Homeहरियाणापानीपतमहात्मा फूले पिछड़ों के मसीहा थे: राम मोहन राय

महात्मा फूले पिछड़ों के मसीहा थे: राम मोहन राय

  • महात्मा फूले की पुण्य तिथि को स्मरण दिवस के रूप में मनाया
आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। महात्मा ज्योतिबा फूले जन कल्याण समिति द्वारा सोमवार को महात्मा फूले की पुण्य तिथि को स्मरण दिवस के रूप में मनाया गया। ऊझा रोड़, एकता विहार स्थित अनिल मॉडर्न पब्लिक स्कूल में  आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए प्रसिद्ध समाजसेवी एडवोकेट राममोहन राय ने कहा कि महात्मा फूले सच्चे मायनो में पिछड़ों के मसीहा थे। उन्होंने कहा कि जिस समय में पिछड़ा वर्ग, दलित वर्ग, महिला वर्ग शिक्षा से वंचित था उस समय में ज्योतिबा फूले ने इन वर्गों को शिक्षा देने हेतु ज्ञान की अलख जगाई।

ज्योतिबा ने जाति व्यवस्था का विरोध किया

राय ने बताया कि सावित्री बाई को शिक्षित करने के बाद देश का पहला लड़कियों का विद्यालय महात्मा फूले द्वारा शुरू किया गया जिसमें उनकी पत्नी सावित्री बाई ने पढ़ाया। विषम परिस्थितियों में भी इस दंपत्ति ने हार नहीं मानी और लोगों को शिक्षित करते रहे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नगर निगम के वरिष्ठ महापौर दुष्यंत भट्ट ने अपने संबोधन में कहा कि महात्मा फूले राष्ट्र पिता थे। उन्होंने कहा कि ज्योतिबा ने जाति व्यवस्था का विरोध किया। उन्होंने अपने विद्यालय में सभी जाति के बच्चो को शिक्षा देने का कार्य किया।

उपस्थित छात्रों से महात्मा फूले बारे प्रश्न पूछे गए

दसवीं की छात्रा प्रतिभा सैनी ने महात्मा ज्योतिबा फूले के जीवन पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में उपस्थित छात्रों से महात्मा फूले बारे प्रश्न पूछे गए। ठीक उत्तर बताने वाले छात्रों सपना, अंजली, कुनाल, योगेश को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन समिति के सचिव दलबीर आर्य ने किया। कार्यक्रम को गोविंद सैनी, रामरतन एडवोकेट, पार्षद शिव कुमार शर्मा, स्कूल चेयरमैन रणधीर सैनी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर स्कूल चेयरमैन रणधीर सैनी, सतीश सैनी, भाजपा युवा नेता अनिल सैनी, ब्लॉक समिति के नव निर्वाचित पार्षद अनिल सैनी, राजेंद्र सैनी, बिंदर जांगड़ा, देवेंद्र सैनी, सत्यवान सैनी, गोविंद सैनी सी ए, हैरी सैनी, संदीप कुमार, एडवोकेट पवन सैनी, सभी अध्यापक गण मौजूद रहे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular