Homeराज्यहरियाणारोहतक : जलभराव से खराब हुई फसलों की गिरदावरी करवाकर मुआवजा दे...

रोहतक : जलभराव से खराब हुई फसलों की गिरदावरी करवाकर मुआवजा दे सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा

संजीव कुमार, रोहतक :
राज्य सभा सांसद दीपेन्द्र हुड्डा आज कलानौर के विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने गांव कबूलपुर में मन्दिर के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने रोहतक समेत पूरे प्रदेश में जलभराव की समस्या पर अपनी गहरी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि पिछले दिनों लगातार हुई बारिश से हुए जलभराव के चलते किसानों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। सरकार जल्द से जल्द फसलों को हुए नुकसान की स्पेशल गिरदावरी करवाकर किसानों को उचित मुआवजा दे। इस दौरान उनके साथ विधायक शकुंतला खटक मौजूद रहीं। उन्होंने कहा कि गांव से लेकर शहरों तक में हालात खराब हैं। बारिश ने बीजेपी सरकार के तामाम विकास के दावों की पोल खोलकर रख दी है। बारिश में सरकार के तमाम दावे और करोड़ों रुपये की लागत से बनी सड़कें बह गये।

रोहतक समेत प्रदेश का ऐसा कोई जिला नहीं बचा होगा जहां लोगों को बारिश के बाद सीवरेज जाम और जलभराव की समस्या का सामना नहीं करना पड़ रहा हो। गुरुग्राम से लेकर पंचकूला और रोहतक से लेकर कैथल तक हर जगह सड़कें, गलियां, मकान, दुकान और वाहनों के जलमग्न होने की खबरें, तस्वीरें लगातार सामने आ रही हैं। लेकिन सरकार पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। प्रदेश में लोगों का इस सरकार से भरोसा उठ चुका है। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि जलभराव से सिर्फ आम जनजीवन ही नहीं बल्कि लोगों के कारोबार पर भी विपरीत असर पड़ रहा है। लंबे-लंबे पावर कट ने लोगों की परेशानी को और बढ़ा दिया है। जलभराव जानलेवा हादसों की भी वजह बन रहा है। स्पष्ट है कि सरकार ने जल निकासी के लिए कोई व्यवस्था नहीं की। हालांकि, कागजों में जलनिकासी के नाम पर कई परियोजनाएं चल रही हैं और उन पर करोड़ों रुपये खर्च करने की बात भी कही जाती है। लेकिन रोहतक समेत पूरे प्रदेश में जलभराव की खबरें और तस्वीरें साफ बता रही हैं कि जलनिकासी परियोजनाओं के नाम पर सिर्फ घोटाले हुए हैं। कई जगह नयी बनी सीवरेज लाइन और सड़कें एक भी बारिश नहीं झेल पाए।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments