Homeराज्यहरियाणाकरनाल : कोरोना की तीसरी लहर से लडने की तैयारी

करनाल : कोरोना की तीसरी लहर से लडने की तैयारी

प्रवीण वालिया, करनाल :
देशभर में कोरोना महामारी की द्वितीय लहर के भयानक रूप को देखने के बाद आशंकाएं जताई जा रही हैं कि कोरोना की तीसरी लहर भी देश में आ सकती है जो फिर से देश में भयावह स्थिति पैदा कर सकती है। कोरोना की इस तीसरी लहर से लडने के लिए सरकार व संस्थाएं पहले से ही तैयारी में जुट गए हैं। जिसमें कोरोना की तीसरी लहर से मुकाबले के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी अपनी तैयारी तेज कर दी है। जिसके चलते करनाल में हर गांव, बस्ती स्तर पर 5 से 6 लोगों को प्रशिक्षण देकर आरोग्य मित्र तैयार किए जाएंगे जो लोगों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराएंगे।
जिला प्रशिक्षण प्रमुख डा. अशोक जागलान ने इस प्रशिक्षण शिविर की जानकारी देते हुए कहा कि आरोग्य मित्र प्रशिक्षण शिविर का आयोजन सेवा भारती के सेवाश्री आश्रम में किया जा रहा है। इस शिविर का उद्घघाटन वरिष्ठ समाजसेवी और आर्य केंद्रीय सभा के महामंत्री स्वतंत्र कुकरेजा द्वारा तथा आए हुए वरिष्ठ एवं प्रबुद्ध समाजसेवकों द्वारा भारत माता के चित्र के समक्ष दीपशिखा प्रज्वलित कर किया गया। प्रशिक्षण शिविर के उद्घघाटन सत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह प्रान्त प्रचारक डॉ. सुरेन्द्र पाल ने करनाल जिला से आए विभिन्न कार्यकतार्ओं एवं अन्य सामाजिक संगठनों से आए समाजसेवियों को द्वितीय लहर में स्वयंसेवकों द्वारा किए गए विभिन्न सेवाकार्यों की जानकारी दी और कोरोना की सम्भावित तृतीय लहर पर विजय प्राप्त करने हेतु कार्यकतार्ओं के प्रशिक्षण प्राप्त करने के महत्व के बारे में विस्तार से चर्चा की और आए हुए सभी कार्यकतार्ओं, आरोग्य मित्रों से नि:स्वार्थ भाव से बढ़चढ़ कर समाज की सेवा करने का आह्वान किया।
डा. अशोक जागलान ने बताया कि करनाल जिला में लगभग 4 हजार आरोग्य मित्र तैयार किए जाएंगे और आज इस प्रशिक्षण की प्रथम कड़ी में 90 आरोग्य मित्रों को प्रशिक्षण दिया गया है, जो जिला के अन्य खंड स्तर और गाँव व बस्ती स्तर पर जाकर अपनी टीम बनाकर आरोग्य मित्र तैयार करेंगे। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, करनाल के जिला कार्यवाह महेंद्र नरवाल ने बताया कि करनाल में 8 खंड, 4 नगर, कुल 12 इकाई हैं। खण्डों में 49 मंडल और नगरों में 57 बस्तियां आती हैं। प्रत्येक गांव और बस्ती स्तर पर स्वयंसेवकों तथा सेवाभावी नौजवानों को प्रशिक्षण देकर आरोग्य मित्र बनाया जाएगा, जो समय आने पर गांव व बस्ती के लोगों को समय पर बेहतर सुविधा उपलब्ध कराएंगे। पांच सत्रों में आयोजित इस प्रशिक्षण शिविर में डा. अशोक जागलान, डा. तीर्थांकर देब, कपिल अत्रेजा, डा. मनोज विरमानी, भीष्म सिंह ने कार्यकतार्ओं को कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर की जानकारी, कोरोना महामारी से लोगों का बचाव कैसे करना है, कोरोना से पीड़ित मरीज की सेवा किस प्रकार करनी है, आम जनता की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाई जाए, विभिन्न मेडिकल उपकरणों की जानकारी एवं उनको किस प्रकार प्रयोग किया जाता है और साथ ही क्या-क्या अन्य विशेष प्रबन्ध करने हैं आदि विषयों पर विस्तार से बताया। उन्होंने शिविर में कार्यकतार्ओं को आक्सीजन सिलेंडर, आॅक्सिजन कंसनट्रेटर, पीपीई किट, आक्सीमीटर, स्टीमर आदि के सही उपयोग को पीपीटी के माध्यम से विस्तार से प्रशिक्षण दिया। इस प्रशिक्षण शिविर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कुरुक्षेत्र विभाग के संघचालक सुधीर कुमार, जिला संघचालक डा. भरत ठाकुर, सह जिला संघ चालक महिपाल सिंह, विकास यादव, पवन देव, बिक्रम कुमार, प्रणव जावा, एडवोकेट कैलाश चौहान, एडवोकेट अभिषेक नागपाल, राजेश लाम्बा आदि मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments