. ज्योति देशवाल ने कहा कि समस्त समाज को जागरूक करने के लिए युवाओं को आगे आकर अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करना चाहिए। उन्होंने बताया कि मृत्यु के 4 से 6 घंटे के अंदर नेत्रदान किया जा सकता है जो किसी व्यक्ति के  अंधेरे जीवन मे उजाला ला सकता है। डॉ. ज्योति देशवाल ने बताया कि नेत्रदान करने के लिए पीजीआईएमएस मे 01262-281300 हरियाणा राज्य नेत्रदान केंद्र व आपातकालीन विभाग के फोन 281304 पर फोन करके जानकारी दी जा सकती है। डॉ. आर एस चौहान ने कहा कि हमें पिछली मांग को पूरा करने के लिए दो लाख के आसपास कोर्निया चाहिएं। हर वर्ष 20 हजार लोगों की कोर्निया के चलते आंखों को नुकसान पहुंचता है। इस अवसर पर डॉ. सुमित सचदेवा, डॉ. मनीषा राठी, डा. नीभा पाशी, डा. मनीषा नाडा, डॉ. अशोक राठी, डॉ. उर्मिल चावला, डॉ. जितेंद्र फौगाट, डॉ ज्योति देशवाल, डॉ. रीना गुप्ता, नर्सिंग कालेज की प्राचार्य प्रो. सुनीता सिंह,सोटो की टीम सहित समस्त नर्सिंग कालेज की छात्राएं उपस्थित थीं। 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments