Homeहरियाणामहेंद्रगढ़श्रावणी पर्व पर विप्र बंधुओं ने विधि विधान से बदले यज्ञोपवीत

श्रावणी पर्व पर विप्र बंधुओं ने विधि विधान से बदले यज्ञोपवीत

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :

 

श्रावण मास की पूर्णिमा के अवसर पर शुक्रवार को ब्राह्मण सभा महेंद्रगढ़ एवं विप्र फाउंडेशन जिला महेंद्रगढ़ द्वारा संयुक्त रूप से श्रावणी उपाकर्म कार्यक्रम आयोजित किया गया। ब्राह्मण सभा के प्रधान दिनेश वैध ने बताया कि श्रावण मास की पूर्णिमा को श्रावणी पर्व मनाया जाता है, इस दिन यज्ञोपवीत धारण करने वाले ब्राह्मण अपना यज्ञोपवीत पूरे विधि विधान से बदलते हैं। विप्र फाउंडेशन के जिला अध्यक्ष अमित मिश्रा ने कहा कि यह दिन ब्राह्मण के लिए सबसे बड़ा पर्व होता है। आज इस पर्व पर स्थानीय ओम् साईंराम स्कूल में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया।

 

 

Mahendragarh News/On the occasion of Shravani the Vipra brothers changed the Yagyopaveet by law.
Mahendragarh News/On the occasion of Shravani the Vipra brothers changed the Yagyopaveet by law.

 

ऋषि पूजन जयप्रकाश मिश्रा एवं शांति मिश्रा ने मुख्य यजमान के रूप में करवाया

सबसे पहले सभी विप्र बंधुओं ने तालाब में स्नान करते हुए सूर्य देव, गायत्री माता, पितरों का ध्यान किया और पूजन किया। उसके बाद पूरे विधि विधान से ऋषि पूजन किया गया। ऋषि पूजन जयप्रकाश मिश्रा एवं शांति मिश्रा ने मुख्य यजमान के रूप में करवाया। पूरा कार्यक्रम राजगढ़ राजस्थान से आए पंडित मोहनलाल शास्त्री ने आचार्य के रूप में अपनी देखरेख में संपन्न करवाया। इस अवसर पर दयाशंकर तिवारी, रामवतार शास्त्री, सुधीर दीवान, मोहनलाल जोशी, अशोक बुचोली, महावीर भंडोरिया, सुशील शर्मा, रामप्रकाश शर्मा, विश्वनाथ मिश्रा, नरेश जोशी, राधेश्याम दिल्लीवान, विजय शास्त्री सतनाली, भास्कर दत्त शर्मा, सतनाली, सज्जन कुमार शर्मा डिगरोता, अमित भारद्वाज पाली, तरुण शर्मा, कमल तिवाड़ी, रमेश शर्मा, मनोज गौतम सहित अनेक विप्र बंधु उपस्थित थे।

 

 

ये भी पढ़ें : जन कल्याण मंच व सनातन धर्म संगठन द्वारा 14 अगस्त को शहर में निकाली जाएगी तिरंगा यात्रा

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular