Homeहरियाणापानीपतव्यवसायी व ड्राइवर का गन प्वाइंट पर अपहरण कर 20 लाख की...

व्यवसायी व ड्राइवर का गन प्वाइंट पर अपहरण कर 20 लाख की फिरौती मांगने वाले पांच बदमाश गिरफ्तार 

  • वारदात में प्रयोग की गई कार्बाइन, रिट्ज कार, चाकू, बाइक, 1 लाख रुपए व इनोवा गाड़ी बरामद
आज समाज डिजिटल, Panipat News :
पानीपत। पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के मार्गदर्शन में कार्रवाही करते हुए सीआईए वन की टीम ने वेस्ट व्यवसायी व उसके ड्राइवर का पार्क हस्पताल के नजदीक रोहतक बाइपास से गन प्वाइंट पर अपहरण कर 20 लाख की फिरौती मागने की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के मास्टर माइंड सहित पाचं बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान हरिकिशन निवासी शामड़ी, अनिल निवासी गंगाना सोनीपत, अजीत निवासी रामकली, मंदीप निवासी भम्भेवा जीन्द व बिजेंद्र निवासी अर्जून नगर पानीपत के रूप में हुई है। आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग की एक कार्बाइन, रिट्ज कार, बाइक, चाकू व 1 लाख रुपए बरामद करने के साथ ही व्यवसायी की इनोवा कार बरामद कर रिमांड अवधी पूरी होने पर आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश कर न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया।

ओवरटेक कर हिट करने की कोशिश करते हुए इनोवा को रूकवा लिया

थाना औद्योगिक सेक्टर 29 में गोहाना नई अनाज मंडी निवासी व्यवसायी ने शिकायत देकर बताया था कि उसका पानीपत में बरसत रोड पर वेस्ट का गोदाम है। 9 अगस्त की सायं वह अपने ड्राइवर दीपक के साथ इनोवा कार में सवार होकर गोदाम से घर जा रहा था। सायं करीब 7 बजे पार्क हस्पताल के पास रोहतक बाइपास पर चढ़ रहे थे, तो तभी एक सफेद रंग की रिट्ज कार ने ओवरटेक कर हिट करने की कोशिश करते हुए इनोवा को रूकवा लिया। गाड़ी के रूकते की रिट्ज कार से 3 युवक उतरे और गन प्वाइंट पर उसको व ड्राइवर को इनोवा की पिछली सीट पर डाल दिया।

घरवालों को फोन कर 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी

गाड़ी में बदमाशों ने देसी पिस्तौल, चाकू व स्टेनगन दिखाकर उसके फोन से घरवालों को फोन कर 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी और मारपीट करके 30 हजार रुपए व सोने का कड़ा छीन लिया। आरोपी गाड़ी को विभिन्न गांवों में घूमाते रहे। नौल्था के पास सामने से पुलिस की डायल 112 की गाड़ी को आता देखकर आरोपियों ने गाड़ी को रॉन्ग साईड किया तो वह मौका पाकर गाड़ी से नीचे उतर गया। आरोपी इनोवा सहित ड्राइवर दीपक को लेकर फरार हो गए। व्यवसायी की शिकायत पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ थाना औद्योगिक सैक्टर 29 में आईपीसी की धारा 341, 365, 379बी, 386, 395, 397 व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस टीम ने आरोपियों की पहचान व धरपकड़ के प्रयास शुरू कर दिए थे।

आरोपियों को काबू की करने की जिम्मेवारी सीआईए वन की टीम को सौंपी थी

सीआईए वन प्रभारी इंस्पेक्टर राजपाल ने बताया पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के संज्ञान में उक्त मामला आते ही उन्होंने अपहृत ड्राइवर दीपक को आरोपियों के कब्जे से जल्द से जल्द सकुशल छुड़ाने सहित आरोपियों को काबू की करने की जिम्मेवारी सीआईए वन की टीम को सौंपी थी। सीआईए वन की टीम ने विभिन्न पहलूओं पर जांच करते हुए 10 अगस्त की सायं टीडीआई पुल के पास दबिस देकर आरोपी हरिकिशन निवासी शामड़ी सोनीपत को इनोवा गाड़ी सहित गिरफ्तार कर अपहर्त ड्राइवर दीपक को सकुशल छुड़ाने में कामयाबी हासिल की थी। पूछताछ में आरोपी ने अपने साथी अनिल निवासी गंगाना सोनीपत, अजीत निवासी रामकली, मंदीप निवासी भम्भेवा जीन्द व बिजेंद्र निवासी अर्जुन नगर पानीपत के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकार किया था।

आरोपी बिजेंद्र व अनिल को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था

उन्होंने बताया आरोपी हरिकिशन को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर निशानदेही पर वारदात में शामिल आरोपी बिजेंद्र व अनिल को टोल टेक्स के पास से 14 अगस्त रविवार को काबू किया। आरोपी हरिकिशन की रिमांड अवधी पूरी होने पर उसे न्यायालय में पेश कर न्यायिक हिरासत जेल भेज दिया था,  वहीं आरोपी बिजेंद्र व अनिल को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था। पुलिस रिमांड के दौरान दोनों आरोपियों की निशानदेही पर फरार आरोपी मंदीप व अजीत को रविवार सायं सैक्टर 18 में गवर्नमेंट कॉलेज के पास से गिरफ्तार किया गया।

आरोपी अनिल 2 साल पहले व्यवसायी के पास गोहाना में काम करता था

पूछताछ में आरोपियों से खुलासा हुआ गिरोह का मास्ट माइंड आरोपी अनिल 2 साल पहले व्यवसायी के पास गोहाना में काम करता था। उसको व्यवसायी के बारे जानकारी थी। आरोपी ने अपने उपर चढ़ा करीब 7 लाख रुपए का कर्ज उतारने व शॉर्टकट तरिके से पैसे कमाने के लिए साथी आरोपी हरिकिशन, अजीत, मंदीप व बिजेंद्र के साथ मिलकर व्यवसायी के अपहरण की योजना बनाई। 9 अगस्त की सायं आरोपी हरिकिशन, अजीत, मंदीप व बिजेंद्र रिट्ज कार से व आरोपी अनिल बाइक पर सवार होकर पानीपत आए थे।
तीनों पुलिसकर्मियों को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया था
आरोपियों ने व्यवसायी की इनोवा गाड़ी का पीछा कर जीटी रोड से रोहतक बाइपास पर चढ़ते हुए ओवरटेक कर रिट्ज कार को इनोवा के आगे अड़ा दिया और गन प्वाइंट पर व्यवसायी व उसके ड्राइवर का अपहरण कर व्यवसायी के फोन से ही घरवालों से 20 लाख की फिरौती मांगने की वारदात को अंजाम दिया। आरोपी अनिल बाइक पर पीछे पीछे चल रहा था। इंस्पेक्टर राजपाल ने बताया मौके पर पहुंची पुलिस की डायल 112 की गाड़ी पर तैनात तीनों पुलिसकर्मियों को समालखा के भापरा खेल स्टेडियम में आयोजित 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया था।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular