Homeराज्यहरियाणाकरनाल : खेतों में से ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को अंजाम देने...

करनाल : खेतों में से ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले 2 आरोपी काबू

प्रवीण वालिया, करनाल :
पिछले कुछ समय से करनाल पुलिस को ट्रांसफार्मर चोरी की शिकायतें मिल रही थी। ऐसी वारदातों पर अंकुश लगाते हुए करनाल पुलिस की सीआईए असंध द्वारा वारदातों को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। उप निरीक्षक रामफल की अध्यक्षता में टीम द्वारा दो आरोपियों धर्मवीर व बुगदेव जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश को उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार किया गया व न्यायालय से पुलिस रिमाण्ड हासिल किया गया। पूछताछ में आरोपियों द्वारा खुलासा किया गया कि उन्होंने अपने दो अन्य साथियों ऊधम सिंह व थानसिंह जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश के साथ मिलकर जिला करनाल के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से ट्रांसफार्मर चोरी की 33 वारदातों को अंजाम दिया गया था। जिसमें थाना बुटाना के एरिया से 7, थाना निसिंग के एरिया से 11 व थाना असंध के एरिया से 15 वारदातों को अंजाम दिया गया था। आरोपियों को थाना असंध के ट्रांसफार्मर चोरी के एक मामले में पुलिस रिमाण्ड पर लेकर उस मामले का 92 किलोग्राम क्बाइल तांबा बरामद की गई है। जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी शातिर किस्म के आदतन अपराधी हैं। बार-बार जेल से अंदर-बाहर आते जाते रहते हैं और बाहर आकर फिर चोरी करने लग जाते हैं। आरोपी ज्यादातर ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को अंजाम देने के लिये सर्दी के मौसम को चुनते थे। क्योंकि सर्दी के मौसम में अमूमन रात के समय किसान अपने खेतों में नही होते हैं। सबसे पहले आरोपियों में से एक आरोपी किसी बस में बैठकर या अन्य किसी साधन द्वारा वारदात को अंजाम देने वाली एक जगह पर पहुच जाता था। जो दिन के समय खेतों में खड़े ट्रांसफार्मरों की रैकी करता था और चोरी करने के लिये ट्रांसफार्मर चिन्हित करता था।

जिसके बाद वह अपने अन्य साथियों को ट्रांसफार्मर चोरी करने के लिए बुला लेता था और सभी आरोपी मिलकर ट्रांसफार्मर से ही बिजली की लाईन काटकर अपने साथ रखी हुई कटर व अन्य औजारों से ट्रांसफार्मर को खोलकर या काटकर उसमें से क्बाइल चोरी कर वारदातों को अंजाम देते थे। चोरी करने के बाद आरोपी चोरी किए गए क्बाइल को किसी सुनसान जगह या किसी झाड़ी में छुपाकर उस समय मौका से फरार हो जाते थे और जैसे ही आरोपियों को मौका मिलता तो उस सामान को किसी मोटरसाईकिल या गाड़ी में रखकर मौका से फरार हो जाते थे।

जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपियों की चोरी करने की कोई सीमा निश्चित नही थी। आरोपियों द्वारा हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान व दिल्ली के अलग- हिस्सों में ट्रांसफार्मर चोरी की करीब  50-55 वारदातों को अंजाम दिया जा चुका था। आरोपियों के उपरोक्त दो अन्य साथी भी उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ जेल में सजा काट रहे हैं। जिनको भी प्रोडक्शन वारंट पर लाकर गिरफ्तार किया जाएगा। आरोपियों को जिला करनाल के एरिया के मामलों में पुलिस रिमाण्ड पर लेकर चोरीशुदा सामान की बरामदगी की जाएगी। व अन्य मामलों में भी आरोपियों की संलिप्तता का पता लगाकर मामलों का खुलासा किया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments