Homeहरियाणापानीपत27 अक्तूबर से 3 नवंबर तक एसडी स्कूल जीटी रोड़ में लगेंगे...

27 अक्तूबर से 3 नवंबर तक एसडी स्कूल जीटी रोड़ में लगेंगे दिव्यांग बच्चों के मेडिकल कैंप

  • कैंप में केवल सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों का ही मेडिकल बनेगा
आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। आगामी 27 अक्तूबर से 3 नवम्बर तक स्थानीय एसडी स्कूल जीटी रोड़ में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों के लिए दिव्यांग मेडिकल कैम्प का आयोजन किया जाएगा। इसको लेकर हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद की एक बैठक यहां लघु सचिवालय के पांचवें तल पर स्थित जिला परियोजना संयोजक कार्यालय में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला परियोजना अधिकारी सरोज बाल्यान ने बताया कि मेडिकल कैंप में पानीपत के सभी खंडों के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले दिव्यांग बच्चों का स्वास्थ्य चेकअप किया जाएगा।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी

जिला परियोजना अधिकारी सरोज बाल्यान ने बताया कि अप्रैल 2019 से पहले का जिन दिव्यांग बच्चों का मेडिकल बना है उनका मैडिकल दोबारा से बनेगा। उन बच्चों को फिर से एक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। सरोज बाल्यान ने बताया कि अप्रैल 2019 के बाद जिन बच्चों के मेडिकल बने हैं उन बच्चों के यूआईडी कार्ड बनेंगे और नया मेडिकल सर्टिफिकेट भी बनेगा। ऐसे बच्चों को अगर किसी प्रकार की मेडिकल उपकरण की जरूरत नहीं है। विशेष अध्यापक उनके आवश्यक दस्तावेज का में आना जरूरी नहीं है विशेष अध्यापक उनके आवश्यक दस्तावेज ही लेकर मेडिकल कैंप में आ सकते हैं।

कैंप में अधिकतम 150 दिव्यांग बच्चे भाग ले सकते हैं

जिला परियोजना अधिकारी सरोज बाल्यान ने बताया कि आवश्यक दस्तावेजों में बच्चों का आधार कार्ड, मेडिकल सर्टिफिकेट 5 फोटो साइन या अंगूठे का निशान लगाना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि मेडिकल के एक बार साल में लगता है इसलिए ऐसा कोई भी दिव्यांग बच्चा जिसको किसी भी प्रकार के मेडिकल उपकरण की आवश्यकता है इस मेडिकल कैंप में जरूर पहुंचे। उन्होंने बताया कि कैंप में अधिकतम 150 दिव्यांग बच्चे भाग ले सकते हैं। कैंप में आने वाले बच्चों को तीन भागों में बांटा जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी दिव्यांग बच्चों का मेडिकल पहली बार बन रहा है उनका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पहले ही करवाया करवाना जरूरी है। यह उस ब्लाक के विशेष अध्यापकों की जिम्मेदारी होगी। जिन बच्चों को मेडिकल पहली बार बन रहा है उनका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाएं बिना कोई भी बच्चा मेडिकल कैंप में नहीं आ सकेगा।

मेडिकल कैंप में सभी दिव्यांग बच्चों के लिए लंच का प्रबंध

जिला परियोजना अधिकारी सरोज बाल्यान ने बताया कि मेडिकल में इस बार जिला समाज कल्याण विभाग के द्वारा दिव्यांग बच्चों की पेंशन के बारे में भी फार्म भरे जाएंगे। जो दिव्यांग बच्चे पेंशन के पात्र है वे अपने पर्याप्त दस्तावेज लेकर मेडिकल कैंप में जरूर आएं। उन्होंने बताया कि वास्तविक बस किराया दिव्यांग बच्चों को ही दिया जाएगा। उनके अभिभावकों को किसी प्रकार का कोई किराया नहीं दिया जाएगा। मेडिकल कैंप में किसी भी डॉक्टर को किसी प्रकार की कोई फीस नहीं दी जाएगी। केवल एनएचएम के एक एक्सपर्ट को ही 500 रुपए दिए जाएंगे। मेडिकल कैंप में सभी दिव्यांग बच्चों के लिए लंच का प्रबंध जिला परियोजना संयोजक पानीपत कार्यालय की तरफ से किया जाएगा।
सूची ब्लॉक अनुसार देनी होगी
जिला परियोजना अधिकारी सरोज बाल्यान ने बताया कि मेडिकल कैंप की समाप्ति के पश्चात विशेष अध्यापक ये सुनिश्चित करेंगे की कैंप में कितने दिव्यांग बच्चों ने हिस्सा लिया वे इसकी कक्षा 1 से 8 व 9 से 12 की अलग-अलग सूची उसे ब्लॉक अनुसार देनी होगी। मेडिकल कैंप की समाप्ति के पश्चात कितने बच्चों के यूआईडी कार्ड, मेडिकल सर्टिफिकेट के अलावा सर्जरी के लिए कितने बच्चो का चयन हुआ हुए इसकी सूचना भी दी जानी आवश्यक है। मेडिकल कैंप की समाप्ति के पश्चात जिस ब्लॉक का मेडिकल कैंप है, उस ब्लॉक की विशेष अध्यापक एक समरी रिपोर्ट एपीसी आईडी को देंगे। बैठक में आईईडी प्रिंसिपल रमेश रावत, एपीसी राजेंद्र मलिक के अलावा विशेष अध्यापक डॉ महेंद्र, विनोद प्रदीप, अमित, सुनील, संदीप, सुशीला मौजूद रहे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular