Homeहरियाणारोहतकराजनीतिक षड्यंत्र से हो रही निजी जमीन कब्जाने की कोशिश : पूर्व...

राजनीतिक षड्यंत्र से हो रही निजी जमीन कब्जाने की कोशिश : पूर्व चेयरमैन यशपाल हुड्डा

  • शासन-प्रशासन व पुलिस को शिकायत देने के बाद भी नहीं हो रही कोई कार्यवाही
आज समाज डिजिटल, Rohtak News:
जिले में भू-माफिया किस तरह से लोगों की जमीन दबाकर उन्हें अपने हिसाब से बेचने के लिए षड्यंत्र रचते रहे हैं। यह किसी से छिपा नहीं है और ऐसे में ये भू-माफिया अपनी राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल कर आम आदमी को परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ते।

17 वर्षों से लगातार परेशान 

ऐसा ही एक मामला गांव रूडक़ी निवासी पूर्व चेयरमैन यशपाल हुड्डा के साथ हुआ। जिनको विधानसभा सचिव एडवोकेट राजेन्द्र कुमार नान्दल अपने गैंग के साथ मिलकर पिछले 17 वर्षों से लगातार परेशान किये हुए है तथा अब यशपाल हुड्डा व उनके परिवार को जान से मारने की धमकियां देकर परेशान किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, डीजीपी, आईजी, पुलिस अधीक्षक सहित आर्य नगर थाने को शिकायतें दी गई लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। यह आरोप पूर्व चेयरमैन यशपाल हुड्डा ने एक पत्रकार वार्ता में लगाये।

1000 वर्ग गज जमीन खरीदी

यशपाल हुड्डा ने कहा कि स्थानीय दिल्ली बाईपास स्थित सागर विला होटल के सामने उनके पिता स्व. रूपचंद हुड्डा ने 18-05-1966 में 1000 वर्ग गज जमीन खरीदी थी। उन्होंने इसके 13 वर्ष बाद इस जमीन पर प्लाटिंग करते हुए आगे बेच दी। जिसमें रामहेर को 300 गज, दलजीत सिंह डागर को 376 व 245 वर्ग गज बेची गई। कुल 921 वर्ग गज जमीन ही बेची गई तथा इसके साथ लगती 79 गज जमीन हमारी पुश्तैनी सम्पत्ति है। इस जमीन के दस्तावेज, इन्तकाल व जमाबंदी सब हमारे नाम हैं व करीब 56 वर्षों से हमारे कब्जे में है। जिस पर आज तक किसी अन्य पक्ष का कोई कब्जा नहीं हुआ है।

मूल रिकार्ड में हेरा-फेरी 

उन्होंने बताया कि वर्तमान विधानसभा सचिव राजेन्द्र कुमार नांदल का परिवार सन 1985 से हमारी इस बची हुई जमीन के पीछे पड़ा हुआ है। वह बची हुई 79 वर्गगज की धोखाधड़ी करते हुए तहसील कर्मचारियों की मिलीभगत से हमारे मूल रिकार्ड में हेरा-फेरी करवाकर 153 वर्ग गज कीफर्जी रजिस्ट्री अपने रिश्तेदारों के नाम करवा चुका है। इन फर्जी रजिस्ट्रीयों में क्रेता के हस्ताक्षर तथा फोटो भी गलत लगे हुए हैं।
जिसके दम पर वह इन झूठे दस्तावेजों के जरिए उन्हें लगातार परेशान करता आ रहा है। राजेन्द्र कुमार नांदल ने इस जमीन को फर्जी तरीके से कई जगह बेचता आ रहा है। इस बारे में पिछले 13 वर्षों से लगातार शिकायत करता आ रहा हूं लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही। इससे उन्हें व उनके परिजनों को जान का खतरा लगातार बना हुआ है।

धोखाधड़ी में शामिल

उन्होंने बताया कि इस धोखाधड़ी में भू-माफिया सिंचाई विभाग के पूर्व एक्सईएन भीम सिंह सांगवान, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के करीबी सुरेन्द्र कुमार गुप्ता, संजीव कुमार, एस.एस. बोर्ड के पूर्व चेयरमैन कि पुत्र अमित चौधरी, पुलिस अधिकारी कृष्ण लाल, वेदपाल, सोमबीर प्रोपर्टी डीलर, कृष्ण कुमार, देवेन्द्र कुमार आदि शामिल हैं। इस घोटाले में उनका साथ देने वाले पुलिस अधिकारी कुलबीर सिंह, कपिल, कुलदीप सिंह व संदीप सिंह आदि शामिल हैं।

घोटाले की जांच करवाकर न्याय दिलवाया जाये 

जिन पर कार्यवाही करने से जिला प्रशासन पीछे हट रहा है तथा कोई कार्यवाही न करके उन्हें मानसिक तौर पर प्रताडि़त कर रहा है। यशपाल हुड्डा ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि इस पूरे घोटाले की जांच करवाकर उन्हें न्याय दिलवाया जाये तथा दोषी अपराधियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाये।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular