Homeराज्यहरियाणाबिलासपुर : मिलावटी गुड़ बनाने वाले क्रेशर पर छापेमारी

बिलासपुर : मिलावटी गुड़ बनाने वाले क्रेशर पर छापेमारी

चैहल, बिलासपुर :
मंगलवार को एस.डी.एम बिलासपुर के निर्देश पर तहसीलदार छछरौली तरूण सहोता की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने मिलावटी गुड़ बनाने वाले केन क्रेशर पर छापेमारी की। पहले दिन क्रेशर संचालकों को चेतावनी देकर छोड़ा गया। उन्होंने कहा कि कोई भी के्रशर मालिक मिलावटी गुड़ बनाते पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उसका लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश की जाएगी।


अखिल भारतीय किसान सभा व अन्य किसान अरसे से बिलासपुर व छछरौली क्षेत्र में घटिया किस्म की चीनी से मिलावटी गुड़ तैयार करने वालों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। सोमवार को सभा के सदस्यों ने एस.डी.एम बिलासपुर को सी.एम के नाम ज्ञापन सौंप कर मिलावटी गुड़ बनाने पर रोक लगाने की मांग की थी। इसका कड़ा संज्ञान लेते हुए एस.डी.एम बिलासपुर जसपाल सिंह गिल ने छछरौली तहसीलदार की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित करने के निर्देश दिए। जिसमें स्वास्थ्य विभाग ,फूड सप्लाई विभाग, आर.टी.ए व पुलिस के अधिकारियों को शामिल किया गया है। पहले दिन कार्रवाई करते हुए कमेटी ने केन के्रशर में बन रहे गुड़ के सेंपल लिए। उन्हें घटिया चीनी के इस्तेमाल से गुड़ न बनाने के लिए कहा गया। कमेटी सदस्यों ने बताया कि कुछ क्रेशर संचालकों ने लिखित में दिया है कि वे मिलावटी गुड़ नहीं बनाएंगे। अन्य को चेतावनी दी गई। तहसीलदार छछरौली तरूण सहोता ने बताया कि शिकायत मिली थी कि क्षेत्र व आसपास के कुछ क्रेशर संचालक पुराने गुड़ में घटिया चीनी मिलाकर नया गुड़ तैयार कर राजस्थान व पंजाब में सप्लाई करते हैं। यह गुड़ स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसलिए कार्रवाई की गई। उन्होंने बताया कि आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। किसी को आमजन के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। वही के्रशर संचालकों ने कहा कि यह गुड़ पशुओं के खाने व अन्य वस्तुओं में प्रयोग के लिए बनाया जा रहा हैं। इसे यहां पर नही बेचा जाता।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments