Homeहरियाणापानीपतशंखनाद, मंत्रोच्चारण व नगाड़े बढ़ाएंगे भगवान परशुराम महाकुंभ की शान

शंखनाद, मंत्रोच्चारण व नगाड़े बढ़ाएंगे भगवान परशुराम महाकुंभ की शान

  • धार्मिक सद्भाव का अनूठा उदाहरण पेश कर सामाजिक सद्भाव की मिसाल बनेगा करनाल में होने वाला समारोह
  • 11 दिसंबर को मुख्यमन्त्री मनोहर लाल खट्टर करेंगे बतौर मुख्यातिथि शिरकत
आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। आगामी 11 दिसंबर को करनाल में होने वाला प्रदेश स्तरीय भगवान परशुराम महाकुंभ भव्य होने के साथ साथ सामाजिक सद्भाव की मिसाल भी बनेगा। सर्व समाज व सर्व धर्म के लोग आयोजन में शिरकत कर इसके गवाह बनेंगे। आयोजन को भव्य रूप देने के लिए 101 ब्राह्मण शंखनाद, 101 ब्राह्मण मंत्रोच्चारण व 101 ब्राह्मण नगाड़े की ध्वनि से मन मोहएंगे। यह जानकारी करनाल से आए समारोह आयोजन समिति के समन्वयक शीशपाल राणा व पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के उप महाधिवक्ता राहुल मोहन ने कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे व ब्राह्मण समाज को सौगातें देंगे।

आयोजन की तैयारियों में हिंदू मुस्लिम भाईचारे की बानगी दिखने लगी है

मौजूदा दौर में समरसता का यह भाव कम होता जा रहा है, लेकिन 11 दिसंबर को करनाल में आयोजित होने वाले भगवान परशुराम महाकुंभ में आपको हिंदू-मुस्लिम एकता के साथ साथ सर्व समाज की जीती-जागती तस्वीरें नजर आएंगी, जो समाज को नई दिशा देगी. सामाजिक समरसता के भाव के साथ आयोजित होने वाला य़ह दिव्य आयोजन बिखरे समाज के सामने उदाहरण होगा। आयोजन की तैयारियों में हिंदू मुस्लिम भाईचारे की बानगी दिखने लगी है। मुस्लिम भाइयों द्वारा भगवान परशुराम महाकुंभ का गाँव गाँव जाकर न्यौता दिया जा रहा है, जिसकी हर तरफ प्रशंसा हो रही है।

धर्म के नाम पर किसी भी तरह के बहकावे में नहीं आना

उप महाधिवक्ता राहुल मोहन व शीशपाल राणा ने कहा कि सामाजिक सद्भाव और सौहार्द बनाए रखने में इस तरह के आयोजनों की अहम भूमिका हो सकती है। हर धर्म और समुदाय के लोगों से अपील है कि धर्म के नाम पर किसी भी तरह के बहकावे में नहीं आना है। सामाजिक समरसता की ऐतिहासिक धरोहर को सहेज कर रखना है। हर जिम्मेदार नागरिक का यह दायित्व है. आज के वक्त में इस देश के हर संजीदा इंसान को यह सोचना पड़ेगा समझना पड़ेगा ऐसे कार्यक्रमों में मिलजुल कर गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पहले की तरह कायम रखते हुए शरीक होना पड़ेगा। देश में भाईचारा कायम रहे, मानवता और इंसानियत का दर्जा हर धर्म में सबसे ऊपर है।

मुख्यमंत्री, सांसद व विधायक बढ़ाएंगे गरिमा

उन्होंने कहा कि 11 दिसंबर को करनाल में भगवान परशुराम महाकुंभ का आयोजन होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, ब्राह्मण समाज के सभी सांसद, मंत्री व विधायक शिरकत करेंगे।समारोह में प्रदेशभर से ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचने की अपील की गई है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular