Homeहरियाणापानीपतशहर के सीनियर एडवोकेट ने संदिग्ध परिस्थितियों में लगाया फंदा 

शहर के सीनियर एडवोकेट ने संदिग्ध परिस्थितियों में लगाया फंदा 

  •  मानसिक रूप से रहते थे परेशान, रोहतक पीजीआई से चल रहा था इलाज
आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। शहर के सेक्टर-18 में सीनियर एडवोकेट ने संदिग्ध परिस्थितियों में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों के मुताबिक, आत्महत्या का कारण उनकी मानसिक परेशानी है। एडवोकेट बीती रात परिवार के साथ सोए थे। सुबह परिजन उठे तो उन्हें घर के ग्राउंड फ्लोर के कमरे में फंदे पर लटका पाया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घटना स्थल का जायजा लेते हुए शव को फंदे से उतरवाकर सिविल अस्पताल भिजवाया। इसके बाद पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज करके सुसाइड का केस दर्ज कर लिया है। आगामी जांच में जुटी गई है।

स्टडी बेस पर कनाडा में  जाने वाला है बेटा रौनक

सेक्टर 13-17 थाना पुलिस के अनुसार, सेक्टर-18 में रहने वाले ईश्वर सिंह सरोहा (53) ने घर में ही फंदा लगाकर आत्महत्या की। पुलिस ने बताया कि सरोहा जिला बार एसोसिएशन में पिछले करीब 22 सालों से वकालत की प्रैक्टिस कर रहे हैं। वह 3 बच्चों के पिता थे। दो बेटियां चंडीगढ़ में पढ़ाई कर रही हैं। 20 वर्षीय बेटा रौनक आगामी एक-दो माह के भीतर कनाडा में स्टडी बेस पर जाने वाला है। पुलिस ने बताया कि सेक्टर-18 के जिस मकान में एडवोकेट रहते थे, उसके ग्राउंड फ्लोर पर किराएदार रहते थे, जो कुछ ही दिन पहले मकान खाली करके गए हैं। घर की पहली मंजिल पर एडवोकेट परिवार समेत रहते हैं।

साथ खाना खाकर सो गया था परिवा

गत रात्रि पूरा परिवार साथ खाना खाकर सो गया था। सुबह 7 बजे परिजन उठे और नीचे आए तो उन्होंने देखा कि ईश्वर सिंह फंदे पर लटका हुआ है। उन्होंने गमछे से फंदा लगाया है। परिजनों ने बताया है कि वह पिछले काफी दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे। उनका रोहतक पीजीआई से इलाज भी चल रहा था।पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज करके सुसाइड का केस दर्ज कर लिया है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular