Homeहरियाणापानीपतडॉ.एमकेके आर्य मॉडल स्कूल में त्यौहार पर ज्ञानवर्धक कार्यक्रम

डॉ.एमकेके आर्य मॉडल स्कूल में त्यौहार पर ज्ञानवर्धक कार्यक्रम

आज समाज डिजिटल, Panipat News
पानीपत। डॉ एमकेके आर्य मॉडल स्कूल पानीपत में  द्वितीय ‘सी’ कक्षा के विद्यार्थियों ने त्यौहार विषय पर विभिन्न क्रियाकलापों द्वारा अपनी-अपनी भूमिका निभाई। वह इस कार्यक्रम के आयोजन में भारती ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रार्थना की मधुर गूंज से किया गया, जिसने वातावरण को पवित्र बना दिया। इसके उपरन्त वैष्णवी, अहिजा, प्रभसीरत, शिवाय, यूही रमन, मृदुल, यश ने अपने भाषणों में बताया कि त्योंहारों से हमारे जीवन में परिवर्तन और उल्लास का संचार होता है। त्योहार किसी भी जाति और देश व उसके अतीत से संबंध जोड़ने का भी उत्तम साधन है और जीवन में पग-पग पर आने वाली कठिनाइयों, तनाव और पीड़ा को भुलाने का साधन भी त्योहार ही हैं।

त्यौहार हमारे जीवन को उमंग एवं खुशहाली से भर देते हैं

यही कारण है कि त्यौहार के अवसर पर सभी हर्ष उल्लास से झूम उठते हैं। त्यौहार हमें प्रेम के साथ-साथ त्याग की भावना भी सिखाते हैं। बिना त्याग की भावना के त्योहारों का आनंद अधूरा है। कोई भी त्यौहार तभी सार्थक है जब उसे सभी मिलजुल कर मनाएं त्यौहार हमारे जीवन को उमंग एवं खुशहाली से भर देते हैं तथा हमारे मन में एकता, अखंडत, विश्व बंधुत्व, देशभक्ति एवं आपसी समन्वय की भावना भी बढ़ाते हैं। हमारे जीवन में त्यौहारों का बहुत महत्व है। इनके बिना हमारा जीवन नीरस और ऊब भरा हो जाता है। यही कारण है कि त्यौहारों के अवसर पर सभी मानव खुशी से झूम उठते हैं। रियांश, तनीश, अनंत, योगांश, केशव, प्रणव, दे, पार्थ, शिवाय मयंक, तेजस, अरमान ने अपनी कविताओं की प्रस्तुतियों के माध्यम से बताया कि क्या देश भारत विभिन्न धर्मों के साथ-साथ अनेकता में एकता का देश है।

त्योहार हमारी संस्कृति की धरोहर

भारतीय त्यौहारों को मुख्यतः तीन श्रेणियों में विभाजित किया जाता है। भारत में विभिन्न धर्मों के त्यौहारों का अपना एक महत्व है। त्यौहार चाहे किसी भी धर्म का हो, सभी धर्म और जाति के लोग इन्हें मिलजुल कर मनाते हैं। राष्ट्रीय पर्व को सभी धर्मों के लोग मिलकर मनाते हैं। कक्षा के विद्यार्थियों द्वारा सामूहिक गान व नृत्य की सुंदर प्रस्तुति दी गई  जो सभी को रोमांचित करने वाली थी। अंत में बच्चों द्वारा प्रस्तुत प्रश्नोत्तरी ज्ञानवर्धक रही। विद्यालय के निदेशक रोशन लाल सैनी, प्रधानाचार्य  मधुप पराशर, मीरा मारवाह एवं विद्यालय की शैक्षिक सलाहकार मंजू सेतिया ने विद्यालय के विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए संदेश दिया कि हमारे त्यौहार हमारी भारतीय संस्कृति परंपरा में भारतीय सभ्यता के प्रतीक हैं । यह त्यौहार हमारी संस्कृति की धरोहर हैं। इन पर्वों में त्यौहारों के माध्यम से हमारी संस्कृति की वास्तविक पहचान होती है। त्यौहार हम सभी भारत वासियों को एकता के सूत्र में बांधते हैं।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular