Homeराज्यहरियाणारोहतक : रोहतक काठ मंडी को लेकर अपने आश्वासन से मुकर रहे...

रोहतक : रोहतक काठ मंडी को लेकर अपने आश्वासन से मुकर रहे हैं मुख्यमंत्री : बत्तरा

संजीव कुमार, रोहतक :

कांग्रेस विधायक दल के चीफ विहिप एवं विधायक भारत भूषण बतरा ने कहा कि काठ मंडी स्थानांतरण को लेकर मुख्यमंत्री अपने आश्वासन से मुकर रहे हैं। इसका खामियाजा स्थानीय व्यापारियों को उठाना पड़ रहा है। प्रजातंत्र में सबको अपनी आवाज उठाने व अपनी बात रखने का अधिकार है। यह अजीब बात है कि मुख्यमंत्री काठ मंडी के प्रतिनिधिमंडल से मिलने के लिए भी तैयार नहीं हैं। कांग्रेस विधायक दल के चीफ वित्त एवं विधायक भारत भूषण बतरा आज स्थानीय काठ मंडी व्यापारियों से मिलने पहुंचे। काठ मंडी प्रोजेक्ट पर विधायक  बत्तरा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने आश्वासन से मुकर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार के समय यह प्रोजेक्ट बना और डेवलप हुआ । उस समय सैद्धांतिक फैसला लिया गया था कि कोई आक्शन नहीं होगी, सभी लाइसेंस धारक व्यापारियों को उनकी जरूरत के हिसाब से प्लाटों का आवंटन किया जाएगा। सभी मार्केटओं का उस समय सर्वे भी करवाया गया था। वर्तमान सरकार 3 गुना कीमतों पर इ-आक्शन के माध्यम से दुकानदारों के साथ अन्याय कर रही है। वर्तमान में वहां प्लाटों की वास्तविक लागत 10 हजार रूपए भी नहीं है जबकि सरकार रिजर्व प्राइस 36 हजार रूपए निकाल रही है और उसके बाद प्लाट आक्शन की बात कह रही है।

उन्होंने कहा कि वास्तव में उस जगह का रेट काफी कम है। सरकार काफी बढ़े हुए दामों पर उसे व्यापारियों पर थोपना चाह रही है। सरकार को न व्यापारियों की चिंता है और न शहर में बेतहाशा बढ़ रहे ट्रैफिक को नियंत्रित करने की। बत्तरा ने कहा कि जिस समय सेक्टर 18-18 ए और 21-21ए बसाया गया था तो उसका उद्देश्य शहर की सभी मार्कीट सुभाष रोड, मालगोदाम, काठ मंड, हिसार रोड आदी को शिफ्ट करके शहर को पर्यावरण व ट्रैफिक जाम से मुक्त करना था। बत्तरा ने कहा कि सत्ता परिवर्तन कुदरत का नियम है। बहुत जल्द प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी और सभी व्यापारीयो के हक मे सरकार की जो लागत आई है उसके मद्देनजर व्यापारियों की रजामंदी से जायज रेट फिक्स करके उन्हें दुकानें दी जाएंगी। बत्तरा ने कहा कि सरकार का काम व्यापारी की तरह पैसा कमाना नहीं होता। जनहित को देखते हुए मार्किट शिफ्ट होती है और वास्तविक लागत पर प्लाटों का आवंटन किया जाना चाहिए।

इस अवसर पर काठ मंडी एसोसिएशन के प्रधान उमेद सिंह ने विधायक भारत भूषण बत्तरा से आग्रह किया कि वे एक बार फिर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात कर काठ मंडी के व्यापारियों का दर्द उनके सामने रखें और कहें कि सरकार जिद छोड़ कर व्यापारियों के हित में फैसला ले। उमेद सिंह ने कहा कि सरकार के ताजा निर्णय के बाद से व्यापारी बेहद हताश और निराश हैं। सरकार के इस निर्णय में संशोधन की जरूरत है और इसे लेकर हर जगह यह गुहार लगा चुके हैं लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। बत्तरा ने व्यापारियों को आश्वासन दिया कि वे जल्द ही हरियाणा के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर एक बार फिर व्यापारियों की वास्तविक मांग से अवगत कराएंगे और कोशिश करेंगे कि इसका समाधान हो । इस अवसर पर काठ मंडी एसोसिएशन के पूर्व प्रधान ईश्वर दत्त कोषाध्यक्ष पिंकी यादव, योगेंद्र बोस समाजिक कार्यकर्ता, जगदीश बागड़ी, सुनील सिंगला, विजय गुप्ता, दीपक गुप्ता, केशव गर्ग, पवन जिंदल, बंटी, विनोद कुमार, हरि प्रकाश कौशिक, रामचन्द्र आदि व्यापारी प्रमुख रूप से मौजूद थे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments