Homeहरियाणापानीपतजिला के एक गांव के सरकारी स्कूल टीचर पर छात्रा से छेड़छाड़...

जिला के एक गांव के सरकारी स्कूल टीचर पर छात्रा से छेड़छाड़ के संगीन आरोप 

आज समाज डिजिटल, Panipat News :
पानीपत। शहर के सेक्टर 13-17 थाना क्षेत्र के एक गांव के सरकारी स्कूल से बड़ी वारदात सामने आई है। जहां एक टीचर पर छात्रा से छेड़छाड़ के संगीन आरोप लगे हैं। आरोप है कि समाजिक के टीचर ने समझाने के बहाने आठवीं कक्षा की छात्रा से छेड़छाड़ की है। इस पर स्कूल में बवाल मच गया। काफी संख्या में ग्रामीण स्कूल में इकट्‌ठा हो गए। उन्होंने स्कूल में जमकर हंगामा किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत स्कूल प्राचार्या ने शिक्षा अधिकारी के आदेशानुसार आरोपी टीचर को लीव विद आउट पेय पर भेज दिया है। वहीं, जिला शिक्षा अधिकारी ने पूरे मामले की रिपोर्ट के साथ दोनों पक्षों को सोमवार को अपने कार्यालय में बुलाया है।

परिवार की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई

पीड़ित छात्रा या उनके परिवार की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई है। मगर, ग्रामीणों ने एक शिकायत चिट्‌ठी लिखकर मामले की जांच की गुहार लगाई है। फरीदपुर गांव के राजकीय माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्या ने सुनीता चौधरी ने बताया कि 4 अगस्त को वह मीटिंग में गई थी। जाने से पहले वह आठवीं कक्षा को पढ़ाने की जिम्मेदारी अध्यापक राजेश कुमार को सौंप गई थी। दोपहर ढाई बजे उनके मोबाइल फोन पर स्कूल में इकट़्ठा हुई भीड़ की वीडियो आई। वीडियो देखने के बाद उन्होंने स्कूल स्टाफ से संपर्क किया और मामले की जानकारी ली। इसके तुरंत बाद वह स्कूल पहुंची। जहां पहुंचने पर दोनों पक्षों को सुना।

टीचर को स्कूल से निलंबित करने व कार्रवाई करने की मांग की

वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ने तत्काल फोन पर बच्ची और उनके परिजनों से संपर्क किया। जिस दौरान बच्ची ने बताया था कि टीचर ने उसके साथ छेड़छाड़ की है। हालंकि, स्कूल में पूर्व सरपंच भी पहुंचे थे। मामला किसी तरह शांत करवाया गया था। खंड शिक्षा अधिकारी शुक्रवार सुबह स्कूल पहुंचे। जहां उन्होंने आज दोनों पक्षों से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान स्कूल में आज भी ग्रामीण आ गए। जिन्होंने वहां टीचर पर अनेकों तरह के आरोप लगाते हुए उसे स्कूल से निलंबित करने व कार्रवाई करने की मांग की। जिसके बाद आरोपी टीचर का आज का हॉफ डे लगाते हुए उसे डेढ दिन की छुट्‌टी पर भेज दिया गया है। उसे इन छुट्टियों का पैसा नहीं मिलेगा। ग्रामीण टीचर पर कड़ी कार्रवाई की मांग करने लगे। जिस पर जिला शिक्षा अधिकारी ने दोनों पक्षों को सोमवार को अपने कार्यालय में बुलाया है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular