HomeहरियाणापलवलCyber C​rime in Digital World: साइबर ठगों से सावधान रहना ही ठगी...

Cyber C​rime in Digital World: साइबर ठगों से सावधान रहना ही ठगी से बचने का एकमात्र उपाय

ठगों की प्रलोभन भरी बातों में आकर न बताएं ओटीपी ओर निजी जानकारी Cyber C​rime in Digital World

लव कुमार धींगड़ा, पलवल:
Cyber C​crime in Digital World: आज की डिजिटल दुनियां में साइबर अपराध से होने वाली ठगी  को जागरूकता अपनाकर बच पाना ही संभव है। इसके लिए पलवल पुलिस लगातार जागरूकता अभियान चला रही है। एसपी राजेश दुग्गल ने कहा कि साईबर अपराधी जब आपके पास फोन काल करता है तो आपके फायदे की बात बताकर आपको अपने झांसे में फंसाता है। इसके लिए आपको सदैव सावधान रहना चाहिए। ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करते समय भी सावधान रहें। ऑनलाइन कस्टमर केयर का नम्बर सर्च करते हुए भी सावधानी बरतें। फिर भी यदि किन्हीं कारणों से आपके साथ साईबर धोखाधड़ी हो जाए तो तुरन्त साईबर हेल्पलाईन नम्बर 1930 पर कॉल करें।

डिजिटल तकनीकों का फायदा उठाकर धोखाधड़ी कर रहे साईबर क्रिमीनल

एसपी राजेश दुग्गल ने जानकारी देते हुए बताया कि आज की डिजिटल दुनियां में कम्प्यूटर व मोबाईल के प्रयोग से कार्य करने में तीव्रता हुई है। जिस तकनीकी से घर बैठे कार्य करने में सुविधा व अन्य सुविधाएं मिली हैं,  परन्तु इसके साथ -2 कुछ साईबर क्रिमीनल इसका फायदा उठाकर साईबर क्राईम को अंजाम देकर पैसों की धोखाधड़ी करते हैं। इस प्रकार के साईबर क्रिमीनलों से खुद को बचाने के लिए जागरुकता ही आपको आपके साथ होने वाली धोखाधड़ी से बचा सकती है।
इसलिए साईबर धोखाधड़ी से बचने के लिए खुद को जागरुक रखें और क्योंकि साईबर क्रिमीनल आपके फायदे के लिए बात कहकर व अपने झांसे में फंसाकर बात करते हैं, जिससे आप उनकी बातो में आकर उनके साथ अपनी निजी जानकारी व ओटीपी शेयर करते हैं। जिससे आपके साथ धोखाधड़ी हो जाती है। इसलिए किसी भी अनजान व्यक्ति के साथ किसी भी प्रकार की निजी जानकारी ओटीपी शेयर ना करें, ना ही किसी लिंक इत्यादि पर क्लिक करें ।
एसपी राजेश दुग्गल ने कहा कि इसके अलावा अगर कोई भी व्यक्ति आपको फोन के द्वारा आपके फायदे के लिए बात करता है तो इस प्रकार के व्यक्ति से सावधान होकर बात करें और किसी भी प्रकार की निजी जानकारी या दस्तावेज इत्यादि साझां ना करें|

ऑनलाइन पैसो के लेन-देन करते समय रहें सावधान

इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक ने  बताया कि आज खासकर ऑनलाइन एप (गुगल पे, फोन पे, पेटीएम) आदि के माध्यम से पैसे का लेन-देन करते समय धोखाधड़ी होती है और सावधानी बरतकर इन एप का इस्तेमाल करें, क्योंकि आज कल साईबर क्रिमीनल आपको फोन करके कहते है कि मैने आपको आपके गुगल पे, फोन पे पर पैसा ट्रांसफर कर दिया है जब आप (गुगल पे एप) को ओपन करके देखते हैं उसमे पैसे एक्सपेट से सम्बन्धित लिंक होता है। जिस पर आप क्लिक करते हैं और आप अपना पिन डालते हैं,  जिससे पैसे आपके खाते से कट जाते हैं। इस प्रकार के किसी भी लिंक पर क्लिक ना करें ना ही किसी व्यक्ति के द्वारा कहने पर किसी भी प्रकार की रिमोटली एप (एन डैस्क, टीम व्युवर) इन्सटाल ना करें ।

ऑनलाइन कस्टमर केयर का नम्बर सर्च करते समय रहे सावधान

पुलिस अधीक्षक  ने कहा कि साईबर क्रिमीनल अलग तरीके अपनाकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करते हैं,  ऐसे ही आप जब किसी भी संस्था या कम्पनी का नम्बर सीधा गुगल पर जाकर सर्च करते हैं, सामने मोबाईल नम्बर मौजूद पर आप कॉल करते हैं जो किसी साईबर क्रिमीनल के हो सकते हैं और वह आपके साथ आपके फायदे के लिए बात कहकर और आपकी सहायता का कहकर  आपको भरोसा भी दिलवाएंगें। इसलिए सीधा गुगल पर सर्च न करके बल्कि कम्पनी या संस्था की वेबसाईट पर जाकर ही फोन नम्बर प्राप्त करके ही बातचीत करें। जब भी आप कस्टमर केयर पर बात करते हैं तो किसी भी भेजे गए लिंक इत्यादि पर क्लिक ना करें।
इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक  ने कहा कि अगर आपके साथ किसी भी प्रकार की साईबर धोखाधड़ी हो जाती है तो तुरन्त साईबर हेल्पलाईन नम्बर 1930 पर कॉल करें और इसके साथ ही साईबर पोर्टल साईट पर अपनी शिकायत दर्ज करवाएं। इसके अलावा आप नजदीक पुलिस स्टेशन में जाकर बने साईबर हेल्पडेस्क की मदद ले सकते हैं।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular