Homeहरियाणानूंहस्कूल के 100 गज के दायरे में तंबाकू संबंधित सामग्री रखने वाले...

स्कूल के 100 गज के दायरे में तंबाकू संबंधित सामग्री रखने वाले दुकानदारों पर होगी कार्रवाई

आज समाज डिजिटल, नूंह:

सिविल सर्जन डा. सुरेंद्र यादव ने बताया कि जिले के अंतर्गत आने वाले सरकारी एवं प्राइवेट स्कूलों के आसपास तंबाकू मुक्त माहौल बनाने के लिए अभियान चलाया जाएगा, ताकि स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को नशे की लत से दूर रखा जा सके। ज्यादातर देखा गया कि विद्यार्थी जीवन से ही नशे की लत पड़ जाती है जीवन में विद्यार्थी जीवन सबसे अहम होता है अच्छाई और बुराई का समय विद्यार्थी जीवन से ही शुरू हो जाता है। विद्यार्थी चाहे तो अपने आप को तंबाकू से दूर रख सकते हैं तंबाकू में निकोटिन की अधिक मात्रा होने के कारण बहुत सारी बीमारी व्यक्ति को घेर लेती हैं जिससे आने वाला समय घातक सिद्ध होता है नशे से दूर रहने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा है वही नशे से दूर रहने के लिए स्कूलों में भी जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत चलाया जाएगा अभियान

सीएमओ डा. सुरेंद्र यादव ने बताया कि इसके साथ-साथ स्कूलों में राष्ट्रीय तंबाकू निषेध कार्यक्रम एवं राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत अभियान चलाया जाएगा ताकि किशोरावस्था में विद्यार्थियों, किशोर एवं युवाओं को नशे के प्रति जागरूक किया जा सके। विद्यार्थी जीवन, किशोरावस्था, एवं युवा अवस्था को नशे की लत से दूर रहते हुए अच्छे खान-पान की ओर बढऩा चाहिए जिससे स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और अपने उद्देश्य की ओर बढ़ेंगे, जिले के सभी स्कूलों के 100 गज के दायरे में किसी प्रकार की तंबाकू से संबंधित दुकान नहीं होनी चाहिए अगर 100 गज के दायरे में स्कूल के आस-पास कोई दुकानदार तंबाकू से संबंधित कोई भी सामग्री मिलती है तो उसका चालान किया जाएगा।

विद्यार्थियों को नशे की लत से दूर रहने के लिए किया जाएगा जागरूक

राष्ट्रीय तंबाकू निषेध कार्यक्रम एवं राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम नोडल अधिकारी डा. आशिष सिंगला ने बताया कि डीसी अजय कुमार के आदेशानुसार एवं सीएमओ डा. सुरेंद्र यादव के मार्गदर्शन में जिलेभर के स्कूलों में नशे के प्रति जागरूकता अभियान चलाकर विद्यार्थियों को नशे की लत से दूर रहने के लिए जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि खान-पान के प्रति जीवन शैली में बदलाव लाया जाए, सरकार द्वारा किशोरों के लिए राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम चला जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत जिले भर में किशोर काउंसलिंग के लिए मित्रता क्लीनिक चलाई जाती हैं। ताकि किशोरावस्था में होने वाले परिवर्तन को सकारात्मक रूप देने के लिए काउंसलिंग की जा सके।

नशा बेचने वाले दुकानदारों की सूचना दें

राष्ट्रीय तंबाकू निषेध कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आमजन को नशे के प्रति जागरूक किया जा सके। उन्होंने बताया कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक किया जा रहा है। मौके पर उपस्थित स्कूल स्टाफ को जागरूक करते हुए बताया कि स्कूल के 100 गज के दायरे में किसी भी प्रकार का कोई नशे से संबंधित बीड़ी सिगरेट गुटका खैनी व अन्य नशे से संबंधित सामग्री की दुकान नहीं होनी चाहिए। अगर कोई दुकानदार इस दूरी में पाया जाता है तो विभाग को इसकी सूचना दें ताकि उस दुकानदार का चालान किया जा सके।

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular