Homeहरियाणारोहतकप्रॉपर्टी डीलर एवं एडवाइजरी एसोसिएशन की बैठक सम्पन्न

प्रॉपर्टी डीलर एवं एडवाइजरी एसोसिएशन की बैठक सम्पन्न

  • सरकार टुकडों में रजिस्ट्री के नियम पर करे पुर्नविचार : एडवोकेट रमेश खुराना
आज समाज डिजिटल, Rohtak News:
प्रोपर्टी डीलर्ज एवं एडवाइजर्स एसोसिएशन रोहतक के पदाधिकारियों की एक बैठक आज प्रधान एडवोकेट रमेश खुराना की अध्यक्षता में स्थानीय लेबर चौंक स्थित एक निजी होटल में हुई। जिसको संबोधित करते हुए प्रधान रमेश खुराना ने कहा कि हरियाणा सरकार ने प्रोपर्टी डीलर्ज एसोसिएशन व आम लोगों की मांग पर जो टुकडों में बंद रजिस्ट्रीयों को खोलने के लिए जो नियम बनाये हैं।

गरीब व्यक्ति के लिए कठिनाई भरा फैसला 

उन नियमों में 200 स्केयर मीटर के टुकडों की शर्त लगाकर सरकार ने प्रावधान किया है। जोकि आम व गरीब व्यक्ति और जरूरतमंदों के लिए कठिनाई भरा फैसला है। सरकार के इस कदम से गरीब व्यक्ति अगर अपनी जरूरत के लिए भूमि का छोटा टुकडा खरीदना या बेचना चाहता है तो वह चाहकर भी नहीं बेच या खरीद पायेगा।

जायदाद की रजिस्ट्री नहीं करवा सकता

उन्होंने कहा कि सेन्ट्रल रजिस्ट्रेशन एक्ट में कहीं भी ऐसा प्रावधान नहीं है कि कोई व्यक्ति अपनी जायदाद के किसी टुकडे की रजिस्ट्री नहीं करवा सकता। लेकिन हरियाणा सरकार ने मनमर्जी व कुछ अधिकारियों के कहने पर यह नियम लागू कर दिये हैं। जोकि पूरी तरह से जनविरोधी हैं।

गरीब जनता का भला नहीं, बड़े घरानों को लाभ 

प्रोपर्टी डीलर्ज एवं एडवाइजर्स एसोसिएशन ने काफी लंबे समय से सरकार को जगाने का काम किया है लेकिन अब अगर हरियाणा सरकार कुंभकर्णी नींद से जागी भी है और जो फैसला लिया है उससे गरीब जनता का भला नहीं हो पा रहा है। यह सिर्फ बड़े घरानों को लाभ पहुंचाने का फैसला है। जिसमें आम जन को फायदा पहुंचाने की कोई नीति नहीं है।

विकास कार्य भी प्रभावित

सरकार को चाहिए कि वो रजिस्ट्री के संबंध में किसी तरह की पाबंदी ना लगाये और सरकार लोगों को सुविधाएं देने के लिए प्रयास करे। इससे एक तरफ तो प्रोपर्टी की खरीद-फरोख्त में पाबंदी लगेगी वहीं सरकार को भी राजस्व का भारी नुक्सान होगा। जिससे विकास कार्य भी प्रभावित होंगे।
स्टैंप ड्यूटी के रूप में सरकार के पास करोड़ों रूपयों की आमदनी होती है। सरकार जानबूझ कर अपने राजस्व में कमी लाकर राज्य के विकास में कमी लाने का प्रयास ना करे। उन्होंने कहा कि अधिक पाबंदियों से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलता है। अधिकारी पाबंदियों की आड़ में रिश्वत की मांग करते हैं और आम जनता का शोषण करते हैं।
बैठक में मौजूद 
बैठक में मुख्य रूप से मदन लाल कुरड़ा, भीम सेन वधवा, पवन आनंद, कर्मवीर सोलंकी, राजकुमार पुनियानी, अनिल लाठ, पंकज सपड़ा, दिलीप खुराना, अनिल आनंद, रणबीर सिंह मलिक, पम्मी अरोड़ा, रमेश कुमार शर्मा, विनोद सिक्का, संजय खुराना, अनिल अलावादी, कृष्णलाल, सुखविन्द्र सिंह, सतीश कथूरिया, संदीप, अनिल बल्हारा, अशोक सपड़ा आदि मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : कार्तिकेय शर्मा की जीत को लेकर समस्त ब्राह्मण समाज के लोगों ने मुख्यमंत्री का किया धन्यवाद

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular