Homeराज्यहरियाणा12 साल बाद इतनी गर्मी, 3 दिन बाद मिलेगी राहत

12 साल बाद इतनी गर्मी, 3 दिन बाद मिलेगी राहत

आज समाज डिजिटल, अंबाला:
प्रदेश में गर्मी बढ़ती जा रही है। आज हिसार और सोनीपत में सबसे अधिक गर्मी दर्ज की गई। 9 जिलों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है। यदि विश्वास करें मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर तो 14 मई तक भीषण गर्मी और प्रचंड लू चलेगी।

मई के साथ बढ़ रहे गर्मी के तेवर

मई के आगे बढ़ने के साथ-साथ प्रदेश में गर्मी के तेवर भी तल्ख होते जा रहे हैं। कल का दिन प्रदेश में इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। पिछले 12 साल में तीसरी बार ऐसा हुआ है जब इतनी गर्मी पड़ी हो। हिसार और सोनीपत में दोनों स्थानों पर अधिकतम तापमान 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले 29 अप्रैल को हिसार जिले में तापमान 46.2 डिग्री सेल्सियस था।

बरस रही आग, लू के थपेड़े भी

आसमान से बरसती आग और गर्म हवा के थपेड़ों ने प्रदेशवासियों को बेहाल कर दिया। प्रदेश के तीन जिलों में पारा 47 और नौ जिलों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से तीन से 6 डिग्री सेल्सियस अधिक है। मौसम विभाग ने 14 मई तक भीषण गर्मी और प्रचंड लू का यलो अलर्ट जारी किया है। आने वाले दिनों में तापमान में दो डिग्री सेल्सियस तक और बढ़ोतरी हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार 16 मई को पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मौसम में बदलाव आएगा। इससे राहत मिलने की संभावना है।

वर्ष तापमान

2021 47.4
2020 48.0
2017 47.1
2016 47.8
2013 47.3

इस समय इस लिए बढ़ रहा तापमान

भारतीय मौसम विभाग के नारनौल के डॉ. चंद्रमोहन बताते हैं कि मरुस्थली हवाओं के चलने से गर्मी बढ़ रही है। रात के तापमान में भी बढ़ोतरी हो रही है। भीषण गर्मी के बीच पंचकूला, चंडीगढ़ में शाम को हल्की बारिश हुई। डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि हरियाणा के बीच से होकर एक तिरछी टर्फ रेखा के कारण मौसम में अस्थिर भी रहा। दोपहर बाद बादलों के साथ धूल भरी तेज हवाएं चलीं।

अब ऐसा रहेगा मौसम, भविष्यवाणी

आने वाले तीन दिनों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में 2 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो सकती है। आंशिक बादलवाही के साथ धूल भरी हवाएं भी चलेंगी। 16 मई को एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा, जिसकी वजह से कुछ स्थानों पर मौसम में बदलाव आएगा। इससे प्रचंड लू और भीषण गर्मी से राहत मिलने की संभावना है।

मानसून जल्द देगा दस्तक

दक्षिण-पश्चिम मानसून देश में जल्द ही दस्तक दे सकता है। मौसम विभाग ने गुरुवार को कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप में 15 मई को मानसून की पहली बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 15 मई के आसपास दक्षिण अंडमान सागर और इससे लगते दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी पहुंचने की संभावना है।

ये भी पढ़ें : ट्रक से टकराई स्कूल बस, 30 में से 12 बच्चे घायल, ड्राइवर भी जख्मी

ये भी पढ़ें : दोस्त को उतारा मौत के घाट फिर किए टुकड़े, कारण 25 हजार रुपये का लेनदेन

ये भी पढ़ें : बिजली संकट, तीन यूनिटों में उत्पादन बंद, बढ़ी मांग

ये भी पढ़ें : अंबाला में मिले हैंड ग्रेनेड का संबंध भी करनाल में पकड़े आतंकियों से जुड़े

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular