धीरज चाहर, झज्जर: 
ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा इंदरजीत  की हरियाणा की राजनीति में लंबे सक्रिय भूमिका रही है। उन्होंने कहा पाटोदा में इन सब के सम्मान का मौका मिला जिन्होंने देश की स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका रही है इस आयोजन का मुझे अध्यक्ष बनने का मौका मिला।
ओम प्रकाश  ने कहा श्री राजनाथ के साथ मेरे अच्छे मैत्रीपूर्ण संबंध में और लंबे समय से अहीर रेजिमेंट की बात उठ रही है मैं उनसे मिलूंगा और अहीर रेजिमेंट बनाने की मांग रखूंगा।  ओम प्रकाश  ने कहा हमारा वर्तमान जीवन सुखमय बीते इसके लिए शहीदों ने दिया अपना सर्वोच्च बलिदान।
जब निर्मला सीतारमण रक्षा मंत्री थी और सैनिक स्कूल मतानहैल के लिए जब मैं उनसे मिला तो वह सम्मान मे खड़ी हुई और कहा आप उस मूवी से आए हो जहां के जवानों ने देश के लिए सबसे ज्यादा शहादत दी है।
हरियाणा की  परंपरा है कि जब कोई जवान शहीद होता है तो शहीद जवान का पिता अगर जीवित होता है तो वह अपने पोते के हाथ में तिरंगा थमा कर कहता है कि बेटा सेना में भर्ती होकर के देश की सेवा करनी है।