Homeहरियाणामहेंद्रगढ़Politics on Khokha Case खोखा प्रकरण को लेकर राजनीति चमका रहे विपक्षी...

Politics on Khokha Case खोखा प्रकरण को लेकर राजनीति चमका रहे विपक्षी दल:- अमित मिश्रा 

खोखा मार्केट को अवैध बताकर हटवाने वाले अब कर रहे ड्रामा Politics on Khokha Case

आज समाज डिजिटल,महेंद्रगढ़:
Politics on Khokha Case: निवर्तमान नगर पार्षद एवं युवा मोर्चा भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अमित मिश्रा ने आज स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इस अवसर पर नगरपालिका के निवर्तमान कार्यवाहक प्रधान रमेश बोहरा, शहरी मंडल अध्यक्ष कुलदीप शर्मा, मंडल महामंत्री धर्मेन्द्र सैनी उपस्थित रहे।

वर्ष 2019 में सीएम विंडो में करवायी थी शिकायत दर्ज

अमित मिश्रा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि इनेलो की पूर्व पदाधिकारी एवं वर्तमान कार्यकर्ता कृष्णा जांगड़ा ने इस खोखों को अवैध बताते हुए वर्ष 2019 में एक सीएम विंडो में शिकायत दर्ज करवायी थी। जिस पर दिसम्बर 2021 तक जाँच चली और उसके बाद उस शिकायत को जन परिवेदना समिति की बैठक में रखा गया। उसी शिकायत के आधार पर प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए 31 मार्च को उन खोखों को हटाया। इसके बाद सात अप्रैल को हुई जन परिवेदना की बैठक में प्रशासन ने बताया कि कृष्णा जांगड़ा की शिकायत पर उन खोखों को हटा  दिया गया है। अब इनेलो की कार्यकर्ता कृष्णा जांगड़ा धरना स्थल पर जाकर उनको अपना समर्थन दे रही है। एक तरफ़ तो इनेलो के जिला प्रधान इन खोखा व्यापारियों के साथ होने का ढोंग करते हैं और दूसरी तरफ़ उनकी ही पार्टी की कार्यकर्ता की शिकायत पर इन व्यापारियों के पेट पर लात मारी जाति है। यह सारा प्रकरण यह दर्शाता है कि विपक्षी दल रामबिलास शर्मा और भाजपा की छवि को धूमिल करने के लिए इस प्रकार की औछी राजनीति कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि दोषी अधिकारियों को सजा मिलेगी

उन्होंने बताया कि रामबिलास शर्मा और भाजपा के समस्त कार्यकर्ता उस दिन मौक़े पर पहुँचे थे और अपना पूरा प्रयास किया था कि वो खोखे ना हटाए जायें। विधायक राव दान सिंह और पूर्व एसड़ीएम संदीप सिंह उस दिन कहीं नजर नहीं आए थे। पूर्व एसडीएम संदीप सिंह कागजी शेर है, उन्हें लोगों के दुःख तकलीफ़ से कोई लेना देना नहीं है वो केवल दिखावे की राजनीति करते हैं। दो अप्रैल को भाजपा के समस्त पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से मिलकर पूरे मामले की जानकारी दी और दस्तावेज उपलब्ध करवाए थे जिस पर मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि दोषी अधिकारियों को सजा मिलेगी और इस व्यापारियों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी। इसी संदर्भ में पूर्व शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने पुनः मुख्यमंत्री से मुलाक़ात करके शीघ्रता से इस मामले का समाधान करने का आग्रह किया है। उन्होंने बताया कि कल शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों ने नगरपालिका में पूरे रिकोर्ड की जाँच की है और एक विस्तृत रिपोर्ट बनाकर मुख्यमंत्री को दी है। जल्दी ही इस व्यापारियों को न्याय मिलेगा और दोषी लोगों को सजा मिलेगी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular