Homeहरियाणापानीपतपानीपत पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता - फर्जी मार्कशीट बनाने वाले...

पानीपत पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता – फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार

आज समाज डिजिटल, पानीपत:
एसपी शशांक कुमार सावन के कुशल मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए सीआईए-टू पुलिस की टीम ने मुक्त विधालय शिक्षा परिषद हरियाणा की 10वी व 12वी कक्षा की फर्जी मार्कशीट बनाकर लाखो रूपए की ठगी करने वाले गिरोह के सरगना पवन राणा निवासी भरत कॉलोनी रोहतक को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। आरोपी के कब्जे से 6 दिन के पुलिस रिमांड के दौरान 10वी व 12वी कक्षा की फर्जी 111 मार्कशीट, 51 माईग्रेशन सर्टिफिकेट, 44 मोहर, 1 प्रिंटर, 1 लेपटाप व ठगी के 50 हजार रुपए बरामद कर रिमांड अवधी पूरी होने पर पुलिस टीम ने आरोपी पवन को आज माननीय न्यायालय में पेश किया जहा से उसे न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया।

वर्ष 2014 में नौकरी से बर्खास्त हो गया था आरोपी

सीआईए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र ने बताया आरोपी से की गई पुलिस पुछताछ में खुलासा हुआ आरोपी पवन राणा वर्ष 2004 में हरियाणा पुलिस में भर्ती हुआ था। लम्बे समय तक गैर हाजिरी होने के कारण वर्ष 2014 में नौकरी से बर्खास्त हो गया। आरोपी ने वर्ष 2011 में फिट जी काउंसिल स्कूल ऐजुकेशन के नाम से सोसाईटी रजिस्टर्ड करवाई थी। जिसका वर्ष 2016 में नाम बदलकर काउंसिल ऑफ स्कूल ऐजुकेशन रख लिया। रोहतक सैक्टर 3 में ऑफिस खोलकर हरियाणा बोर्ड ओपन के फार्म भरवाकर बच्चो के पेपर करवाने लगा। इसमें बचत कम होने के कारण आरोपी ने पानीपत की भाटिया कॉलोनी निवासी हरिश मित्तल व दो अन्य साथियों के साथ (जो सभी हरियाणा बोर्ड ओपन के फार्म भरवाकर बच्चो के पेपर करवाते थे) मिलकर योजना बनाई और इस फर्जी वाड़े की वारदात को अंजाम देना शुरू कर दिया।

700 फर्जी मार्कशीट तैयार कर लाखों रूपए लेकर गिरोह के सदस्यों को दे चुका है

आरोपी पवन राणा सोसाईटी के कार्यालय की आड़ में मुक्त विधालय शिक्षा परिषद हरियाणा की 10वी व 12वी कक्षा की फर्जी मार्कशीट पूर्व व वर्तमान तिथि की तैयार कर गिरोह के सदस्यों को देता था। आरोपी से पुछताछ में खुलासा हुआ कि वह अब तक करीब 700 फर्जी मार्कशीट तैयार कर लाखों रूपए लेकर गिरोह के सदस्यों को दे चुका है। आगे गिरोह के सदस्य भोले भाले लोगो को झांसे मे लेकर लाखों रूपए में बेचते थे।

आरोपी हरिश मित्तल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया था

थाना पुराना औधोगिक में बलवान पुत्र जंगशेर निवासी बीबीपुर कुरूक्षेत्र ने 10 मई को शिकायत देकर बताया था कि वह करनाल टोल प्लाजा पर प्राईवेट नौकरी करता है। उसे 12वी कक्षा की मार्कशीट की जरूरत थी। 3 महीने पहले उसे पता चला की पानीपत में रामलाल चौक पुरानी कोर्ट रोड पर ग्लोबल एजुकेशन के नाम से ऑफिस है, जहा पर ओपन की परीक्षाए करवाई जाती है। वह ऑफिस में गया जहाँ पर हरिश मित्तल नाम का युवक मिला। उसने हरिश मित्तल को बताया वह बाहरवी कक्षा करना चाहता है और पेपर देने के लिए तैयार है। हरिश ने दस्तावेज, आधार कार्ड, फोटो इत्यादी के अतिरिक्त डेढ लाख रूपए खर्च बताया। विश्वास करते हुए अगले दिन दोस्त टिंकू निवासी मतलोडा के साथ वह ऑफिस में गया और हरिश को सारे दस्तावेज व डेढ लाख रूपए दे दिए। हरिश ने दो महिने बाद आकर मिलने बारे कहा।

मार्कशीट की जांच करवाई तो कहीं पर कोई रिकार्ड नहीं मिला

दो महिने बाद वह ऑफिस में गया तो हरिश ने उसे मुक्त विधालय शिक्षा परिषद हरियाणा की बाहरवी कक्षा की मार्कशीट थमा दी। उसने हरिश से पुछा पेपर तो हुए नही तो हरिश ने जवाब देते हुए कहा की कोई दिक्कत नही मार्कशीट असली है कही भी चौक करवा लेना। उसने मार्कशीट की जांच करवाई तो कहीं पर कोई रिकार्ड नहीं मिला। मार्कशीट फर्जी निकली। आरोपी ने साथियों के साथ मिलकर शड़यत्र के तहत पैसे हड़पने के लिए उसको फर्जी मार्कशीट तैयार कर दे दी। बलवान की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ थाना पुराना औधोगिक में आईपीसी की धारा 420,467,468,471,120बी के तहत मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाही अमल में लाई गई थी।

अवैध काम को पिछले करीब 5 साल से कर रहा था

इंस्पेक्टर वीरेंद्र ने बताया पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के संज्ञान में उक्त मामला आते ही उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच व आरोपियों की धरपकड़ की जिम्मेवारी सीआईए टू पुलिस टीम को सौंपी थी। सीआईए टू पुलिस ने आरोपी हरिश के विभिन्न ठीकानों पर दबिश देते हुए 16 मई को आरोपी हरिश को काबू कर गहनता से पुछताछ की तो आरोपी से खुलासा हुआ था कि वह रामलाल चौक पुरानी कोर्ट रोड पर ग्लोबल एजुकेशन के नाम से ऑफिस कर उक्त अवैध काम को पिछले करीब 5 साल से कर रहा था।

भोले भाले लोगो को झांसे मे लेकर लाखों रूपए में देता था

रोहतक में पवन राणा से मुक्त विधालय शिक्षा परिषद हरियाणा नाम से जारी 10वी व 12वी कक्षा की फर्जी मार्कशीट 5/6 हजार रूपए में तैयार करवा भोले भाले लोगो को झांसे मे लेकर लाखों रूपए में देता था। आरोपी 70 के करीब फर्जी मार्कशीट लाखों रूपए लेकर भोले भाले लोगो को दे चुका था। आरोपी से 5 दिन के पुलिस रिमांड के दौरान 10 फर्जी मार्कशीट, 9 माइग्रेशन सर्टिफिकेट व ठगी के 50 हजार रूपए बरामद कर रिमांड अवधि पूरी होने पर आरोपी को न्यायिक हिरासत जेल भेजने के बाद गिरोह के सरगना आरोपी पवन राणा की धरकपड़ के लिए पुलिस टीम उसके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही थी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular