Homeराज्यहरियाणामहेंद्रगढ़: हकेवि में तीन इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों की होगी शुरुआत

महेंद्रगढ़: हकेवि में तीन इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों की होगी शुरुआत

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़:
हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 से अपने यहां राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को ध्यान में रखते हुए तीन नए इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों की शुरूआत करने जा रहा है। इन नए पाठ्यक्रमों में बी.एससी.-एम.एससी. भौतिकी, बी.एससी.-एम.एससी. रसायन विज्ञान व बी.एससी.-एम.एससी. गणित शामिल हैं। इन तीनों ही नए पाठ्यक्रमों में 30-30 सीटों के लिए दाखिले केंद्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा-2021 के माध्यम से होंगे। जिसकी आवेदन प्रक्रिया अन्य पाठ्यक्रमों के साथ जल्द ही शुरू होने जा रही है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने बताया कि ये तीनों ही पाठ्यक्रम नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को केंद्र में रखते हुए शुरू किए जा रहे हैं और इनके माध्यम से विद्यार्थी बारहवीं के बाद सीधे स्नातकोत्तर तक की पढ़ाई कर पाएंगें। कुलपति ने कहा कि इन पाठ्यक्रमों को विद्यार्थियों के लिए विशेष रूप से आधुनिक बदलावों के अनुरूप तैयार किया गया है। जिसमें अकादमिक विशिष्टता के साथ-साथ रोजगारउन्मुखता व आत्मनिर्भरता की दिशा में भी प्रयास किए गए हैं। अवश्य ही इन पाठ्यक्रमों में अध्ययन कर विद्यार्थी उज्ज्वल भविष्य बना सकते हैं।
विश्वविद्यालय की ओर से नियुक्त केंद्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीयूसीईटी)-2021 के नोडल आॅफिर डॉ. फूल सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय तीन नए इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों को शुरू करने जा रहा है। ये तीनों पाठ्यक्रम मौलिक विज्ञान पीठ के अंतर्गत शुरू होंगे। उन्होंने बताया कि तीनों ही पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया विश्वविद्यालय में उपलब्ध शेष स्नातक व स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के साथ शुरू होगी और केंद्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीयूसीईटी)-2021 के माध्यम से विद्यार्थियों के दाखिले लिए जाएंगे। नए पाठ्यक्रमों के अंतर्गत राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को एक्जिट का विकल्प दिए जाने की भी योजना है। डॉ. फूल सिंह ने बताया कि पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया की घोषणा के साथ ही इनमें दाखिले हेतु आवश्यक योग्यता की भी जानकारी उपलब्ध करा दी जाएगी। आरक्षित श्रेणी के अंतर्गत आने वाले विद्यार्थियों को निर्धारित नियमों के अनुसार राहत दी जाएगी।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular