Homeहरियाणापानीपतआईबी पीजी कॉलेज के प्रांगण में पूर्व छात्र मिलन समारोह 2022 का...

आईबी पीजी कॉलेज के प्रांगण में पूर्व छात्र मिलन समारोह 2022 का आयोजन

  • मैंने कॉलेज से ही विनम्रता और दयालुता जैसी महत्वपूर्ण बातों को सीखा : सांसद भाटिया
आज समाज डिजिटल, पानीपत :
पानीपत। आईबी पीजी कॉलेज के प्रांगण में पूर्व छात्र मिलन समारोह 2022 का आयोजन हर्षोल्लास के साथ किया गया। इस कार्यक्रम में कॉलेज के अनेक पूर्व विद्यार्थियों ने भाग लिया और अपने जीवन के खट्टे मीठे अनुभवों को सांझा किया। कार्यक्रम का शुभारंभ सांसद करनाल संजय भाटिया, सर्वप्रीत  बाजवा मान,  प्राचार्य डॉ. अजय कुमार गर्ग, प्रबंधन समिति एवं कार्यक्रम संयोजिका डॉ. शशि प्रभा के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। प्रबंधक समिति एवं कॉलेज प्राचार्य द्वारा मुख्य अतिथि सांसद करनाल संजय भाटिया को स्मृति चिन्ह एवं शाल भेंट कर सम्मानित किया गया।

महाविद्यालय का माहौल घर जैसा मिला

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय भाटिया ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि अपने पुराने कॉलेज अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि मेरे जीवन में कॉलेज प्राध्यापकों द्वारा दिए गए संस्कारों का प्रभाव आज भी है। मैंने कॉलेज से ही विनम्रता और दयालुता जैसे महत्वपूर्ण बातों को सीखा है और उन्हीं के द्वारा दी गई शिक्षा से आज मैं अपनी जिंदगी में एक मुकाम पर खड़ा हूं। इस महाविद्यालय का समय मेरे जीवन का स्वर्णिम पल भी रहा। छात्र राजनीति की शुरुआत इसी कॉलेज से हुई। इस महाविद्यालय का माहौल घर जैसा मिला, क्योंकि कॉलेज प्राध्यापकों द्वारा डांट फटकार या मार की बजाय छात्रों को प्यार से समझाया जाता है। सांसद संजय भाटिया ने महाविद्यालय की आगे होने वाली गतिविधियों के लिए 11 लाख अनुदान देने की घोषणा की।

एलुमनाई मीट पूर्व या वर्तमान छात्रों और शिक्षकों को मंच पर इकट्ठा होने का अवसर

इस अवसर पर जुडिशल मैजिस्ट्रेट कम सिविल जज करनाल सर्वप्रीत बाजवा मान ने सभी उपस्थित पुरातन छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि यह विद्यालय हमारे लिए हमारे जीवन के आधार के तौर पर उभरा है। हम सभी ने जो भी कुछ सीखा है वह यही से आज हम सभी किसी न किसी मुकाम पर खड़े हैं, लेकिन हम सभी अपने व्यस्त जीवन में से समय निकालकर यहां जरूर आते हैं। प्रबंधन समिति के उपप्रधान लक्ष्मी नारायण मिगलानी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि एलुमनाई मीट पूर्व या वर्तमान छात्रों और शिक्षकों को मंच पर इकट्ठा होने का अवसर देता है। यहां आकर कई सालों पुरानी यादें ताजा हो जाती है।

इस कॉलेज ने अब तक देश को ऐसे होनहार हीरे दिए हैं

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर अजय कुमार गर्ग ने सभी पुरातन छात्रों का अभिनंदन करते हुए कॉलेज की स्थापना से लेकर अब तक की उपलब्धियों का विस्तार से वर्णन करते हुए कहा कि  शिक्षा के क्षेत्र में युवाओं को बेहतर  शिक्षा देने के उद्देश्य से इस कॉलेज की स्थापना की गई थी। इस कॉलेज ने अब तक देश को ऐसे होनहार हीरे दिए हैं, जिन्होंने आगे चलकर न केवल कॉलेज का नाम शहर में रोशन किया बल्कि देश का नाम विश्व में रोशन किया। चाहे शिक्षा क्षेत्र हो, खेल हो या राजनीति हर क्षेत्र में कॉलेज छात्रों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। आज उन्हें गर्व है कि वे इस बेहतरीन शिक्षण संस्थान से जोड़कर क्षेत्र के लोगों की सेवा कर रहे हैं। कार्यक्रम के गेस्ट ऑफ ऑनर, समाज सेवक और फिल्म प्रोड्यूसर संजय सिंगला ने अपने महाविद्यालय के दिनों के अनुभवों को सांझा करते हुए कहा कि महाविद्यालय में बिताए हुए सुनहरे दिन हमें आज भी याद है।

विदेशों में रह रहे पूर्व विद्यार्थियों ने भी अपने अनुभव सांझा किए

पूर्व छात्र एवं पुरातन छात्र एसोसिएशन के प्रधान रवि गोसाईं ने अपने कालेज अनुभवों को सांझा करते हुए कहा कि आज भी हमारा मन महाविद्यालय से जुड़ा हुआ है ऐसा लगता है कि यह कल की ही बात है जब हम इस महाविद्यालय में एक विद्यार्थी के रूप में कक्षाओं में बैठकर पढ़ा  करते। इस अवसर पर पूर्व छात्र-छात्राओं द्वारा हरियाणवी, पंजाबी लोकगीत, भाषण, नृत्य पर मनमोहक प्रस्तुति देते हुए समा बांधा। इन छात्राओं ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से दोबारा कॉलेज से जुड़ने का अवसर मिला है। हमें किसी न किसी रूप में कॉलेज से जुड़े रहना चाहिए। इंटरनेशनल एलुमनाई राखी राणा नीदरलैंड से अपने विचार को सांझा किया। अमेरिका में रह रहे पूर्व छात्र सुशील चावला ने अपने बिताएं हुए पलो को सांझा किया।
एलुमनाई मीट पूर्व विद्यार्थियों को कॉलेज से जुड़े रहने की प्रेरणा देता है
मिलन समारोह 2020 की अध्यक्षा डॉ. शशि प्रभा ने उपस्थित छात्रों का धन्यवाद करते हुए कहा कि इस समारोह में भाग लेने के लिए मैं सभी का दिल से आभार व्यक्त करती हूं। मुझे उम्मीद है आप वह यादें लेकर जाएंगे जो आपको पूरे जीवन याद रहेंगे। मेरा मानना है कि एलुमनाई मीट आप सभी के लिए साथियों, शिक्षकों से मिलने और संपर्कों को पुनर्जीवित करने का एक आदर्श मंच है। आमतौर पर लोग बड़े पदों पर पहुंचते हैं तो अपनी जड़ों को भूल जाते हैं, लेकिन एलुमनाई मीट पूर्व विद्यार्थियों को कॉलेज से जुड़े रहने की प्रेरणा देता है। पूर्व छात्र एसोसिएशन प्रधान रवि गोसाईं, युधिष्ठिर  मिगलानी, परमवीर ढींगरा एवं प्रबंधक समिति के सभी सदस्य मौजूद रहे। कार्यक्रम को सफल बनाने में एलुमनाई मीट के सभी सदस्यों ने अहम् भूमिका निभाई।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular