Homeहरियाणाअंबालाअम्बाला छावनी के सुभाष पार्क ओपन एयर थियेटर में किया गया नाटक...

अम्बाला छावनी के सुभाष पार्क ओपन एयर थियेटर में किया गया नाटक “दास्तान-ए-अम्बाला” का मंचन

होम मिनिस्टर अनिल विज ने तालियां बजाकर कलाकारों की प्रस्तुति को सराहा

आज समाज डिजिटल, Open Air Theater Ambala Cantt : हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि अम्बाला की भूमि पवित्र भूमि है और यहीं से देश को आजाद कराने के लिए ज्वाला भभकी, इसके बाद ही देश को आजादी मिली और आज हम आजाद देश में सांस ले रहे हैं। विज गत देर सांय अम्बाला छावनी सुभाष पार्क के ओपन एयर थियेटर में “दास्तान-ए-अम्बाला” (Dastan-e-Ambala) के मंचन के उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने नाटक के कलाकारों की तालियां बजाकर प्रशंसा करते हुए कहा कि नाटक में कलाकारों ने बेहतरीन अभिनय करते हुए इसे जीवंत किया है जिसमें 1857 में क्रांति की ज्वाला अम्बाला छावनी से कैसे फूटी इसको पूरी तरह से दर्शाया गया है। उन्होंने आह्वान किया कि नाटक को समूचे हरियाणा में प्रदर्शित किया जाना चाहिए ताकि लोग जान सकें कि 1857 की क्रांति अम्बाला से कैसे प्रारंभ हुई।

गृह मंत्री ने कहा कि नाटक के कलाकारों ने बेहतरीन अभिनय किया है और वह अम्बाला छावनी की तमाम जनता की ओर से कलाकारों का आभार व्यक्त करते हैं। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि अम्बाला-ए-दास्तान नाटक का मंचन 8 दिसम्बर तक चलेगा।  अनिल विज ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अम्बाला की दास्तान के नाटक का मंचन आज यहां किया गया है जिसमें दिखाया गया कि हिंदुस्तान में आजादी की लड़ाई का जन्म अम्बाला छावनी से हुआ और आजादी की ज्वाला अम्बाला छावनी से उठी।

Dastan-e-Ambala

वह सभी कलाकारों को जिन्होंने इस नाटक के मंचन में अभिनय किया है उन्हें बधाई देता हूं।  गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि आजादी की पहली लड़ाई को समर्पित शहीद स्मारक जीटी रोड बनाया जा रहा है जोकि 400 करोड़ की लागत से बन रहा है। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि हमने यह सब जानने के लिए हिंदुस्तान के 6 प्रमुख इतिहासकारों की समिति बनाई जिसमें अम्बाला के 2 इतिहासकारों को जिनमें प्रो. यूवी सिंह व तेजिंद्र सिंह वालिया को शामिल किया गया है जोकि एक-एक तथ्य को निकाल शहीद स्मारक में प्रदर्शित करेंगे।

1857 की क्रांति में रोटी और कमल के फूल का महत्व था और शहीद स्मारक में 70 फुट ऊंचा कमल का फूल बनाया जाएगा। शहीद स्मारक में 85 प्रतिशत सिविल वर्क पूरा हो चुका है जबकि आर्ट वर्क के जल्द टेंडर होंगे। हिंदुस्तान के बड़े म्यूजियम बनाने वाली कंपनियों द्वारा शहीद स्मारक में कार्य करने की हमें उम्मीद है।

400 करोड़ रुपए की लागत से 1857 की क्रांति के शहीदों को समर्पित बन रहा शहीद स्मारक

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि आजादी की पहली लड़ाई को समर्पित शहीद स्मारक जीटी रोड बनाया जा रहा है जोकि 400 करोड़ की लागत से बन रहा है। स्मारक में अलग-अलग माध्यमों से जंगे-ए-आजादी को  दिखाया जाएगा। पहले हिस्से में अम्बाला छावनी में क्रांति की ज्वाला, दूसरे हिस्से में हरियाणा और तीसरे हिस्से में समूचे देश में 1857 की क्रांति को भिन्न-भिन्न तरीकों से प्रदर्शित किया जाएगा। हमें यही पढ़ाया गया कि आजादी की लड़ाई कांग्रेस ने लड़ी, मगर कांग्रेस का जन्म 1885 में हुआ था मगर उससे 28 साल पहले 1857 में लोगों ने लड़ाई लड़ी, मगर उन्हें कभी याद नहीं किया गया। मगर आज नाटक के मंचन में कई नाम बताए गए।

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि हमने यह सब जानने के लिए हिंदुस्तान के 6 प्रमुख इतिहासकारों की समिति बनाई जिसमें अम्बाला के 2 इतिहासकारों को जिनमें प्रो. यूवी सिंह व तेजिंद्र सिंह वालिया को शामिल किया गया है जोकि एक-एक तथ्य को निकाल शहीद स्मारक में प्रदर्शित करेंगे। 1857 की क्रांति में रोटी और कमल के फूल का महत्व था और शहीद स्मारक में 70 फुट ऊंचा कमल का फूल बनाया जाएगा। शहीद स्मारक में 85 प्रतिशत सिविल वर्क पूरा हो चुका है जबकि आर्ट वर्क के जल्द टेंडर होंगे। हिंदुस्तान के बड़े म्यूजियम बनाने वाली कंपनियों द्वारा शहीद स्मारक में कार्य करने की हमें उम्मीद है।

इस अवसर पर अम्बाला डीसी डा. प्रियंका सोनी, एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा, सूचना जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त निदेशक डॉ0 कुलदीप सैनी, नगर परिषद के प्रशासक दिनेश कुमार, नाटक के निदेशक मनीष जोशी सहित भाजपा मंडल अध्यक्ष राजीव डिम्पल, किरणपाल चौहान, अजय पराशर सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : भर्ती पर,1 लाख से कम आय वालों को मेरिट में 50 अंकों की छूट,1.80 लाख तक को भी राहत : शिक्षा मंत्री कवरपाल

ये भी पढ़ें : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय छात्र-छात्राओं ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन

ये भी पढ़ें : सिविल सर्जन डॉ. देविंदर ढांडा द्वारा रात में नशा मुक्ति केंद्र, नवांशहर की अचानक चेकिंग करी

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular