HomeहरियाणारोहतकRoadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana: जातिगत टिप्पणी के विरोध में...

Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana: जातिगत टिप्पणी के विरोध में कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

आज समाज डिजिटल, रोहतक:

Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana: रोडवेज एससी एंप्लॉइज संघर्ष समिति आफ हरियाणा के राज्य प्रधान मनोज चहल की अध्यक्षता में परिवहन विभाग के निदेशक वीरेन्द्र दहिया द्वारा यूनियन पदाधिकारियों से तानाशाही रवैये अपनाने एवं जातिवादी टिप्पणियों के विरूद्ध आज सैंकडों कर्मचारियों ने रोहतक डिपो के महाप्रबंधक और उपायुक्त रोहतक को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

Read Also : Kaithal Crime News तीन मजदूरों में विवाद, एक की गंड़ासी से हत्या

बस स्टैंड स्थित यूनियन कार्यालय में इक्कठे हुए सभी कर्मचारी Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana

इससे पूर्व कर्मचारियों की बैठक का मंच संचालन महासचिव संदीप बौद्ध ने किया। सभी कर्मचारी आज दोपहर बस स्टैंड स्थित यूनियन कार्यालय में इक्कठे हुए तथा डिपो में जोरदार रोष प्रदर्शन किया गया और रोडवेज महाप्रबंधक दलबीर सिंह को ज्ञापन सौंपा गया। इसके बाद प्रदर्शन करते हुए कर्मचारी लघु सचिवालय पहुंचे जहां उपायुक्त रोहतक की ओर से जिला पंचायत अधिकारी अजीत सिंह ने ज्ञापन लिया।

Read Also Strike on Khatkar Toll Ends Today 378 दिनों से चल रहा खटकड़ टोल पर धरना आज समाप्त

राज्य प्रधान मनोज चहल ने बताया कि इस प्रदर्शन में कर्मचारी भारी संख्या में शामिल होने के लिए पहुंचे। जिनमें हरियाणा अनुसूचित जाति राजकीय अध्यापक संघ, हरियाणा पॉवर कापोर्रेशन, एससी/बीसी एंप्लॉइज यूनियन, पीजीआई एससी कल्याण संघ तथा यूनिवर्सिटी समेत जिला स्तर के संगठन प्रदर्शन में शामिल हुए।

Also Read : All India Jat Heroes Memorial College में सात दिवसीय एनएसएस शिविर का शुभारंभ

अनुसूचित जाति के कर्मचारियों के अधिकारों का हनन कर रहे अधिकारी Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana

रोडवेज एस सी एंप्लॉइज संघर्ष समिति आॅफ हरियाणा के संरक्षक भगत सिंह सांभरिया एवं हरियाणा अनुसूचित जाति राजकीय अध्यापक संघ के राज्य प्रधान डॉ दिनेश निंबडिया ने कहा कि परिवहन मंत्री के संरक्षण में निदेशक वीरेन्द्र दहिया लगातार अनुसूचित जाति के कर्मचारियों को निशाना बनाये हुए है। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो सरकार अपने आप को दलितों और पिछड़ा वर्ग की हितैषी बताती है दूसरी ओर सरकार के इशारे पर वीरेन्द्र दहिया जैसे अधिकारी अनुसूचित जाति के कर्मचारियों के हक-अधिकारों का सरेआम हनन कर रहे हैं।

Read Also Anganwadi Workers And Helpers Strike सातवें दिन भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का जोरदार प्रदर्शन

आज का प्रदर्शन तो केवल लड़ाई की शुरूआत : आर.के. रंगा Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana

आॅल हरियाणा शैड्यूल्ड कास्ट एम्पलाईज फैडरेशन के राज्य प्रधान आर.के. रंगा ने कहा कि आज का प्रदर्शन तो केवल लड़ाई की शुरूआत है। हरियाणा सरकार जब तक निदेशक विरेन्द्र दहिया के विरूद्ध कार्रवाई नहीं करती हमारा आंदोलन बढता जाएगा। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को चाहे कोई भी कुबार्नी क्यों ना देनी पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे।

Read Also Motivational Messages for Teachers

यह है मामला : Roadways SC Employees Sangharsh Samiti of Haryana

गौरतलब है कि परिवहन विभाग के निदेशक वीरेन्द्र दहिया ने 22 नवंबर को हरियाणा निवास चंडीगढ़ में रोडवेज विभाग की विभिन्न यूनियनों को विभाग की समस्याओं के समाधान के लिए सार्वजनिक मीटिंग बुलाई थी। जिसमें रोडवेज एससी एंप्लॉइज संघर्ष समिति आफ हरियाणा के राज्य के प्रतिनिधि मंडल ने भी राज्य प्रधान मनोज चहल की अध्यक्षता में शिरकत की थी।

Read Also : Human Rights Day Messages 2021

बैठक में तमाम यूनियनों के पदाधिकारियों को सुनने के उपरांत जब रोडवेज एससी एंप्लॉइज संघर्ष समिति आफ हरियाणा के प्रतिनिधि मंडल ने अपनी समस्याओं के संबंध में मांगें रखनी शुरू की तो परिवहन निदेशक विरेन्द्र दहिया ने संगठन के प्रतिनिधि मंडल को उनकी मांगों को सुनने से इंकार कर दिया और संगठन के प्रतिनिधियों को जातिगत आधार पर अपमानित करके बैठक से बाहर निकाल दिया। तभी से यह विवाद गहराया हुआ है जिससे अनुसूचित जाति के कर्मचारियों और समाज में रोष व्याप्त है।

Also Read : Sharjah New Weekend Days : UAE में कर्मचारियों को मिलेगा ढाई दिन का वीक ऑफ, 1 जनवरी 2022 से नया नियम होगा लागू

इस अवसर पर मुख्य रूप से खजान सिंह बडबड, जगबीर कटारिया, राजपाल दहिया, राजकुमार माहला, सुनील कुमार, पवन भालौठ, लक्ष्मी बाई, श्योराम, राजेश खरैंटी, माया राम, विजय कुमार, संजीव करनाल, जसमेर मथाना, कर्मबीर रंगा, कुलदीप सिंह, बलबीर सिंह, मुकेश कुमार, सतीश कुमार आदि सहित सैंकड़ों कर्मचारियों ने अपने विचार रखे तथा रोष प्रदर्शित किया।

Read Also : Scholarship For Disabled Students विकलांग छात्रों के लिए छात्रवृत्ति की घोषणा, 15 दिसंबर तक कर सकेंगे आवेदन

Read Also : Daughter Burdened बेटी बोझ, ढाई माह की नवजात अस्पताल में छोड़ा

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments