Homeहरियाणापानीपतप्रसन उर्फ लंबू के नाम पर 5 लाख की रंगदारी मांगने की...

प्रसन उर्फ लंबू के नाम पर 5 लाख की रंगदारी मांगने की वारदात का पुलिस ने किया पर्दाफाश, पांच आरोपी काबू

आज समाज डिजिटल, पानीपत :

 

पानीपत : तहसील कैंप के रमेश नगर निवासी जोगिंद्र उर्फ राजू चावला से गत 27-28 सितम्बर को फोन पर प्रसन उर्फ लंबू के नाम से 5 लाख की रंगदारी मांगने की वारदात को थाना तहसली कैंप प्रभारी इंस्पेक्टर फूलकुमार व उनकी टीम ने पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के मार्गदर्शन में विभिन्न तकनीकी पहलूओं पर जांच करते हुए वारदात को सफलता पूर्वक सूलझाते हुए पांच आरोपियों को काबू करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। आरोपियों की पहचान गुलशन निवासी इंसार बाजार, सोनू निवासी राजीव कालोनी पानीपत, सुमित निवासी हांसी, रविंद्र व देवेंद्र निवासी सिरसा के रूप में हुई।

 

आरोपी पर लाखों रूपए का कर्जा चढ़ गया था

आरोपी गुलशन निवासी इंसार बाजार पानीपत ने सट्टे व जुआ खेलने में चढ़ा कर्ज उतारने के लिए साथियों के साथ मिलकर जोगिंद्र उर्फ राजू चावला से 5 लाख की रंगदारी मांगी थी उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय धर्मबीर खर्ब ने प्रेसवार्ता कर जानकारी देते हुए बताया पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी गुलशन निवासी इंसार बाजार पानीपत जुआ व सट्टा खेलने में काफी पैसे हार गया था। आरोपी पर लाखों रूपए का कर्जा चढ़ गया था।

 

शॉर्टकट तरीके से कर्जा उतारने की योजना बनाई

कर्जा उतारने के लिए आरोपी ने उत्तम नगर कॉलोनी निवासी साथी आरोपी के साथ मिलकर शॉर्टकट तरीके से कर्जा उतारने की योजना बनाकर जानकार जोगिंद्र उर्फ राजू चावला को फोन कर प्रसन्न उर्फ लंबू के नाम पर 5 लाख रूपए रंगदारी मांगने की वारदात को अंजाम दिया था। रंगदारी ना देने पर आरोपियों ने देख लेने की धमकी भी फोन पर दी। आरोपियों को पता था की सिवाह निवासी प्रसन्न उर्फ लंबू का आपराधिक रिकार्ड है, वह वर्तमान में जेल में बंद है। जोगिंद्र उर्फ राजू उसके नाम से डरते हुए फिरोती के 5 लाख रूपए आसानी दे देगा।

 

वारदात को अंजाम देने में किया फर्जी आईडी की सिम का प्रयोग 

शातिर आरोपियों ने पुलिस पकड़ से बचने के लिए वारदात में फर्जी आईडी के सिम कार्ड का प्रयोग किया था। आरोपी गुलशन व उसके साथी ने राजीव कॉलोनी निवासी साथी आरोपी सोनू पुत्र बिजेंद्र को कही से फर्जी आईडी के सिम कार्ड उपलब्ध करवाने के लिए कहा। सोनू ने हांसी निवासी अपने साथी आरोपी सुमित पुत्र नरेश से फोन पर संपर्क कर सिम बारे कहा। सुमित ने सिरसा निवासी साथी आरोपी रविद्र से बात की। आरोपी रविंद्र ने अपने साथी आरोपी देवेंद्र से संपर्क किया। देवेंद्र विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड बेचने का काम करता था। आरोपी देवेंद्र ने 200 रूपए के हिसाब से फर्जी आईडी के 7 सिम कार्ड आरोपी रविंद्र को दे दिए। यही सिम कार्ड आरोपी गुलशन ने 1200 रूपए प्रति सिम के हिसाब से 8400 रूपए आरोपी सोनू को देकर उससे लिए थे। उक्त सिम कार्डों का प्रयोग करके आरोपी गुलशन व उत्तम नगर कालोनी निवासी आरोपी ने मिलकर जोगिंद्र उर्फ राजू चावला से 5 लाख रूपए की रंगदारी मांगी।

रविवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा

उप पुलिस अधीक्षक धर्मबीर खर्ब ने बताया गिरफ्तार पांचों आरोपियों से वारदात में शामिल फरार इनके साथी आरोपी के ठीकानों का पता लगा काबू करने व गहनता से पूछताछ करने के लिए पांचों आरोपियों को रविवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा।

यह था मामला 

थाना तहसील कैंप में जोगिंद्र उर्फ राजू चावला पुत्र लक्ष्मण दास निवासी रमेश नगर तहसील कैंप ने 28 सितम्बर को शिकायत देकर बताया था कि 27 सितम्बर को करीब 2 बजे उसके पास एक अज्ञात नंबर से कॉल आया। उसने कॉल रिसिव की तो फोन पर बात कर रहे अज्ञात युवक अपने आप को प्रसन्न उर्फ लंबू बताते हुए पांच लाख रूपए की फरौती मांगी। आरोपी ने कहा की पैसे सोनीपत पहुंचा देना, पैसे लेने उसका भाई आएगा। आरोपी ने धमकी देते हुए कहा की पांच लाख रूपए फिरौती का इंतजाम कर लेना नही तो तुझे पता लग जाएगा। इसके बाद आरोपियों ने 28 सितम्बर को दूसरे नंबर से कॉल कर धमकी दी। जोगिंद्र की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ थाना तहसील कैंप में रंगदारी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस टीम ने आरोपियों की पहचान व धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए गए थे।

 

 

 

 

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular