Homeहरियाणामहेंद्रगढ़कवि समाज का आईना होता है और वह अपनी कविताओं से समाज...

कवि समाज का आईना होता है और वह अपनी कविताओं से समाज को रास्ता दिखाता : सीताराम यादव

  • अटेली में हुए हंसी-ठट्ठा कार्यक्रम में कवियों ने जमकर लगवाए ठहाके

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :

हरियाणा कला परिषद्, हिसार मंडल व ओमप्रकाश यादव मेमोरियल शिक्षा समिति के संयुक्त तत्वावधान में बीती सांय ऐशली पब्लिक स्कूल अटेली में हंसी-ठट्ठा कार्यक्रम आयोजित किया गया। आजादी अमृत महोत्सव के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में अटेली के विधायक सीताराम यादव ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर पालिका अटेली मंडी के चेयरमैन जितिन अग्रवाल ने की। ऐशली पब्लिक स्कूल के चेयरमैन तेजवीर सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

कविताओं से श्रोताओं को जमकर गुदगुदाया

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सीताराम ने कहा कि कवि समाज का आईना होता है और वह अपनी कविताओं से समाज को रास्ता दिखाता है। उन्होंने कार्यक्रम की सराहना करते हुए आयोजन समिति को बधाई दी और कहा कि जब भी भविष्य में ऐसा कोई भी कार्यक्रम हो तो उन्हें जरूर बुलाएं। कार्यक्रम अध्यक्ष जितिन अग्रवाल ने इसे एक प्रेरक कार्यक्रम बताया। हरियाणा कला परिषद् हिसार मंडल के अतिरिक्त निदेशक महावीर गुड्डू ने कार्यक्रम में पहुंचे सभी मेहमानों व कवियों का अभिनंदन करते हुए अपनी कविताओं से श्रोताओं को जमकर गुदगुदाया।

भारत के टुकड़े कभी होने नहीं देंगे

कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रसिद्ध हास्य कवि आलोक भांडोरिया ने अपनी कविता ‘देश की रक्षा के हित सब कष्ट सहेंगे, मां भारती की सेवा में हम मिलकर रहेंगे, राम, रहीम, नानक को कोई बांट नहीं सकता, हम एक थे, हम एक हैं और एक रहेंगे से राष्ट्रीय एकता का संदेश दिया। हास्य कवि हलचल हरियाणवी ने सबसे पहले करें उनका शुक्रिया, जान तक दे गए हमसे कुछ न लिया से देश के तमाम शहीदों को याद किया। वहीं झज्जर के गांव बादली निवासी जाने-माने हास्य कवि सत्यदेव हरियाणवी ने अपनी कविता देश की किस्मत को अब सोने नहीं देंगे, बीज नफरत के यहां बोने नहीं देंगे, हम हिंदू हैं, सिख हैं मुसलमान बेशक, लेकिन भारत के टुकड़े कभी होने नहीं देंगे से कार्यक्रम में रंग जमाया।

 

Mahendragarh News/The poet is the mirror of the society and he shows the way to the society through his poems: Sitaram Yadav
Mahendragarh News/The poet is the mirror of the society and he shows the way to the society through his poems: Sitaram Yadav

मैं तो नाम कमाऊंगी, बणकै मैं सरपंच गांव के काम कराऊंगी

हास्य कवि महेंद्र शर्मा ने हिंसा व अलगाववाद का राग नहीं रटने देंगे, कसम तिरंगे की है हमको देश नहीं बटने देंगे से खूब वाहवाही लूटी। वहीं कवयित्री नमिता नमन ने भी अपने गीतों से सभी का मनोरंजन किया। स्थानीय कवि भूप सिंह भारती ने मैं तो नाम कमाऊंगी, बणकै मैं सरपंच गांव के काम कराऊंगी से नारी सशक्तिकरण पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के अंत में ऐशली पब्लिक स्कूल के संस्थापक अशोक यादव और उनकी पत्नी कविता यादव ने सभी का आभार जताया।

ये रहे मौजूद

कार्यक्रम में पूर्व चेयरमैन सुगनचंद सैनी, पूर्व एसडीएम धर्मपाल, बाल भवन के पूर्व निदेशक प्रेम कुमार यादव, गवर्नमेंट महिला कॉलेज अटेली के प्राचार्य प्रवीन यादव, जगदीश चंद्र शर्मा, राव हरपाल, हरदूल मास्टर, सुंदरलाल सुबोध, विजय पाल रोहिल्ला, सुरेंद्र ज्योति, पूर्व नगर पार्षद अनिल गुप्त, सुरेंद्र जांगिड़ सहित क्षेत्र के अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular