Homeहरियाणापानीपतराष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 75वीं पुण्य तिथि एवं शहीदी दिवस के उपलक्ष्य...

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 75वीं पुण्य तिथि एवं शहीदी दिवस के उपलक्ष्य पर सभा का आयोजन 

आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। खादी आश्रम, पानीपत के सोमभाई हाल में खादी आश्रम, पानीपत एवं पानीपत नागरिक मंच के तत्वावधान में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 75वीं पुण्य तिथि एवं शहीदी दिवस के उपलक्ष्य पर एक सभा हुई, जिसमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प भी लिया गया। सभा की अध्यक्षता प्रसिद्ध समाज सेवी दीप चन्द्र निर्मोही ने की तथा सभा का संचालन विद्या भारती माॅडर्न स्कूल की अध्यापिका अनिता ने किया। इस अवसर पर नगर के रचनात्मक और सामाजिक संगठनों के कई नेता तथा खादी कार्यकर्ता, नगर के प्रबुद्ध नागरिक तथा विद्या भारत माॅडर्न स्कूल के स्टाफ एवं विद्यार्थी भी उपस्थित थे। सभा का प्रारम्भ बापू के प्रिय भजन ‘‘वैष्णव जन तो तेने कहिये पीर पराई जाने रे’’ से हुआ।

उनका जीवन प्रयोगों की एक नई कड़ी था

खादी आश्रम, पानीपत एवं नागरिक मंच की अध्यक्षा निर्मल दत्त ने बोलते हुए कहा कि आज के दिन हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं तथा स्वतन्त्रता संग्राम के सभी सेनानियों को नमन करते हैं उनमें से कुछ का नाम इतिहास में अंकित है और कुछ आज भी बेनाम हैं। उन्होंने इस अवसर पर विद्यालयों से आए छात्रों से गांधी जी से जुड़े आन्दोलनों एवं उनके जीवन से सम्बन्धित प्रश्न भी पूछे और सही उत्तर देने वाले विद्यार्थियों को उपहार भी वितरित किए गए। अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में दीप चन्द्र निर्मोही ने बोलते हुए बताया कि विश्व के इतिहास में बहुत कम ऐसे व्यक्ति हुए जिन्होंने मानवता पर अपनी एक अलग छाप छोड़ी हो। इनमें से एक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी है। उनका जीवन बड़ा ही सरल परंतु कठोर नियमों से बंधा हुआ था। उनका जीवन प्रयोगों की एक नई कड़ी था।

गांधी जी सत्य एवं अहिंसा के पुजारी थे

सरोज बाला गुर, स्कूल एसोसिएशन के सदस्य महिपाल ने बोलते हुए कहा कि आज से 100 वर्ष पूर्व जो हिन्द स्वराज में लिखा था वह आज सही प्रमाणित हो रहा है। उन्होंने आगे कहा कि गांधी जी सत्य एवं अहिंसा के पुजारी थे। हमें आज के दिन यह प्रण लेना चाहिए कि हम गांधी जी के बताये हुए मार्ग पर चले। अवनीश कुमार ने बोलते हुए कहा कि गांधी जी के बताये मार्ग पर चलकर सत्य एवं अहिंसा के द्वारा बड़ा से बड़ा लक्ष्य भी हासिल किया जा सकता है। इसलिए बच्चों तुम भी गांधी जी के बताए गए मार्ग पर चलकर अपना लक्ष्य हासिल कर सकते हो। इस कार्यक्रम में शैलेश दत्त, बलबीर सिंह, सतीश बराड़ा, राजेश बत्रा, अजीत पाल, जगदीप चन्द आदि ने भी अपने-2 श्रद्धा सुमन अर्पित किए। सभा के अन्त में उपस्थित छात्र-छात्राओं और नागरिकों को राष्ट्र, समाज और स्वच्छता के प्रति प्रतिबद्धता की शपथ भी दिलवाई।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular