Homeहरियाणापानीपतपानीपत पुलिस ने 1930 मीटर वाक मैराथन का आयोजन कर दिया साइबर...

पानीपत पुलिस ने 1930 मीटर वाक मैराथन का आयोजन कर दिया साइबर जागरूकता का संदेश

आज समाज डिजिटल, पानीपत :

 

 

पानीपत। साइबर जागरूकता माह के तहत जिला पुलिस ने आमजन को साइबर क्राइम के विरूध जागरूक करने व साइबर क्राइम टोल फ्री हेल्प लाइन नंबर 1930 बारे जानकारी देने के लिए 1930 मीटर वाक मैराथन का आयोजन करने के साथ ही विभिन्न स्कूलों व सार्वनिक स्थानों पर जागरूकता कार्यक्रम का आमजन कर छात्र/ छात्राओं व आमजन को साइबर क्राइम के बारे विस्तार से जानकारी देकर जागरूक किया गया। 1930 मीटर वाक मैराथन निकालने का मुख्य उद्देश्य आमजन को साइबर क्राइम के विरुद्ध जागरूक करना व साइबर क्राइम टोल फ्री हेल्प लाइन नंबर 1930 बारे जानकारी देने है। वाक मैराथन जीटी रोड संजय चौक से शुरू होकर सनौली रोड पर भीम गोडा चौक से वापिस संजय चौक पर आकर सम्पन्न हुई।

 

अक्टूबर को साइबर जागरूकता माह के रूप में मनाया जा रहा है

वाक मैराथन की अगुवाई कर रहे उप पुलिस अधीक्षक संदीप ने बताया साइबर अपराध की रोकथाम व आमजन को साइबर क्राइम के विरुद्ध जागरूक करने के लिए जिला पुलिस द्वारा अक्टूबर को साइबर जागरूकता माह के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया जिला में पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के मार्गदर्शन में साइबर जागरूकता अभियान 1 अक्तूबर से निरंतर जारी है। साइबर विषेज्ञय पुलिसकर्मियों की टीम द्वारा प्रतिदिन विभिन्न स्कूल, कॉलेजो, कॉलोनियों व सार्वजनिक स्थानों पर छात्र/छात्राओं सहित आमजन को साइबर क्राइम के विरुद्ध जानकारी देकर जागरूक किया जा रहा है। इसी के तहत वीरवार को 1930 मीटर वाक मैराथन का आयोजन करने के साथ ही बस स्टेंड के सामने विशेष रूप से स्टाल लगाकर आमजन को साइबर क्राइम के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया गया।

 

अज्ञात लिंक पर क्लिक ना करने जैसी सावधानियां बरतने बारे जागरुक किया गया

उप पुलिस अधीक्षक संदीप ने बताया इस दौरान साइबर विषेज्ञय पुलिसकर्मियों द्वारा लोगों को बताया गया कि वह किन-किन सावधानियों को ध्यान में रखकर होने वाले संभावित साइबर अपराध से अपने आप को सुरक्षित रख सकते हैं। इन सावधानियों में ऑनलाइन शॉपिंग साइट से खरीददारी करना, किसी भी अज्ञात एप्लीकेशन को डाउनलोड करना, पेटीएम पर पैसे निकालते समय अज्ञात व्यक्तियों से सावधान रहना, अपनी व्यक्तिगत जानकारी किसी को ना शेयर करना, क्रेडिट या डेबिट कार्ड के कार्ड नंबर, सीवीवी नंबर व ओटीपी किसी के साथ शेयर ना करने व फोन पर प्राप्त होने वाले अज्ञात लिंक पर क्लिक ना करने जैसी सावधानियां बरतने बारे जागरुक किया गया।

 

साइबर हेल्प डेस्क या साइबर क्राइम थाना पर भी शिकायत करने संबंधित जानकारी दी गई

इसके अलावा सोशल साइट्स पर अज्ञात लोगों से दोस्ती करने से पहले अच्छी तरह से जांच परख करने, अज्ञात नंबर से आई वीडियो कॉल ना उठाने आदि के बारे में भी जागरूक किया गया। इस तरह की छोटी-छोटी सावधानियां बरतकर प्रत्येक व्यक्ति अपने आप को आर्थिक व मानसिक तौर पर साइबर अपराधों से सुरक्षित रख सकता है। साइबर अपराध का शिकार होने पर तुरंत 1930 या 112 पर तत्काल कॉल कर अपनी शिकायत दर्ज कराने या भारत सरकार के साइबर क्राइम पोर्टल के माध्यम से जिसका URL- https://cybercrime.gov.in है पर शिकायत करने बारे भी गहनता से जानकारी दी गई। इसके अतिरिक्त नजदीकी थाने में जाकर थाने पर स्थापित साइबर हेल्प डेस्क या साइबर क्राइम थाना पर भी शिकायत करने संबंधित जानकारी दी गई।

 

 

 

 

ये भी पढ़ें : अमरेंन्द्र सिंह अरोड़ा होंगे हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular