Homeहरियाणापानीपतपानीपत में दोस्त ने दोस्त को उतारा मौत के घाट

पानीपत में दोस्त ने दोस्त को उतारा मौत के घाट

आज समाज डिजिटल,  पानीपत :
पानीपत। शहर में हत्याओं का सिलसिला लगातार जारी है। बुधवार जहां एक टीटीई और डेयरी संचालक की हत्या का मामला शांत हुआ नहीं कि गुरुवार रात्रि शहर के कुलदीप नगर में करीब 2 माह पहले हुई मामूली हाथापाई का कलयुगी दोस्त 24 साल के युवक की हत्या कर बदला लिया। दोस्त की बेरहमी से हत्या करने के बाद आरोपी छत से कूदकर फरार हो गया। वारदात की सूचना साथ सो रहे अन्य दोस्तों ने देखते ही साथ वाले दुकान मालिक को दी। मृतक के परिजनों को भी सूचित किया गया। सूचना मिलते ही परिजन दुकान पर मौके पर पहुंचे तो बेटे का शव देख उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई। वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। वारदात स्थल से जरूरी साक्ष्य जुटाकर शव को पानीपत सिविल अस्पताल भिजवाया।

विनेश को शराब पार्टी करने की बात कही

गढ़ी सिंकदरपुर छावनी निवासी कुलदीप कश्यप ने बताया कि उसके भतीजे विनेश कश्यप (24) निवासी गढ़ी सिंकदरपुर छावनी की कुलदीप नगर में चिकन की दुकान है। गुरुवार को वह अपने दोस्तों के साथ चिकन खाने गया था। वहां पर विनेश के दोस्त राम, लक्ष्मण, चुटिया, रोहित कालिया और जितेंद्र उर्फ घोड़ा भी आ गए और विनेश को शराब पार्टी करने की बात कही। विनेश ने चिकन बनाया। सभी दिन में ही शराब पीने लगे। कुछ देर बाद कुलदीप अपने दोस्तों के साथ वहां से चला गया था।

दुकान में रखी लोहे की रॉड उठाई और विनेश के सिर पर हमला कर दिया

मगर, विनेश और उसके दोस्त शराब पीते रहे। शराब पीने के दौरान उन्हें देरी हो गई थी। इसी वजह वे दुकान में ही सो गए थे। रात करीब डेढ बजे जितेंद्र उर्फ घोड़ा जागा और दुकान में रखी लोहे की रॉड उठाई और विनेश के सिर पर हमला कर दिया। उसने पहले सिर पर हमला किया। इसके बाद निजी अंग पर वार किए और उसका मुंह बांध दिया। शुरुआती दो-तीन हमले में ही विनेश चित हो गया था। इसके बाद भी जितेंद्र उसकी टांगों पर हमला करता रहा। उसका कान भी काट दिया।

आरोपी दुकान की छत कूदकर वहां से फरार

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी दुकान की छत कूदकर वहां से फरार हो गया। उसके साथ रोहित कालिया भी भाग गया। देर रात करीब ढाई बजे राम, लक्ष्मण, चुटिया पुलिस के साथ विनेश के घर आए, तब परिजनों को हत्या की वारदात का पता चला। कुलदीप ने बताया कि जितेंद्र उर्फ घोड़ा (करीब 19) साल ने विनेश के सिर पर चोट मार दी है। यह सुनते ही परिजन मौके पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि विनेश का सिर फटा हुआ था। दुकान में काफी खून बह रहा था और विनेश की मौत हो चुकी थी।
दिनभर की शराब पार्टी में किसी की भी कोई कहासुनी नहीं हुई थी
पुलिस के सामने तीनों दोस्तों ने बताया कि गुरुवार को दिनभर की शराब पार्टी में किसी की भी कोई कहासुनी नहीं हुई थी। ज्यादा शराब पीने की वजह वे दुकान में ही सो गए थे। विनेश 4 साल के बेटे अमृत का पिता था। उसकी पत्नी इशिका है, जिससे कोर्ट में तलाक केस चल रहा था। वह तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ा था। उसकी छोटी बहन आरजू (22) शादीशुदा है। सबसे छोटा भाई विकास (16) पढ़ाई करता है। पिता नरेश कश्यप का करीब 4 साल पहले देहांत हो चुका है। मां सुनीता गृहिणी है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular