Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : सड़क का निर्माण न होने से खफा लोगों ने निगम...

यमुनानगर : सड़क का निर्माण न होने से खफा लोगों ने निगम प्रशासन को एक माह का दिया अल्टीमेटम

लक्की सिंह, यमुनानगर :
नगर निगम महापौर द्वारा चार माह पहले रामपुरा-ग्रीन पार्क श्मशान घाट रोड का निरीक्षण करने के बावजूद अब तक सड़क निर्माण का कार्य आरंभ न होने से खफा कालोनी वासियों ने संघर्ष का रास्ता अख्तियार करने का मन बना लिया है। सोसाइटी ने निगम अधिकारियों को 1 माह का अल्टीमेटम देते हुए चेतावनी दी है कि अगर इस दौरान निर्माण कार्य आरंभ नहीं हुआ तो कारपोरेशन के समक्ष प्रदर्शन किया जाए।
रविवार रात ग्रीन पार्क वेलफेयर सोसायटी की बैठक हरप्रीत सिंह उर्फ रोमी के निवास स्थान पर संपन्न हुई। बैठक में ग्रीन पार्क की समस्याओं पर चर्चा की गई। साथ ही अप्रैल माह में नगर निगम महापौर को अवगत करवाई गई समस्याओं बारे हुई प्रगति की भी जानकारी दी गई। सोसायटी प्रधान देवेंद्र मेहता, महेश सिंघल, बलदेव पंवार व दिनेश कोहली ने बताया कि अप्रैल माह में हुई बैठक में जिन समस्याओं को उठाया गया था उनका खुद संज्ञान लेते हुए महापौर मदन चौहान ने पार्टी जिला अध्यक्ष राजेश सपरा, वार्ड की पार्षदा भावना बिट्टू के पति एवं पूर्व पार्षद पवन बिट्टू एवं पार्षद सुरेंद्र शर्मा को लेकर खस्ता हालत श्मशान घाट रोड का निरीक्षण किया था। इस दौरान मेयर ने मौके पर ही निगम के जूनियर इंजीनियर को बुलाया और श्मशान घाट सड़क का निर्माण कार्य जल्द एस्टीमेट बनाकर आरम्भ करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया कि आज 4 माह बीत जाने के बावजूद अब तक सड़क का निर्माण कार्य आरंभ नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां सड़क की खस्ता हालत है वहीं बरसात में इस सड़क पर पानी जमा हो जाता है जिस कारण आवागमन में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बताया कि इसी मार्ग से रामपुरा, कमला नगर, बृजपुरी, ग्रीन पार्क, मधु कालोनी, करतार पुरा कालोनियों व साथ लगती अन्य कालोनियों के लोग अपने शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए जाते हैं लेकिन खस्ता हालत सड़क होने के कारण उन्हें इस मार्ग से शव ले जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।
सोसाइटी से जुड़े एसपी सैनी, नरेश अग्रवाल, अशोक मक्कड़, पुष्पेंद्र बहल, अरुण कपिल, नरेश नागपाल ने बताया कि कालोनी में निगम का कोई भी सफाई कर्मचारी नहीं आता है जिस कारण गंदगी रहती है इस बारे महापौर को अवगत करवाया गया था लेकिन अब तक सफाई कर्मचारी की ड्यूटी नहीं लगी है। कालोनी निवासी देवकीनंदन मेहता, सुरेंद्र सिंह व नितेश मित्तल ने बताया कि कालोनी में आवारा कुत्तों की भरमार है जो आने जाने वाले लोगों को ना केवल काटते हैं बल्कि कालोनी में गंदगी को भी बढ़ाते हैं। इन कुत्तों को कॉलोनी से बाहर ले जाने की मांग काफी समय से की जा रही है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। इसके अलावा कालोनी में खाली पड़े प्लाट कालोनी वासियों के लिए जी का जंजाल बने हुए हैं। इन खाली प्लाटों में जंगली घास व पौधे लगे हुए हैं और इनमें कई प्रकार के जीव जंतु भी है। इन खाली प्लाटों का सहारा लेकर कई बार अपराधी भी घटना को अंजाम देते हैं।
उन्होंने बताया कि चार माह बाद भी इन समस्याओं का समाधान ना होने के चलते सोसाइटी ने नगर निगम प्रशासन को 1 माह का और समय देने का निर्णय लिया है अगर एक माह में सड़क का निर्माण कार्य आरंभ नहीं हुआ व अन्य समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो कालोनी वासी कारपोरेशन के समक्ष प्रदर्शन करेंगे जिसकी जिम्मेवारी निगम प्रशासन की होगी। इस संबंध में जल्दी ही चेतावनी पत्र नगर निगम महापौर मदन चौहान को सौंपा जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments