Homeहरियाणापानीपतश्रीमद्भगवद्गीता समझने वाले के लिए कुछ भी कठिन नहीं: कंवर रविंद्र

श्रीमद्भगवद्गीता समझने वाले के लिए कुछ भी कठिन नहीं: कंवर रविंद्र

आज समाज डिजिटल, पानीपत:
कृष्णपुरा स्थित सदानंद बाल विद्या मंदिर सीसे स्कूल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें एमजे आर महात्मा ज्योतिराव संस्थान के महाप्रबंधक, आॅल इंडिया सैनी सेवा समाज के अध्यक्ष और श्री कृष्ण कृपा जिओ गीता पानीपत के सेवा प्रमुख कंवर रविंद्र सैनी ने विद्यालय की प्रधानाचार्य सुधा आर्य, स्कूल प्रबंधक राकेश सैनी के साथ-साथ सभी अध्यापकों को श्रीमद्भगवद् गीता भेंट की।

जिंदगी में विद्यार्थी जीवन की नीव

Nothing Is Difficult For One Who Understands Shrimad Bhagavad Gita
Nothing Is Difficult For One Who Understands Shrimad Bhagavad Gita

इस मौके पर कंवर रविंद्र सैनी ने कहा कि जीवन में मिलने वाली सफलता की नींव विद्यार्थी जीवन काल में रखी जाती है। भविष्य को जिस दिशा में भी ले जाना चाहते हैं उसकी पटकथा विद्यार्थी जीवन में ही तैयार हो जाती है। इसीलिए विद्यार्थी जीवन को अत्यंत महत्वपूर्ण माना है। श्रीमद्भगवद् गीता की मानें तो विधार्थी जीवन बदलाव के प्रबल समर्थक होता हैं। विद्यार्थी जीवन काल में जो कुछ भी सीखते हैं, उसका प्रतिबिंब उसकी सफलता में झलकता है। इसीलिए विद्यार्थी जीवन में नियम और अनुशासन का विशेष महत्व बताया गया है। श्रीमद्भगवद् गीता भी हमें यही बताती है। जीवन में जिसने श्रीमद्भगवद् गीता को समझ लिया उसके लिए कोई भी लक्ष्य और मार्ग कठिन नहीं है।

साधना से कम नहीं है शिक्षा

इस मौके पर प्रधानाचार्य सुधा आर्य ने विद्यार्थियों से कहा कि शिक्षा ग्रहण करना किसी साधना से कम नहीं है। जिस प्रकार से साधना को सिद्ध करने के लिए कठोर तप करना होता है, उसी प्रकार से शिक्षा ग्रहण करने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए। शिक्षा को प्राप्त करने के लिए कठोर से भी कठोर परिश्रम करना पड़े तो करना चाहिए। शिक्षा प्राप्त तभी होती है जब विद्यार्थी में सच्ची लगन हो। गीता सार भी हमें यही बताता है। विद्यालय प्रबंधक राकेश सैनी ने कंवर रविंद्र सैनी का विद्यालय में पंहुचने और सभी को श्रीमद्भगवद् गीता प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया। इस मौके पर विद्यालय के प्रबंधक राकेश सैनी, चिराग छाबड़ा, श्रीनाथ पांडे, रामदरश, आशुतोष, प्रवीण, विक्रम, शीना आहूजा, दिव्या, कोमल, सोनिया, चंचल आदि विशेष रूप से मौजूद रहे।

Connect With Us: Twitter Facebook

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular