Homeहरियाणापानीपतराज्यसभा सांसद पंवार ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तारीख...

राज्यसभा सांसद पंवार ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तारीख बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया

आज समाज डिजिटल, पानीपत :

 

पानीपत: राज्यसभा सांसद कृष्ण लाल पंवार ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तारीख बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। पंवार ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कैबिनेट द्वारा पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को आगामी 3 माह तक बढ़ाने का निर्णय अभिनंदनीय है। ‘अंत्योदय’ को समर्पित यह निर्णय करोड़ों परिवारों के लिए मुफ्त राशन की उपलब्धता को सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 8 वर्ष के शासन काल में समावेशी भारत का उदय हो रहा है।

समावेशी विकास के लिए पर्यावरण संरक्षण का भी ध्यान रखा जाना आवश्यक

समावेशी विकास का मतलब एक ऐसे विकास से है, जहां सभी के लिए समान अवसर हों। सरकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम वर्ग तक पहुंचे। समावेशी विकास का बल जनसंख्या के सभी वर्गों के लिए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने पर होता है, मतलब आवास, भोजन, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ के साथ-साथ एक गरिमापूर्ण जीवन जीने के लिये आजीविका के साधनों को उत्पन्न करना। इन सब के साथ समावेशी विकास के लिए पर्यावरण संरक्षण का भी ध्यान रखा जाना आवश्यक है।

 

अनुमानित लाभार्थियों की संख्या 1.30 करोड़ से अधिक

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रदेश में अनुमानित लाभार्थियों की संख्या 1.30 करोड़ से अधिक है। सरकार द्वारा तैयार की गई रूपरेखा के अनुसार, अंत्योदय व अन्य पात्र परिवारों के राशन कार्ड धारकों को प्रदेश भर की दुकानों के माध्यम से राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि इस स्कीम के तहत देश की 80 करोड़ जनता को मुफ्त राशन दिया जाता है। यह योजना 30 सितंबर को खत्म होने वाली थी लेकिन अब इस योजना को तीन महीने और यानि दिसंबर 2022 तक बढ़ा दिया है। स्कीम में विस्तार के बाद इसमें आने वाली लागत 44,700 करोड़ रुपये आंकी गई है।

 

इस योजना से कोरोना काल में गरीब परिवारों को बड़ी सहायता मिली

राज्यसभा सांसद ने कहा कि साल 2020 के मार्च महीने में कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लान्च की गई थी। इसके तहत बीपीएल कैटेगरी वाले परिवारों को मुफ्त राशन की सुविधा मिलती है। इसके तहत हर माह प्रत्येक व्यक्ति को 4 किलोग्राम गेहूं और 1 किलोग्राम चावल मुफ्त दिया जाता है। पंवार ने बताया कि अब तक कई बार इस स्कीम में विस्तार किया जा चुका है। इससे पहले मार्च 2022 में मुफ्त राशन की इस योजना को छह माह के लिए अप्रैल-सितंबर 2022 तब बढ़ाया गया था। इस स्कीम के लागू होने के बाद से राशन की दुकानों से सब्सिडी वाले अनाज के अलावा मुफ्त राशन उपलब्ध कराई जाती है। इस योजना से कोरोना काल में गरीब परिवारों को बड़ी सहायता मिली है।

 

 

Connect With Us: Twitter Facebook

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular