Homeराज्यहरियाणारोहतक : प्रकृति संरक्षण से पृथ्वी की प्राकृतिक सुंदरता का संतुलन बनाया...

रोहतक : प्रकृति संरक्षण से पृथ्वी की प्राकृतिक सुंदरता का संतुलन बनाया रखा जा सकता है : डीसी

संजीव कुमार, रोहतक :
दुनिया अपने प्राकृतिक संसाधनों के कारण खूबसूरत है, इसलिए हमें उस बारे में सोचना चाहिए व उसकी सुरक्षा के लिए आगे आना चाहिए। अपनी प्रकृति को संरक्षित करने, प्यार करने और बचाने करने का हम सब का दायित्व बनता है। जलवायु परिवर्तन, ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषण, प्रकृतिक आपदा, धरती का बढ़ता तापमान, मौसम में उतार-चढ़ाव के रूप में देखने को मिल रहा है। ऐसे मे लोगों को प्रकृति संरक्षण के प्रति जागरूक करना जरूरी है। यह विचार आज गौड़ ब्राह्मण डिग्री कालेज में विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस के उपलक्ष्य में कालेज की यूथ रेडक्रास सेल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में रोहतक उपायुक्त व गौड़ ब्राह्मण शिक्षण संस्थाओ के प्रशासक कैप्टन मनोज कुमार ने रखे। उन्होंने कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। उन्होंने कहा प्रकृति संरक्षण से पृथ्वी की प्राकृतिक सुंदरता का संतुलन बनाया रखा जा सकता है लेकिन मनुष्य अपनी जरूरतों के मुताबिक प्रकृति के दोहन में जुटा है। अंधाधुन पेड़ों की कटाई की जा रही है। खनिजों का दुर्पयोग किया जा रहा है। पहाड़ों और पर्यावरण के साथ छड़खानी की जा रही है। कालेज प्राचार्य डा जयपाल शर्मा ने कहा कि हमारा उदेश्य उन जानवरों और पेड़ों का संरक्षण करना होना चाहिए जो पृथ्वी के प्राकृतिक पर्यावरण से विलुप्त होने के कगार पर हैं। स्वस्थ पर्यावरण एक स्थिर और उत्पादक समाज की नींव है और वर्तमान और भविष्य की पीढ़ियों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए, हम सभी को अपने प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा, संरक्षण और स्थायी प्रबंधन के लिए भाग लेना चाहिए। इस मौके पर यूथ रेडक्रास इकाई एक से काउन्सलर तरुण वत्स, मंजू शर्मा, यूथ रेडक्रास इकाई दो से काउन्सलर डा. कपिल कौशिक व मनीषा कौशिक, एसोसिएट प्रोफेसर डा. दलबीर कौशिक, डा. धर्मवीर भारद्वाज आदि मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments