Homeराज्यहरियाणामहेंद्रगढ़ : शोधार्थियों के लिए सोमवार से खुलेगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय

महेंद्रगढ़ : शोधार्थियों के लिए सोमवार से खुलेगा हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :
कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद से विद्यार्थियों के लिए प्रत्यक्ष गतिविधियों हेतु बंद हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि) महेंद्रगढ़ सोमवार 9 अगस्त, 2021 से फिर शोध कार्य हेतु खोलने जा रहा है।  विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार की अध्यक्षता में कोविड-19 टॉस्क फोर्स की महत्वपूर्ण बैठक में सर्वसम्मिति से निर्णय लिया गया है कि शोधार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उनके लिए विश्वविद्यालय खोल दिया जाए। हालांकि अभी यह अनुमति दैनिक साप्ताहिक आधार पर होगी और विभागाध्यक्ष व शोध निर्देशक की अनुमति के बाद ही शोधार्थी विश्वविद्यालय आ सकेंगे। विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार की उपस्थिति में हुई इस महत्वपूर्ण बैठक में केंद्र व राज्य सरकार की ओर निर्धारित गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए विभिन्न पक्षों पर विस्तार से विमर्श हुआ। बैठक में विज्ञान विषयों के शोधार्थियों के लिए प्रयोगशालाओं को खोलने का निर्णय किया गया है।

इस व्यवस्था में विश्वविद्यालय द्वारा संबंधित विभाग को निर्धारित समयसीमा के अनुरूप प्रयोगशाला संबंधी कार्य की अनुमति होगी। इसी तरह विश्वविद्यालय ने विभिन्न राज्यों से आने वाले शोधार्थियों के लिए संबंधित राज्य व हरियाणा सरकार की ओर से निर्धारित कोविड गाइडलाइंस का पालन करने की अनिवार्यता निर्धारित की है। इसके अंतर्गत आंगुतकों का टीकाकरण हुआ होना आवश्यक है। कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने कहा कि सभी विषयों के अंतर्गत अध्ययनरत शोधार्थियों को उनके शोध कार्य हेतु एक निर्धारित अवधि के लिए विश्वविद्यालय में आने की अनुमति प्रदान की जाएगी। इस अवधि का निर्धारण संबंधित विभागाध्यक्ष व शोध निर्देशक के द्वारा किया जाएगा और इस दौरान विद्यार्थियों के अल्पअवधि के लिए अस्थायी रूप से कैंपस में ठहरने का भी इंतजाम रहेगा। साथ ही साथ ऐसे विद्यार्थी जोकि परीक्षा विभाग या अन्य विभाग से संबंधित किसी अति आवश्यक कार्य हेतु विश्वविद्यालय आने के इच्छुक है उन्हें भी विभागाध्यक्ष व शिक्षक प्रभारी की अनुमति के बाद आने कोरोना गाइडलाइंस की अनुपालन करते हुए विश्वविद्यालय परिसर में आने की अनुमति होगी। कोविड-19 टास्क फोर्स की इस बैठक में सम्मानित सदस्य शैक्षणिक अधिष्ठाता प्रो. संजीव कुमार, प्रोक्टर प्रो. रविंद्र पाल अहलावत, विधि पीठ के अधिष्ठाता प्रो. राजेश मलिक, कुलसचिव डा. जेपी भूकर, डा. मनोज कुमार, डा. अजय पाल शर्मा तथा सुंदर लाल शर्मा भी उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments