Homeराज्यहरियाणाभिवानी : बर्खास्त पीटीआई को बहाल कर अपनी गलती सुधारे प्रदेश सरकार...

भिवानी : बर्खास्त पीटीआई को बहाल कर अपनी गलती सुधारे प्रदेश सरकार : सुखदर्शन सरोहा

पंकज सोनी भिवानी :
पिछले सवा वर्ष से स्थानीय लघु सचिवालय के समक्ष धरने पर बैठे बर्खास्त पीटीआई लगातार अपनी बहाली की मांग कर रहे हैं। इस संघर्ष के दौरान उनके कई साथी भी मानसिक तनाव के चलते असामयिक मौत का शिकार हो चुके है, लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से उनकी बहाली का कोई संकेत नहीं मिल रहा है। यह बात स्थानीय लघु सचिवालय के समक्ष जारी बर्खास्त पीटीआई के धरने को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान मा. सुखदर्शन सरोहा ने बर्खास्त पीटीआई के धरने को समर्थन देते हुए कही। वीरवार को 416वें दिन भी बर्खास्त पीटीआई का धरना जारी रहा। इस दौरान धरने की अध्यक्षता उदयभान लोहिया पीटीआई ने की। मा. सुखदर्शन सरोहा ने कहा कि सरकार की बेरूखी व चुप्पी के कारण पिछले सवा वर्ष से बर्खास्त पीटीआई धरने पर बैठे है। इस दौरान बेरोजगारी व महंगाई की मार झेलते हुए बर्खास्त पीटीआई ने आर्थिक व मानसिक रूप से काफी प्रताड़ित हुए हैं। यही नहीं आर्थिक परेशानियां झेलते हुए बर्खास्त पीटीआई भूखे मरने की कगार पर पहुंच चुके है। इस मौके पर हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के जिला प्रधान दिलबाग जांगड़ा ने कहा कि स्कूली स्तर पर अच्छे खिलाड़ी तैयार करने का श्रेय भी पीटीआई को ही जाता है। स्कूली स्तर पर तैयार किए गए खिलाडियों ने कई बार प्रदेश व देश का नाम विश्व भर में रोशन किया है। आज देश की हाकी खिलाडियों ने ओलंपिक में जो मैडल प्राप्त किया है, उनमें बर्खास्त पीटीआई की भी मेहनत छिपी हुई हैं। उन्होंने कहा कि आज भिवानी को खेल नगरी के नाम से जाना जाता है, इसका कही ना कही श्रेय बर्खास्त पीटीआई को भी जाता है, लेकिन फिर भी प्रदेश सरकार ने पीटीआई को बर्खास्त कर 1983 परिवार को भूखा मारने का काम किया, जिसके बाद से ही वे अपनी बहाली की मांग को लेकर संघर्षरत्त हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुखिया भी कई बार बर्खास्त पीटीआई को समायोजि करने का वायदा कर चुके है, लेकिन सीएम स्वयं ही अपने वायदे को भूल चुके है, जिन्हे कई बार विभिन्न प्रदर्शनों के माध्यम से अपना वायदा याद दिलाया जा चुका है, लेकिन फिर भी प्रदेश सरकार की तरफ से उनकी बहाली के कोई संकेत नहीं मिल रहे। उन्होंने चेतावनी भी देते हुए कहा कि यदि जल्द ही उनकी बहाली नहीं हुई तो वे प्रदेश सरकार के खिलाफ आर-पार की लड?े छेड?े को मजबूर होंगे। वीरवार को क्रमिक अनशन पर विरेंद्र मान, विनोद सांगा, सतीश यादव, सुरेंद्र सिंह घुसकानी रहे। इस अवसर पर बसपा जिला प्रधान श्रीभगवान दहिया, रामबीर तिगड़ाना, जरनैल सिंह पीटीआई, विनोद पिंकू, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र दिनोद, कर्मचारी नेता लीलूराम, धर्मबीर सिंह भाटी, सुशील कुमार, प्रवीण भांडवा, अशोक कटारिया, लोकेश कुमार, महेश कुमार, पवन रेवाड़ी, सतीश मेहरा, मनोज कुमार, बलजीत तालु, राजेश श्योराण, राजेश कुमार, राजपाल यादव,ख्सुरेंद्र सिंह, मनोज वैद, मदनलाल सरोहा, सुनील जांगड़ा, अनिल तंवर, मुकेश कुमार सहित अनेक पीटीआई मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular