Homeराज्यहरियाणाअंगदान का फार्म भरने में पीजीआईएमएस के नर्सिंग कालेज ने बनाया रिकोर्ड...

अंगदान का फार्म भरने में पीजीआईएमएस के नर्सिंग कालेज ने बनाया रिकोर्ड : प्राचार्य सुनिता सिंह

संजीव कुमार, रोहतक:

प्रदेश के लोगों में अब अंगदान को लेकर जागरूकता बढती जा रही है, और पीजीआईएमएस में जल्द ही ओर्गन टंसप्लांट शुरू हो जाने जा रहा है। ऐसे में लोगों में आर्गन डोनेशन के प्रति जागरूकता होनी जरूरी है। एक आदमी ओर्गन डोनेशन से आठ लोगों की जान बचा सकता है, तो ऐसे में हम सभी को प्रण लेकर फार्म भरना चाहिए कि हम मरणोपरांत अपना अंगदान करेंगे। हरियाणा में तीन दिन में एक जगह से करीब 400 फार्म भरकर नर्सिंग कालेज की छात्राओं ने एक रिकोर्ड बनाया है जो पूरे समाज के लिए प्रेरणास्त्रोत है। इसके लिए नर्सिंग कालेज की समस्त फैकल्टी व छात्राएं बधाई की पात्र हैं। यह कहना है पीजीआईएमएस के नर्सिंग कालेज की प्राचार्य प्रो. सुनीता सिंह का है । वे स्टेट ओर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट आर्गेनाइजेशन की टीम द्वारा नर्सिंग कालेज में चलाए गए तीन दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम के दौरान छात्राओं को संबोधित कर रही थीं। प्रो. सुनीता सिंह ने कहा कि सोटो की टीम द्वारा नर्सिंग कालेज में जो जागरूकता अभियान चलाया गया है, उससे छात्राओं को काफी प्रेरणा मिली है और उन्हें पूरी उम्मीद है कि कालेज में रिकोर्ड 400 छात्राएं अंगदान का फार्म भरेंगी। प्रो. सुनीता सिंह ने कहा कि उनके अधिकतर फैकल्टी सदस्यों ने भी अंगदान का फार्म भरा है। उन्होंने कहा कि हम चिकित्सा जगत से जुडे हुए हैं और हम यदि यह अंगदान का फार्म भरते हैं तो इससे समाज में अंगदान के प्रति काफी जागरूकता फैलेगी। मोहन फांउडेशन की तरफ से छात्राओं को संबोधित करते हुए डॉ. सन्ना ने बताया कि आप ऐसा नेक और सराहनीय काम के लिए आगे आएं, जिसके बाद दुनिया आपको याद करेगी। आपके इस बेहद ही महान कार्य को दुनिया सलाम करेगी, आप खुद अंगदान करे और दूसरों को भी अंगदान करने के लिए प्रेरित करें। डॉ. सन्ना ने कहा कि लोगों में भ्रम है कि अंगदान का फार्म भर दिया तो हमें जीते ही अंगदान करना पड़ेगा, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है और किडनी के अलावा बाकि अंगदान मरणोपरांत ही किए जा सकते हैं। इस अवसर पर समस्त नर्सिंग कालेज का स्टाफ उपस्थित था।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments