Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : बीए मॉस कम्यूनिकेशन में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की ओवर आल टॉपर...

यमुनानगर : बीए मॉस कम्यूनिकेशन में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की ओवर आल टॉपर बनी विधि शर्मा

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
डीएवी गर्ल्स कालेज के जनसंचार विभाग की छात्रा विधि शर्मा ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की मेरिट सूची में ओवर आल टॉप किया है। विश्वविद्यालय ने यह मेरिट सूची छठे सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम के बाद जारी की है। इसी मेरिट सूची में तनिष्का पुंडीर ने सातवां व अर्शदीप कौर ने 14वां स्थान हासिल किया है। वहीं तीसरे सेमेस्टर की मेरिट सूची में पूर्वी चावला, शिवी राणा व साक्षी पुंडीर ने संयुक्त रूप से पहला स्थान अर्जित कुवि में टॉप किया है। जबकि कामाक्षी दीक्षित ने छठां स्थान हासिल किया है। कॉलेज प्रिंसिपल डा. आभा खेतरपाल व वाइस प्रिंसिपल डॉ. मीनू जैन ने मेरिटोरियस छात्राओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि छात्राओं ने प्रदेशभर में कॉलेज का नाम रोशन कर सभी को गौरवांवित किया है। वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में छात्राओं को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने छात्राओं, विभागाध्यक्ष परमेश कुमार व प्राध्यापिका सुखजीत कौर इस उपलब्धि पर बधाई दी।जनसंचार विभाग अध्यक्ष परमेश कुमार त्यागी ने बताया कि बीए-मॉस कम्यूनिकेशन अंतिम वर्ष की छात्रा विधि शर्मा ने 87 प्रतिशत अंक (3000 में से 2617 अंक) अर्जित कर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की मेरिट सूची में टॉप किया है। जबकि तनिष्का पुंडीर ने 84 प्रतिशत अंक (3000 में से 2531 अंक) अर्जित कर सातवां तथा अर्शदीप कौर ने 80.5 प्रतिशत अंक (3000 में से 2415 अंक) अर्जित कर 14वां स्थान हासिल किया है।तीसरे सेमेस्टर में पूर्वी चावला, शिवी राणा व साक्षी पुंडीर ने किया टॉप:
कुवि की ओर से जारी तीसरे सेमेस्टर की मेरिट सूची में बीए मॉस कम्यूनिकेशन की छात्रा पूर्वी चावला, शिवी राणा व साक्षी पुंडीर ने संयुक्त रूप से 98.6 प्रतिशत अंक (500 में से 493 अंक) अर्जित कर टॉप किया है। जबकि कामाक्षी दीक्षित ने 96 प्रतिशत अंक (500 में से 480 अंक) अर्जित कर छठा स्थान अर्जित किया है।
आईएएस बन देश की सेवा करना चाहती है विधि शर्मा व तनिष्का पुंडीर :
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की टॉपर विधि शर्मा व सातवें नंबर पर रही तनिष्का पुंडीर आईएएस बनकर देश की सेवा करना चाहती है। बकौल विधि शर्मा अपने लक्ष्य को पाने के लिए उसने पहली सीढ़ी पार कर ली है। अब वह दूसरे पड़ाव के लिए जी जान से जुट गई है। दोनों छात्राओं का कहना है कि फिलहाल वे सेल्फ स्टडी पर ध्यान दे रही है। जरूरत पड़ी तो कोचिंग भी लेंगी।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments