Wednesday, December 1, 2021
Homeराज्यहरियाणाजनकल्याण ही प्रदेश सरकार का एकमात्र लक्ष्य : राजेन्द्र गर्ग

जनकल्याण ही प्रदेश सरकार का एकमात्र लक्ष्य : राजेन्द्र गर्ग

गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत 74 नि:शुल्क रसोई गैस के कनेक्शन किए प्रदान
आज समाज डिजिटल, बिलासपुर:
खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजेंद्र गर्ग ने कहा कि प्रदेश सरकार लोगों के कल्याण के लिए अंतिम व्यक्ति तक सरकार की जनकल्याणकारी योजनाएं पहुंचाने के लिए प्रयासरत है तथा जनकल्याण ही प्रदेश सरकार का एकमात्र लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि गृहिणी सुविधा योजना के तहत महिलाओं को नि:शुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाना, वृद्धजनों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करवाना तथा हिम केयर योजना सरकार के कुछ ऐसे कदम है जिससे जनकल्याण के लक्ष्य की पूर्ति की जा रही है। वे मंगलवार को बिलासपुर के घुमारवीं की पनोह पंचायत में गृहिणी सुविधा योजना के तहत 74 नि:शुल्क रसोई गैस के कनेक्शन प्रदान करने के दौरान आयोजित समारोह में संबोधित कर रहे थे। गर्ग ने कहा कि गृहिणी सुविधा योजना के तहत 2019 से अब तक प्रदेश में 3.19 लाख गृहिणियों को मुफ्त रसोई गैस के कनेक्शन प्रदान किए जा चुके हैं। हिमाचल देश का ऐसा पहला राज्य है जो धुआं मुक्त है और जहां सभी घरों को गैस उपलब्ध करवा दी गई है तथा शेष बचे हुए 14000 लोगों को गैस वितरण का कार्य किया जा रहा है। सभी लाभार्थियों को गैस का एक रिफिल सिलेंडर भी मुफ्त प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 65 वर्ष से 69 वर्ष की महिलाओं को बिना किसी आय प्रमाण पत्र के 1000 रुपए प्रति माह सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है तथा 70 वर्ष से ऊपर की सभी महिलाओं व बुजुर्गों को 1500 रुपए मासिक पेंशन प्रदान की जा रही है और प्रदेश के हजारों लोगों को इससे लाभ पहुंच रहा है।
प्रदेश सरकार ने अनेक योजनाएं आरंभ कीं
राजेंद्र गर्ग ने कहा कि महिला सशक्तिकरण व समाज कल्याण के लिए के लिए प्रदेश सरकार द्वारा अनेक योजनाएं आरंभ की गई है। मुख्यमंत्री शगुन योजना के तहत बेटी की शादी पर आईआरडीपी के परिवारों को 31 हजार रुपए शगुन के रूप में दिए जा रहे हैं। वहीं, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत दी जाने वाली 40 हजार रुपए की राशि को बढ़ाकर 51 हजार रुपए कर दिया गया है। इसी प्रकार, बेटी है अनमोल योजना के तहत 12 हजार रुपए की जो एफडी दी जाती है उसे अब 21000 रुपए कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा हिम केयर योजना आरंभ की गई है और अभी तक इस योजना के तहत एक करोड़ 61 लाख रुपए खर्च किए जा चुके हैं। हिम केयर योजना से गरीब मजदूर आईआरडीपी परिवारों के सदस्य, मनरेगा कामगार आदि लोगों को 5 लाख रुपए तक का चिकित्सा खर्च प्रदान किया जा रहा है।
जनकल्याण के कार्य निरंतर तीव्र गति से किए जा रहे
खाद्य, नागरिक उपभोक्ता मामले मंत्री ने कहा कि घुमारवीं क्षेत्र में जनकल्याण के कार्य निरंतर तीव्र गति से चलाए जा रहे हैं। पनोह से मोरसिंघी तक सड़क निर्माण पर 10 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। ग्राम पंचायत पनोह की प्रधान शर्मिला ठाकुर द्वारा पंचायत की बिजली तथा फुट ब्रिज आदि समस्याओं के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि सारटी और फटोह में 63 केवी के सब स्टेशन का कार्य आरंभ हो गया है इससे क्षेत्र की वोल्टेज की समस्या से भी निजात मिलेगा। उन्होंने फोरलेन पर फुट ब्रिज के निर्माण के लिए फोरलेन अधिकारियों के साथ बातचीत कर समस्या को सुलझाने का आश्वासन दिया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments