Homeहरियाणापानीपतआरडी/एफडी के खाते खोलकर 6 साल में पैसा डबल करने का झांसा...

आरडी/एफडी के खाते खोलकर 6 साल में पैसा डबल करने का झांसा देकर लोगों से करोड़ों रुपए हड़पे

  • आरोपी फरार, 12 पीड़ितों ने दी शिकायत
आज समाज डिजिटल, पानीपत: 
पानीपत। शहर की बिशन स्वरूप कॉलोनी में आरडी/एफडी के खाते खोलकर 6 साल में पैसा डबल करने का झांसा देकर लोगों से करोड़ों रुपए हड़पने के बाद कंपनी भाग गई है। मामले की शिकायत उत्तर प्रदेश के शामली जिले के रहने वाले लीलूराम व 11 अन्य लोगों ने दी है।

मां-बाप व दो बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज

सिटी थाना पुलिस को दी शिकायत में लीलूराम ने बताया कि वह शिव कॉलोनी, जिला शामली, उत्तरप्रदेश का रहने वाला है। वह पानीपत में फेरी लगाकर कपड़ा बेचने का काम करता था। उसने यहां कुलदीप नगर में किराये पर कमरा लिया हुआ था। एक दिन उसकी मुलाकात सर्वोतम विकास मल्टी स्टेट हाउसिंग को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड, बिशन स्वरूप कॉलोनी पानीपत के पदाधिकारियों से हुई। लीलूराम ने बताया कि उसने ठगों के झांसे में आने के बाद अपने जानकार 12 लोगों के रुपए भी कंपनी में लगवा दिए। सभी ने मिलकर कुल 1 करोड़ 66 लाख 60 हजार 389 रुपए कंपनी में लगा दिए। जब निर्धारित समय पूरा हुआ तो लोग उनके कार्यालय पहुंचे, लेकिन लोग वहां से भाग चुके थे। उनसे संपर्क किया तो उन्होंने जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने शिकायत के आधार पर एक ही परिवार के मां-बाप व दो बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

कंपनी सरकार की ओर से अधिकृत्त है और कागजात दिखाकर विश्वास में लिया

कंपनी का सीएमडी मलुक सिंह उप्पल, एमडी गुरप्रीत सिंह उप्पल, इसका भाई हरप्रीत सिंह उप्पल, इनकी मां भूपिंद्र कौर निवासी लहारका रोड, अमृतसर, पंजाब थे। जनवरी 2010 को उपरोक्त आरोपियों ने आरडी/एफडी खाते खोलने की बात कही। उनकी कंपनी सरकार की ओर से अधिकृत्त है और उन्हें कागजात दिखाकर विश्वास में लिया। इसके बाद प्रलोभन दिया कि आप अपना और अपने रिश्तदारों समेत मित्रगणों के खाते खुलवाओ और 6 साल में रुपए डबल ले जाओ। यह पॉलिसी सरकार की है और साथ में एलआईसी व श्रीराम बीमा कंपनी की पॉलिसी भी देते थे।

पीड़ितों को जान से मारने की धमकी

लीलूराम ने बताया कि इसके बाद उसने खुद के और अपने जानकारों के करोड़ों रुपए इनके पास कंपनी में जमा करवाए। जब पैसा वापस देने का समय आया तो उक्त आरोपी ऑफिस बंद कर गए। इसके बाद पीड़ित लोग उनके हेड ऑफिस अमृतसर गए तो वहां भी कार्यालय बंद मिला। आरोपियों से फोन पर संपर्क किया गया तो उन्होंने पीड़ितों को जान से मारने की धमकी दी।

उच्च नेताओं से संपर्क व साठ-गांठ

आरोपियों ने कहा कि ऐसे ऑफिस तो कई जगह पर हैं, उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। क्योंकि उनकी उच्च नेताओं से संपर्क व साठ-गांठ है। लीलूराम के मुताबिक, आरोपियों के खिलाफ कुरूक्षेत्र व करनाल में भी इसी तरह की ठगी का केस दर्ज है। उक्त मामले में सीएमडी मलुक सिंह उप्पल करनाल जेल में बंद है, बाकी उपरोक्त आरोपी बाहर घूम रहे हैं।
आरोपियों ने 4 राज्यों में खरीद ली जमीन
27 एकड़ भूमि, ज्वालापुर, टिबरी रोड गुरदासपुर, पंजाब। – 6 एकड़ भूमि, गांव मीरपुर तहसील बटाला जिला गुरदासपुर, पंजाब। – 17 एकड़ भूमि, गांव समर तहसील बाग बहारा, जिला महासमंद, छत्तीसगढ़। – 250 वर्ग गज मकान, 95 NRI कॉलोनी, लहारका रोड, अमृतसर, पंजाब। – एक एकड़ भूमि, दिनानगर, गुरदासपुर, पंजाब। – 300 वर्गगज जमीन, रानी का बाग, अमृतसर, पंजाब। – 11 बीघा जमीन, सिकंदराबाद, उतर प्रदेश।
इन 12 लोगों से हुई 1.66 करोड़ की ठगी
राजकुमार 38 लाख 90 हजार 524, निवासी गांव निजामपुर, पानीपत। – शंकर 6 लाख 38 हजार 418, निवासी गांव बाबरपुर, पानीपत। – नीरज 15 लाख 33 हजार 116, निवासी तहसील कैंप, पानीपत। – बीना 13 लाख 16 हजार, निवासी घरौंडा, जिला करनाल। – सीमा देवी 12 लाख 19 हजार 840, निवासी, पानीपत। – सुनीता 2 लाख 51 हजार 246, निवासी गांव निंबरी, पानीपत। – प्रमिला देवी 2 लाख 97 हजार 560, निवासी गांव बबैल, पानीपत। – चरण सिंह 42 लाख 60 हजार 780, निवासी सैनी कॉलोनी, पानीपत। – धर्मबीर 11 लाख 55 हजार 524, निवासी देसराज कॉलोनी, पानीपत। – सुल्तान 13 लाख 22 हजार 704, निवासी गांव अटावला, पानीपत। – रामसिंह 5 लाख 80 हजार 262, निवासी गांव महमदपुर, पानीपत। – लीलू राम 1 लाख 93 हजार 700, निवासी शामली, यूपी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular