Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : सडक सुरक्षा के लिए दुर्घटना संभावित बिंदुओ पर सुधार न...

यमुनानगर : सडक सुरक्षा के लिए दुर्घटना संभावित बिंदुओ पर सुधार न होने पर उपायुक्त ने व्यक्त की नाराजगी

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
उपायुक्त गिरीश अरोरा ने आज जिला सचिवालय के सभागार में सडक सुरक्षा एवं सुरक्षित स्कूल वाहन विषय पर आयोजित मासिक बैठक की अध्यक्षता की। जिला में दुर्घटना संभावित 54 बिंदुओ पर सम्बंधित विभागो द्वारा कोई ठोस कार्यवाही न करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उपायुक्त ने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए कि वे सडक सुरक्षा समिति के सदस्यों के साथ स्वयं सभी स्थलों का दौरा करे और किस बिंदु पर सुधार की जिम्मेवारी किस विभाग की है, इसकी विस्तृत रिपोर्ट एक सप्ताह में प्रस्तुत करें। उन्होंने सडको के सुधार के मामले में लोक निर्माण विभाग और नगरनिगम की कार्यप्रणाली पर असंतोष जाहिर किया।
बैठक में जिला के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों तथा राष्ट्रीय राजमार्ग पर दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए विभिन्न बिंदुओ पर विस्तृत चर्चा की गई। उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए की सडक दुर्घटना के कारण होने वाले मानवीय नुकसान के प्रति अधिक संवेदनशील बने और सडको में सुधार से जुडे कार्यो को विशेष प्राथमिकता पर पूरा करें। यमुनानगर-अम्बाला बाईपास से जगाधरी बस अड्डा तथा भाई कन्हैया साहिब चौंक से कमानी चौक व विश्व कर्मा चौंक तक सडक की स्थिति अधिक खराब होने के मामले मे भी उपायुक्त ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार जगाधरी-पौंटासाहिब और यमुनानगर-रादौर मार्ग पर विशेषकर दामला चौंक क्षेत्र में सडक सुधार सम्बंधी कार्यो को विशेष प्राथमिकता देने के निर्देश दिए। उन्होने यमुनानगर बस अड्डद्दे के सामने सडक पर लाईटे लगाने, डिवाईडर उंचा करने सहित अन्य सुधार के कार्याे को भी जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के तकनीकि अभियंता ने बताया कि राष्टद्द्रीय राजमार्ग पर कैल और करेडाखुर्द , जंक्शन पर सडक दुर्घटनाए रोकने के  लिए ओवरब्रिज बनाने की योजना है। इसी प्रकार भम्भौली, सुढैल इत्यादि क्रॉसिंग पर भी दुर्घटनाए रोकने के लिए आवश्यक कार्यों की परियोजना तैयार की गई है और इन परियोजनाओं पर कार्य शुरू करने की प्रक्रिया जल्द शुरू कर दी जाएगी। लोकनिर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता ने बताया कि रक्षक विहार से राजमार्ग तक सडक को 22 फुट से बढाकर 33 फुट चौडा करने का कार्य प्रगति पर है। उन्होने बताया कि सरकार द्वारा यमुनानगर से पिपली वाया रादौर सडक को चार मार्गी बनाने के लिए भी कंसल्टैंट तैनात किए जा चुका है। इसके अलावा इस मार्ग पर दामला मोड पर 250 मीटर क्षेत्र में सडक को मजबूत बनाने की कार्ययोजना तैयार की गई है और रादौर के नजदीक सडक पर पानी जमा होने की समस्या के निदान के लिए भी योजना तैयार की जा चुकी है।
इसके अलावा बैठक में सडक सुरक्षा व सुरक्षित स्कूल वाहन पॉलिसी से सम्बंधित अन्य बिंदुओ पर भी चर्चा की गई और अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए गए। आज की इस बैठक में पुलिस अधीक्षक कमल दीप गोयल, अतिरिक्त उपायुक्त रणजीत कौर, एसडीएम जगाधरी सुशील कुमार, एस.डी.एम रादौर सुरेंद्र पाल सिंह, जीएम रोडवेज मुनीष सहगल, जिला परिवहन अधिकारी एवं सचिव आर.टी.ए. डा. सुभाष चंद, डी.एस.पी टै्रफिक सुरिंद्र कौर, राज्य सडक सुरक्षा समिति के सदस्य सुशील आर्य सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments