Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रStatement Of JP Dalal प्रदेश के हर गांव में किसानों को प्राकृतिक...

Statement Of JP Dalal प्रदेश के हर गांव में किसानों को प्राकृतिक खेती से जोड़ने के लिए नया प्राकृतिक खेती विभाग बनाने की योजना : दलाल

Statement Of JP Dalal

आज समाज डिजिटल, कुरुक्षेत्र
हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने कहा है कि प्रदेश के हर गांव में किसानों को प्राकृतिक खेती से जोड़ने के लिए नया प्राकृतिक खेती विभाग बनाने की योजना पर कार्य शुरू कर दिया गया है। इस बार सरकार का प्रयास रहेगा कि बजट सत्र में प्राकृतिक खेती के लिए अलग से बजट भी तय किया जाए। इन तमाम पहलुओं पर चर्चा करने के लिए 8 मार्च को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के सभागार में प्राकृतिक खेती पर आधारित प्रदेश स्तरीय कृषि कार्यशाला का भी आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला में मुख्यमंत्री मनोहर लाल व गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत भी शिरकत करेंगे। इस कार्यशाला के लिए करीब 1200 किसानों को आमंत्रित किया गया है।

Statement Of JP Dalal

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल रविवार को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के सीनेट हॉल में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। कृषि मंत्री ने कहा कि आज के आधुनिक युग में देश के साथ-साथ प्रदेश में जहर युक्त खेती की जा रही है। इससे जहां लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है वहीं भूमि की सेहत खराब होने के साथ-साथ किसानों की आय भी कम हो रही है। इस गंभीर विषय को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए जागरूक कर रहे हैं।

Statement Of JP Dalal

इसकी शुरुआत 2 वर्ष पहले गुरुकुल कुरुक्षेत्र में राज्यपाल आचार्य देवव्रत की देखरेख में शुरू की गई थी और किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के प्रति जागरूक किया गया था लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस अभियान को आगे नहीं बढ़ाया जा सका। अब महामारी का प्रकोप कम होने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में फिर से किसानों को प्राकृतिक खेती के साथ जोड़ने के लिए 8 मार्च को कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के सभागार में कृषि कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यशाला में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, सांसदगण, विधायकगण, सभी जिलों के उपायुक्त, 4 विश्वविद्यालयों के कुलपति, कृषि विभाग, बागवानी विभाग, पशुपालन विभागों के अधिकारी, प्रगतिशील किसान शिरकत करेंगे।

Statement Of JP Dalal

उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य है कि प्राकृतिक खेती को अपनाकर अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद तैयार किए जा सकें। वर्तमान समय में उत्पाद पैदा करने के लिए खेतों में अंधाधुंध दवाइयों, खादों का प्रयोग किया जा रहा है जिसके कारण लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है और कृषि उत्पादों को भी स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में उचित दाम नहीं मिल पा रहा है। इसलिए समय की मांग को जहन में रखते हुए सरकार ने कृषि उत्पादों की गुणवत्ता पर फोकस रखकर प्राकृतिक खेती के प्रति जागरूक करने का फैसला लिया है।

Statement Of JP Dalal

उन्होंने कहा कि अगर खेतों में बिना दवाई और खाद से अच्छे उत्पाद तैयार किए जाएंगे तो निश्चित ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में फसलों के अच्छे दाम मिल पाएंगे। कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार हर ब्लॉक और हर गांव के किसानों को प्राकृतिक खेती से जोड़ने का प्रयास करेगी। सरकार किसानों के साथ मिलकर प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देगी ताकि लोगों को जहर युक्त उत्पादों से मुक्ति दिलाई जा सके।

इसके लिए सरकार सबसे पहले लैब, उत्पादों की जांच करने की विधि, प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को सर्टिफाइड करने तथा अधिक से अधिक प्रशिक्षण केन्द्र खोलने पर ध्यान देगी। इसके बाद गुरुग्राम में ऑर्गेनिक मंडी स्थापित करेगी। इससे पहले प्रत्येक गांव में कुछ किसानों को प्राकृतिक खेती के साथ जोड़ने का प्रयास करेगी।

Statement Of JP Dalal

उन्होंने कहा कि सरकार ने दक्षिण हरियाणा में खारे पानी वाली जमीन पर झींगा मछली पालन को बढ़ावा देने का काम किया है। इस क्षेत्र में झींगा मछली उत्पादन को 2500 करोड़ से बढ़ाकर आने वाले 3 साल में 5000 करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके अलावा बागवानी को बढ़ावा देने के लिए अधिक से अधिक सब्सिडी और पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए अच्छी नस्ल के पशुओं को तैयार करने की तरफ कदम बढ़ाए हैं। अभी हाल ही में भिवानी में प्रदेश स्तरीय पशु मेला आयोजित करके पशुपालकों को लाखों रुपये के इनाम भी वितरित किए है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सरसों, बाजरा, मक्का सहित अन्य फसलों के एमएसपी को लगातार बढ़ा रही है और सरकार ने गन्नौर में करीब 8 हजार करोड़ की लागत से एशिया की सबसे बड़ी मंडी का निर्माण करने का कार्य किया है। इस प्रोजेक्ट में 2 हजार करोड़ प्रदेश सरकार की तरफ से खर्च किया जाएगा। इस मौके पर सांसद नायब सिंह सैनी, विधायक सुभाष सुधा, भाजपा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सैनी, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के महानिदेशक डॉ. अर्जुन सिंह, एडीसी अखिल पिलानी, डीडीए डॉ. प्रदीप मिल, एसडीओ जितेन्द्र मेहता सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Statement Of JP Dalal

Read Also : Governor Released Three Books राज्यपाल ने किया तीन पुस्तकों का विमोचन

Read Also : 40th Covid Vaccination Camp वैद्य केसरदास सेवा समिति ने लगाया हैल्थ चौकअप और 40वॉ कोविड वैक्सीनेशन कैम्प

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular