Homeहरियाणापानीपतबिजली चोरी करना कानूनन अपराध, इसमें जुर्माना और सजा का प्रावधान

बिजली चोरी करना कानूनन अपराध, इसमें जुर्माना और सजा का प्रावधान

  • 14 दिनों में निगम की टीम ने पकड़ी 79 लाख रुपए की बिजली चोरी, 54 लाख रुपये की रिकवरी

    आज समाज डिजिटल, पानीपत:
    उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम, पानीपत सर्कल के अधीक्षक अभियंता धर्मवीर छिक्कारा ने बताया कि बिजली निगम अपने उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली आपूर्ति करने और लाइन लॉसेस को कम करने में निरंतर प्रयासरत है।

जुर्माना और सजा का प्रावधान

बिजली निगम की संयुक्त टीम द्वारा समय-समय पर बिजली चोरी रोकने का अभियान चलता रहता है। बिजली निगम द्वारा चोरी बताने वाले का नाम आदि गुप्त रखा जाता है। बिजली चोरी करना कानूनन अपराध, इसमें जुर्माना और सजा का प्रावधान है। निगम के अधीक्षक अभियंता धर्मवीर छिक्कारा ने बताया कि निगम की संयुक्त टीम ने 14 दिनों में सिटी मॉडल टाऊन, सनौली रोड़, मतलौडा , इसराना, समालखा बिहोली, छाजपूर, बापौली में 79 लाख 70 हजार रुपए की बिजली चोरी पकड़ी गई है। बिजली चोरी कर रहे उपभोक्ताओं द्वारा जुर्माने के 54 लाख रुपए जमा किए जा चुके हैं । इस अभियान से बिजली निगम के टेक्निकल एवं डिस्ट्रीब्यूशन लॉस कम करने में सहायता मिली है।

लक्षित चोरी का पता लगाने का अभियान

अधीक्षक अभियंता धर्मवीर छिक्कारा ने बताया कि बिजली निगम की संयुक्त जांच टीम द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में जांच के दौरान 296 बिजली उपभोक्ताओं की जांच की गई तो 231 उपभोक्ता चोरी करते हुए पकड़े गए। इनके खिलाफ 231 एफआईआर दर्ज करवाई गई हैं। ज्यादा हानि वाले फीडरों पर गहन और लक्षित चोरी का पता लगाने का अभियान जारी है। अधीक्षक अभियंता धर्मवीर छिक्कारा ने बताया कि वितरण प्रणाली में तकनीकी सुधार कर और चोरी का पता लगाकर तकनीकी और वितरण हानियों को काफी कम किया है। निगम टी एंड डी घाटे को रोकने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण अपना रहा है। मौजूदा वितरण नेटवर्क का तकनीकी संवर्धन, तकनीकी नुकसान को कम करने के लिए एचटी से एलटी अनुपात बढ़ाना और अधीक्षक अभियंता ने बताया कि बिजली चोरी का बकाया जुर्माना जिन्होंने अभी तक जमा नहीं किया है उन उपभोक्ताओं पर पुलिस एवं कानूनी कार्रवाई की जा रही है। रिकवरी के लिए बिजली निगम द्वारा एफआईआर दर्ज करवाई गई हैं। अधीक्षक अभियंता ने बताया कि बिजली चोरी करना कानूनन अपराध है। बिजली चोरी पर जुर्माना और सजा का प्रावधान है। इसे खत्म करने में सभी का सहयोग अपेक्षित है। निगम द्वारा बिजली चोरी को रोकने के लिए एक एक्स वाई जैड पोर्टल भी बनाया गया है।
कोई भी व्यक्ति यदि किसी को बिजली चोरी करते हुए देखता है तो वह बिजली निगम के टोल फ्री नंबर 18001801011 पर या व्हाट्स ऐप नंबर 7027008325 पर जानकारी देकर बिजली चोरी रोकने में अपना योगदान दे सकता है। कोई भी प्रात: 9 बजे से रात के 9 बजे तक किसी भी कार्य दिवस पर चोरी की सूचना दे सकता है।

ये भी पढ़ें : देशबंधु गुप्ता कॉलेज में विश्व ओजोन दिवस पर पौधारोपण

ये भी पढ़ें : एसडीएम वीरेंद्र ढुल ने किया मिड डे मील चेक

ये भी पढ़ें : टीबी मुक्त भारत अभियान में विधायक ने 10 रोगियों को लिया गोद

ये भी पढ़ें : पेंटिंग में कृतिका और स्लोगन लेखन में प्रिया प्रथम

ये भी पढ़ें : इंग्लैंड में कराटेबाजों को मात दे ज्योति ने जीती चांदी, गांव में स्वागत

 Connect With Us: Twitter Facebook

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular